39 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hi kya me abhi dahi kha skti hu

1 Answers
सवाल
Answer: nhi pregnancy me dahi khane ke liye bilkul mna kiya tha mujhe to
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Me rat me dahi kha skti hu kya
उत्तर: हेलों आप चाहें तो दही रात में खा सकती है लेकिन दही की तासिर ठण्डी होती है और ऐसा करने से आपको सर्दी हो सकती है आयुर्वेद में भी रात में दही खाना वर्जित माना गया है आप अगर रात में दही खाती है तों घर का जाम हुआ फ्रेश दही खायें खट्टा दही ना खाएं दही प्रोटीन कैल्शियम और विटामिन सी होता है और दही में लाभदायक बैक्टेरिया पाये जाते है जो पाचन system इम्प्रुव करते है देही खाना आपके लिए सेफ़ है देही jyada खट्टा ना खायें फ्रेश दही खायें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Kya me dahi kha skti hu?
उत्तर: दही में अच्छे बैक्टीरिया प्रोबायोटिक्स होते हैं जो हार्मफुल बैक्टीरिया से लड़ने में हेल्प करते हैं ..दही खाने से आपके इम्यूनिटी सिस्टम भी बढ़ता है ..दही खाने से आपका डाइजेशन ठीक रहता है ...यह बॉडी को न्यूट्रिएंट्स प्रोवाइड करते हैं दही खाने से शरीर में ठंडक बनी रहती है आप मसालेदार खाने के साथ दही खा सकते हैं इससे आपको एसिडिटी की प्रॉब्लम नहीं होगी ..कैल्शियम बहुत अधिक होता है बच्चे की हड्डियां मांसपेशियां दांतो के डेवलपमेंट के लिए बहुत जरूरी है..गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम की कमी को भी रोkता है यह ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल में रखता है ..यह आपके लिए भी बहुत अच्छा होता है क्योंकि कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करते हैं जिससे आपका वेट भी कंट्रोल में रहता है ..गर्भावस्था के दौरान दही खाने से स्किन हेल्थी रहती है और पिगमेंटेशन की प्रॉब्लम नहीं होती है क्योंकि इसमें विटामिन E बहुत ज्यादा होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya me till ki bni hui chize abhi kha skti hu? till gur kha skti hu ?
उत्तर: hello dear आप तिल से बनी चीज़े और गुड़ खा सकती है ।गर्भावस्था के दौरान तिल बहुत फायेदेमंद होते हैं। ये कब्ज मे आराम पहुचाते हैं और calcium खुब होता है इनमे। तिल के बीज पोषक तत्वों से भरे हुए होते हैं जो स्वास्थ्य और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देते हैं। यह दांतों को मजबूत करता है और दांत की समस्या को रोकता है। लगातार पेशाब को नियंत्रित करता है। तिल के बीज मानसिक कमजोरी को कम करते हैं। लेकिन सीमित मात्रा मे लेना ही ठीक रहता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें