गर्भावस्था की तैयारी

Question: hi. beby ke groth kam hai kuch injection advise kiye hai dr ne. kya isse kuch farak pdega?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो जी हाँ .. आप डॉक्टर की सलाह ज़रूर मानें . साथ ही आपने खाने में अच्छा अहार लें . जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है .
  • avatar
    sachin dhok1055 days ago

    thank you mam

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: beby groth ke liye kuch injection advise kiye hai aabhi uski heartbit nai aa rahi hai. . kya mera miscarage hoga. . aab muze kya savdhani leni chahiye taki usaki groth normal ho or miscarage na ho
उत्तर: बच्चे की ग्रोथ के लिए मां को बहुत ज्यादा न्यूट्रीशन की जरूरत होती है क्योंकि यदि मां अपने आहार में पौष्टिक आहार शामिल करते हैं तो बच्चे को bhi nutrition मिलता है जिससे कि बच्चे का विकास होता है। इसलिए आप अपने आहार में फोलिक एसिड आयरन और कैल्शियम की भरपूर मात्रा ग्रहण करें| क्योंकि इसकी गर्भावस्था के दौरान बहुत ज्यादा जरूरत पड़ती है| गर्भावस्था के समय मां और बच्चे का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है मां की पहली देखभाल तो खुद पर निर्भर करता है लेकिन बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हमें कुछ जांच करानी पड़ती है गर्भावस्था के दौरान शरीर में काफी परिवर्तन होते हैं जिनकी निगरानी करना बच्चे और मां के स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा आवश्यकता है इसलिए हमें समय समय पर चेकअप करवाना चाहिए बच्चे के जन्म से पहले जो परीक्षा में होता है उसे एंटी नेटल केयर कहा जाता है iska udesya यही होता है कि बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानना प्रेगनेंसी में सबसे पहले स्क्रीनिंग टेस्ट 15 से 20 हफ्ते के दौरान करवाने चाहिए जिससे कि बच्चे की रीढ़ की हड्डी के बारे में हमें पता चलता है इस समय आप बच्चे में होने वाले डांस एंड उनके बारे में भी पता कर सकते हैं जो क्रोमोसोम में जींस होते हैं उनके द्वारा माता पिता के गुण बच्चों में ट्रांसफर होते हैं इन क्रोमोसोम में गड़बड़ी की वजह से उनको डाउन सिंड्रोम होने का चांस रहता है इसलिए 15 से 20 सप्ताह के दौरान एक बार जांच करानी जरूरी होती है गर्भवती महिला की सबसे पहली जांच उसके पहले तिमाही में होता है जिसमें डॉ आपके मासिक धर्म चक्र पिछला गर्भाधारण , सेवन करने वाली दवाइयों और आपके जीवन शैली के बारे में पूछते हैं इस समय आपका वजन BP हृदय की गति यह सब मापा जाता है जो की बहुत जरूरी होता है दूसरी तिमाही में भी आपके यूरिन टेस्ट अल्ट्रासाउंड और आपका ब्लड टेस्ट किया जाता है जिससे कि आपका हीमोग्लोबिन का स्तर और आपके बच्चे की स्थिति के बारे में जाना जाता है तीसरी तिमाही में जब महिला गर्भवती के अंतिम चरणों में पहुंच जाती है तो आपकी सेहत आप प्रेग्नेंसी के अनुसार डॉक्टर आपको हर दो और 4 हफ्ते में हास्पिटल आने के लिए कहते हैं आज जब 36 सप्ताह की शुरुआत से जब तक डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक आपको हमेशा जांच करवाते रहना चाहिए कि इस दौरान आपका और आपके बच्चे पर पूरा ध्यान रखा जाता है इस दौरान भी अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें प्लेसेंटा की स्थिति बच्चे का विकास और एमनियोटिक द्रव के स्तर की जांच की जाती है इस लास्ट महीने में आपको और बच्चे के लिए खांसी से बचाव के लिए एक vaccine लगाई जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 8 th week chal raha hai. beby groth kam hai heartbit nahi aai hai. 3 injection advise kiye hai dr ne. . isse groth normal hogi kya?
उत्तर: हेलो आप बिल्कुल भी घबराए नहीं .आराम से रहें. पौष्टिक आहार लेती रहे .ऐसा कभी कभी हो जाता है और आप ऐसी कंडीशन में डॉक्टर की सलाह जरूर लें जो भी वह सलाह देते हैं उसे maane. अपना पूरा ध्यान रखें .सब अच्छा ही होगा. तीसरे हफ्ते की प्रेगनेंसी में बच्चे का दिल बनना चालू हो जाता है. लेकिन आप उसकी धड़कन सुन नहीं सकते. छठवें हफ्ते में उसकी हार्ट रेट 100 से लेकर 170 तक बीट पर मिनट होती है जो कि आप अल्ट्रासाउंड के जरिए सुन सकते हैं. मैं आपकी समस्या समझ सकती हूं. ऐसी चिंताएं प्रेग्नेंसी में बहुत होती हैं. लेकिन आप इस समय चिंताओं में रहेंगे तो वह आपके लिए अच्छा नहीं है .आप आराम से रहें .पौष्टिक आहार ले नींद पूरी aren.पानी खूब पिएं .डॉक्टर की पूरी सलाh maane. दी हुई दवाइयां समय par ले. अच्छा सोचो अच्छा ही होगा...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: beby groth rate kam hai ise badhane ke liye muze kya khana chahiye?
उत्तर: हेल्थी डायट sprcially डेली walking पॉजिटिव थिंगकिंग प्रोटीन वाला खाना पनीर देही dodh छाछ ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें