38 weeks pregnant mother

helo mam mere vagina me bht pain rehta hai

सवाल
डिअर आपकी वजाइना में दर्द ज्यादा है तो आप डॉक्टर से संपर्क करिए लेकिन प्रेगनेंसी के समय में थोड़ा बहुत दर्द तो हो सकता है फिर भी आप एक बार डॉक्टर से संपर्क कर लीजिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere pet me bht drd rehta h kya kru mam
उत्तर: 🙏 गर्भ में मांसपेशियों और जोड़ों नसो और हड्डियों पर ग गर्भ में पल रहे बच्चे द्वारा पढ़ने वाले दबाव के कारण दर्द उत्पन्न होता है इसका असर आसपास के क्षेत्रों पर भी पड़ता है जब भी आप हिलती-डुलती या चलती है तो आपके शरीर में कभी किसी कभी किसी तो कभी दोनों और दर्द महसूस होता है तो ऐसी स्थिति में आप थोड़ी देर बैठ जाएं आराम करें और जिस और दर्द हो रहा है उस के दूसरीऔर करवट लेकर लेट जाएं दर्द से राहत के लिए हल्के गुनगुने पानी से नहाएं शरीर के किस अंग में दर्द हो रहा हो वहां पानी की गर्म पैकेट या फिर गेहूं की छोटी पोटली बनाकर गर्म करके सिकाई करें या फिर आप गर्म पानी की बोतल का भी इस्तेमाल करें कई बार इस अवस्था में सेक्स करने पर भी दर्द व मरोड़ महसूस हो सकता है दर्द अगर असहनीय ज्यादा असहजता महसूस हो रही हो या कोई स्त्आव अधिक हो रही हो तो तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें बिना डाक्टरी सलाह के कोई भी मेडिसीन न लें। Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mere vagina me pain hota hai sote time aisa q hota hai
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी बहुत सारी खुशियों के साथ छोटी छोटी तकलीफें भी लाती हैं। इसमें बहुत सारी तकलीफे लगभग सभी महिलाओं को होती हैं। वैजाइनल पेन इन्हीं तकलीफ हो में से एक तकलीफ है बच्चा जैसे-जैसे पेट में बढ़ने लगता है उसके शरीर का भार निचले अंगों पर ज्यादा पड़ता है। भार ज्यादा पड़ने के कारण निचले अंग थकते बहुत जल्दी है जिसके कारण वहां दर्द होता है। वैजाइना में कभी कभी दर्द के साथ सूजन भी हो जाता है। अगर दर्द होता है तो शरीर को आराम की आवश्यकता रहती है। दर्द से राहत पाने के लिए आप ज्यादा देर खड़ी ना रहे। ज्यादा से ज्यादा आराम करें। घबराने वाली बात नहीं है डिलीवरी के बाद यह दर्द अपने आप ठीक हो जाता है। टेंशन ना ले खुश रहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere 3rd mnt mam mujeh uni me light si pain rehta Hai kyu plz boliye
उत्तर: .hello dear ..जी हाँ इस टाइप के दर्द ya khichav होना प्रेग्नेन्सी मे नॉर्मल होता है .. आप घबराये नही ...गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है..इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस हो सकती है।...jiske karan aap ko pet k aas pass k jagah mei dard ya sujan ki samasya ho sakti hai. इसको थोड़ा कम करने के लिए आप आप जब भि करवट ले तों अपने दोनों पैरों के बीच मे पिल्लो लगायें .. ऑर कमर के पीछे भि एक पिल्लो लाग ले .. झटकें से उठना बैठना नही . आइस को कॉटन के कपड़े मे लेकर हलके हाथों से अपनी योनि के ऊपर रखें .. आप को bahut आराम लगेगा . ओके टेक केयर .. डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें