7 weeks pregnant mother

Question: hi kya mai nibu pani daily le skti hu kyoki mujhe gale me jalan ki prblm ho rhi h

1 Answers
सवाल
Answer: हाइ मेन अभी 6 वीक प्रेग्नेन्ट हु मुझे अभी क्या मेडिकल ट्रीट्मेण्ट लेना एच pls गाइड me
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mai nibu pani le skti hu din mai 2 baar kisi me bola hai ki km nibu pina chahiye
उत्तर: हेलो डियर नींबू पानी का सेवन प्रेग्नेन्सी में आपके लिए सुरक्षित है मगर सिमित मात्रा में सेवन करें क्युकी जादा मात्रा में पीना सही नही होता नींबू पानी पीने से आपको भूत फ़ायदे हो सकते है जैसे की उल्टी होने या जी मक्लने में यह भूत आराम देता है आप नींबू पानी का सेवन करें मगर सिमित मात्रा में ही करें मगर पैकेट या बासी नींबू का उपयोग ना करें ताजे नींबू के रस का उपयोग करें नींबू में विटामिन C पाया जता है जो की प्रेग्नेन्सी में बहुत अच्छा माना जता है रेग्युलर नींबू के सेवन करने से यह सरीर के विसाक्त चीज़ों को दूर करते है इसलिए प्रेग्नेन्सी में होने वाले सन्करमद से बचाता है दिन में एक या 2 ग्लास ही नींबू पानी पीए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe gale me jalan ho rhi h me kya kru
उत्तर: यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam pregncy starting h mujhe gas ki prblm ho rhi h aur gale jalan ho rhu h kya ye sb pregncy me hoti h
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान गैस की प्रॉब्लम, गले में जलन आम समस्या है गले में जलन को ठीक करने के लिए पहला एक कप पानी उबालें शहद और नींबू इसमें मिलाएं इस को ठंडा होने दें और फिर le दूसरा vapour ले सकती हैं इससे आपके गले को काफी आराम मिलेगा तीसरा गरारे करें गर्म पानी में नमक मिलाकर गरारे करें चौथा ग्रीन टी लें इसमें शहद मिलाकर पानी के साथ बॉयल करें इसे पीने से भी काफी आराम मिलेगा गैस की प्रॉब्लम है इसके लिए मैं आपको कुछ घरेलू उपचार बताना चाहूंग पहला मेथीदाना जो कि आप रात में भिगोकर रख दें और सुबह इसका पानी पी ले यह बहुत आराम पहुंचाएगा दूसरा पानी खूब पिएं गर्भावस्था के समय डिहाइड्रेशन की प्रॉब्लम बहुत ज्यादा होती है पानी कम पीने से पेट में ब्लोटिंग हो जाती है इस वजह से बॉडी में पानी की कमी ना होने दें तीसरा आप फाइबर वाला खाना जरूर खाएं चोकर युक्त आटा यूज़ करें , फल खूब खाएं आपका पेट का डाइजेशन भी ठीक रहेगा पेट में सूजन भी नहीं आएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें