2 साल का बच्चा

Question: helo mam mera beta 2 years ka h wo na tu ache se khata h na dudh pita h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डिअर देखिये परेशांन न हो। बेबी इस ऐज में थोदा थोदा करके ही खाते है ज्यादा नही खाते है। आप बेबी का मिल्क धीरे धीरे कम करिये। जब मिल्क से पेट् भरा रहेगा तो सॉलिड खाएग ही नही। ध्यान दीजिए की बेबी को ज्यादा अच्छा क्या लगता है। लेकिन एक ही रेसिपी कई बार रिपीट न करिये। उससे बेबी बोर हो जाते है। माँ को बेबी को खाना खिलने के बहुत ज्यादा टैंट्रम करने पडते है। मै तो बेबी को गोद में लेकर डांस करके खिलाती हूँ और वो 2 इयर का है। आप टॉयज या म्यूजिक की हेल्प लीजिये। बेबी का माइंड डाइवर्ट करके खिलाइये। और कोशिश कीजिये मिल्क कम से कम दे। वेल डिअर थोड़ा एफर्ट तो करना पडेगा। टेक केयर ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mera beta 10 month ka ho gaya h or wo kuchh b नही khata h . or dudh b theek se nahi pita h kya karu ..
उत्तर: बच्चों की भूख बढ़ाने के कुछ आसान से उपाय हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं भोजन के बाद 2 काली मिर्च को पीसकर घी के साथ मिलाकर आधा चम्मच बच्चे को चटाए इससे बच्चे की भूख बढ़ेगी । बच्चे को खाना खाने के बाद उससे 2 घंटे बाद ही कुछ खाने के लिए दे। बच्चे को उसकी पसंद का खाना बना कर दें और खाने के लिए प्रोत्साहित करें । बच्चे को छाछ में थोड़ा सा काला नमक और थोड़ी सी काली मिर्च डालकर पीने को दें इससे भी बच्चे की भूख खुलेगी । बच्चों को परिवार के साथ बैठकर खाना खिलाएं जब सब लोगों को खाता हुआ देखेगा तो बच्चा भी खाने लगेगा। बाहर का junk food na दे। पेय पदार्थों में घर के बने जूस या पेय पदार्थ पीने को दें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैम मेरा बेटा 2 का ः पर वो कुछ भी अच्छे से खाता पीता नहीं ः क्या करूँ
उत्तर: हेलो इस उम्र के बच्चे खाने पीने में बहुत नखरे करते हैं बच्चे को खाना खिलाने के लिए उनकी मनपसन्द शेप, या खाने के उपर किसी प्रकार का डिजाइन या डिफरेंट डिजाइन के बाउल में खाना परोस सकती हैँ। इससे यकीनन बच्चे खाने की तरफ आकर्षित होंगे। बच्चे के लिए खाना बनाते समय एक बार में दो से ज्यादा टेस्ट मिक्स न करेँ। आप अपने बच्चे की ईटिंग हैबिट्स को ध्यान में रखकर एक बार में मीठा और चरपरा या मीठा और नमकीन टेस्ट सर्व कर सकती हैँ। बच्चे को दिन में तीन बार खाने की आदत जरूर डालें। उसके खाने में हैल्दी स्नैक्स जरूर दें। जब बच्चा दिन में तीन बार खाना शुरू करेंगा तो यहीं उसकी आदत बन जाएगी और उसे भूख भी अधिक लगेगी।  बच्चे हर बार एक ही तरह का खाना खाकर ऊब जाते हैं इसलिए हमेशा उनके खाने में बदलाव करते रहे लेकिन ध्यान रखें कि खाना स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा भी होनी चाहिए। बच्चों को कभी भी एक-साथ ज्यादा खाना न दें। उन्हें पहले खाने की थोड़ी मात्रा दें। ऐसा करने से उनकी भूख भी बढ़ेगी और वह खाने से बोर भी नहीं होगे बच्चे को जब भूख लगे, तभी उसे खाना खिलाएं। इसके अलावा अगर भूध लगने पर खाना नहीं खाता तो उसे फल, हैल्दी सूप, जूस खाने को दे बच्चों को पहले ही उतना खाने को दो, जितना वह खा सकें। जबरदस्ती खूब सारा ना खिलाएं  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam मेरा beta 2 इयर्स का h वो 9 kg का h कुछ khata नहीं h, थोड़ा बहुत मिल्क पिता h बोतल से.
उत्तर: बच्चों को खाना खिलाना हमारे के लिए बहुत ही बड़ा काम होता है इसके लिए आप अपने बच्चों को खेल-खेल में खाना खिलाया करें आप उनको कहानियां भी सुना सकती हैं और उनसे बहुत सारी बातें भी कर सकती हैं जिससे बच्चे का मन खाने की तरफ से हटके आपके साथ बातों में लग जाता है और वह ऐसे धीरे-धीरे आपसे खाना खा सकता है हो सकता है कि शुरुआत में वह ज्यादा खाना ना खाया थोड़ा बहुत ही खाना खाना, इसलिए आप धैर्य बनाए रखें और रोज ऐसे ही खाना खिलाया करे, इससे बच्चा धीरे-धीरे अपने खाने की मात्रा बढ़ाएगा और वह अपने आप नॉर्मल तरीके से खाना खाने लगेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें