33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hi mam मेरी पसलियों में थोड़ा दर्द है सास लेने में तकलिब होती है .

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेग्नेंसी के समय पसलियों में दर्द होना काफी आम बात है 3 महीने के बाद बच्चे का विकास बहुत तेजी से होने दबाव बढ़ने लगता है और पसलियों में दर्द का होता है । जैसे ही आपका गर्भाशय आपके बच्चे के लिए फैलता है वैसे ही आपकी पसलियों पर असर पड़ता है क्योंकि बच्चे के बड़े होने पर आपकी पूरी पसली पर काफी दबाव पड़ता है इस समय बच्चा अगर आपके पेट में घूमता है तो या लात मारता हो तो पसली में दर्द हो सकता हैl आपको इसलिये आरामदायक और ढि़ले कपडे़ पहनना चाहिये। ताकि आपको दबाव और दरद कम होl सोने के समय आप सही अवस्था में सोए आप को उल्टी तरफ सोने के लिए कहा जाता है इसे आप का दबाव कम होता है आप तकिए लेकर सो सकती हैंl आपको थोडा़ सर उपर करके करवट लेकर सोना चाहीये। गर्भावस्था में साँस की तकलीफ काफी सामान्य समस्या है। बच्चे के विकास के साथ यह बढ सक़ती है। तो आप कुछ उपाय कर सकती हैं।--- सुपाच्य भोजन ग्रहण करें। अधिक फैटी व तीखा भोजन ना करें।भोजन करके तुरंत न लेटें। करवट पर सोंए। सर्दी खांसी होने पर गर्म पानी की भाप आराम दे सकती है। धूल या प्रदूषित स्थान पर जाने से बचें। ।अगर सांस लेने में अत्याधिक तकलीफ हो रात में अकसर नींद में सांस लेने के लिए उठ कर बैठना पड़ता हो थोडऐा़ बहुत ही काम करने पर ही सांस भर जाता हो लेटने पर भी परेशानी हो तो डाक्टर से कंसल्ट करें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी कमर में बहुत दर्द रहता है सांस लेने सांस लेने में बहुत परेशानी होती है
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में कमर दर्द होना यूट्रेस के बढ़ जाने की वजह से होता हैं कमर दर्द होने पर आपको कुछ इस तरह से घरेलू तरीके से ठीक किया जा सकता है आप सरसो के तेल में अजवाइन , लहसुन डालकर पका दे जब लहसुन अच्छी तरह से पक जाए तब आप उस तेल से अपने कमर की मॉलिश करे आपको फायदा होगा , कमर दर्द में आप गरम पानी से सिकाई भी कर सकती है , कोई भी चीज को उठाने के लिए कमर के बल से ना झुके बल्कि अपना घुटना मोड़ कर ही झुके , ज्यादा देर तक कुर्सी पर ना बैठे थोड़ी देर लेट भी जाये , कोई काम ज्यादा देर तक एक ही पोजीशन में होकर ना करे, प्रेग्नेंसीय में वजन बढ़ जाने की वजह है सास फूलने लगती है ऐसा होना नार्मल बात है आप ऐसे में ज्यादा जीने से उतरे या चढ़े नही , एक ही पोजीसन में ज्यादा देर तक न रहे अपना पोजीसन बदल लें , ब्रीदिंग एक्षेर्सिसे करे मन मे 3गिनती करते हुए सास अंदर ले फिर बाहर छोड़े , ज्यादा भारी भरकम काम से बचे , भारी वजन न उठाएं , प्रेग्नेंसीय में सास फूलने वाली समस्या आपकी डिलीवरी के बाद कम हो जाएगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सास लेने मे परेशानी होती है बेचैनी होती है
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में सांस लेने में प्रॉब्लम होना नॉर्मल है क्योंकि आपको और आपके बेबी को भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन चाहिए होता है जिस वजह से पूर्ति ना होने के कारण सांस फूलने की प्रॉब्लम आ जाती है इसके आप कुछ उपाय कर सकते हैं संतुलित आहार करें ज्यादा तला-भुना खाना ना खाएं खाना खाने के बाद तुरंत आराम ना करें और बिस्तर par na लेते हैं peeth के बल या पेट के बल ना सोए करवट लेकर ही सो ज्यादा धूल और धुएं वाले जगहों में जाने से बचें नियमित व्यायाम करें और अपना फुलाने जैसा व्यायाम करें पुगा फुलाने से आपको सांस लेने में प्रॉब्लम नहीं होगी और आपको अच्छा लगेगा साथ छोड़ने और सांस लेने वाला व्यायाम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सास लेने मे परेशानी होती है बेचैनी होती है
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये ७५% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। सांस फुल्ने के कारण प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें