10 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Helo mem mere kamar me bahot dard hota hai to iske liye kya karu

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर गर्भावस्था में हार्मोन के परिवर्तन के कारण लगभग 60% महिलाओं के साथ कमर दर्द की समस्या हो जाती है इस समस्या से राहत पाने के लिए आपको अपने खाने-पीने का पूरा ध्यान दें ताकि आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी ना हो साथ ही साथ दवाओं का सेवन समय से करें और ज्यादा देर बैठने की आवश्यकता नहीं है अगर बैठती थी है तो पीछे कुशन का टेक लगा कर बिल्कुल कंफर्टेबल होकर बैठे ताकि आपको तकलीफ ना हो और अगर ज्यादा दर्द की समस्या है तो आप कमर में सरसों के तेल का मसाज करें उससे आपको काफी आराम मिलेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere kamar me bahot dard hota hai kya karu
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नंसी में कमर दर्द होना नॉर्मल है इसलिए आप परेशान मत हो। जैसे-जैसे गर्भावस्था में आपका गर्भ बढ़ता है और बच्चे का आकार बढ़ता है वैसे-वैसे नसों में खिंचाव पैदा होने लगता है। जिसकी वजह से कमर में दर्द होने लगता है ।यह हारमोनल परिवर्तन के कारण भी होता है। कमर दर्द को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं ज्यादा देर तक एक ही स्थिति में ना बैठे । संतुलित और पौष्टिक भोजन लीजिए । ज्यादातर देर तक एक ही अवस्था में ना लेटे थोड़ी थोड़ी देर पर करवट बदलते रहे। कमर दर्द दूर करने के लिए आप कुछ एक्सरसाइज और योगा भी कर सकती हैं। कमर दर्द को दूर करने के लिए आप अपने कमर की मालिश सरसों के तेल से कीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere kamar me bahot dard hota hai
उत्तर: 🙏 आपका वजन सामान्य से अधिक होना गर्भावस्था में कमर पर पड़ने वाले भार की वजह से कमर दर्द होता है तो आपको पीठ दर्द होने की संभावना अधिक रहती है।मांसपेशियों में थकान और हड्डियों फर एवं बच्चे का वजन पड़ने से होने वाले हल्के खिंचाव और दबाव के कारण होता है। यह बच्चे के जनम के साथ ही खतम हो जाता है। कम उचाई या फ्लैट और आरामदायक चप्पलें पहनें पैरो मे गुनगुने तेल हल्की मालीश लें कम चलें जादा देर तक खडे़ न रहें आराम करें Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri kamar me bahut dard h iske liye kya karu
उत्तर: अभी आपका तीसरा महीना चल रहा है. प्रेगनेंसी में हो रहे बॉडी changes और hormonal changes की वजह से हमें वीकनेस महसूस होती है और कभी इसके कारन कमर में भी दर्द होता है. आप पौष्टिक आहार लेते रहे. पानी और प्रवाही ज्यादा ले. एक साथ बहोत सारा खाना न खाये पर थोड़ा थोड़ा करके हर दो घंटे में कुछ खाये. लम्बे समय तक खड़े होक काम ना करे बिच बिच में थोड़ा आराम ले. और सोते वक़्त अपनी जांघ के निचे तकिया रखकर सोये तो कमर दर्द में रहत होगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें