30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hello .. meri sans bht fulne lgi hai.. koi pareshani ki baat h kya

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे एसिडिटी हो जाती है तो सांस फूलने लगता है ...क्या करूँ ठीक करने ओके लिए
उत्तर: हेलो डिअर, आप प्रेग्ना ेंसीय में ं ं कुछ इस तरह से देखभाल कर सकती है आप इस तरह से एसिडिटी के लिए घरेलू उपाय कर सकती है आप तैलीय या मसाले दार खाना , और चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी चीजे एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं । एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी के लिए पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा हो ता है। थोड़ी मात्रा में, लेकि न बार -बार खाना खाती रहे ।खाना को अच्छी तरह चबाकर खाएं खाना खाने के दौरान लम्बा गैप रखे खाना के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में पानी न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोज ाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी हैं कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें, एसिडिटी होने पर आप ग्लास पानी मे एक चम्मच जीरे को डाल कर खौला ले फिर इसको पिये इससे भी बहुत आराम मिलता है एसिडिटी में ,आप इसमें 10 , 12 पुदीने की पत्तियों को रोज चबाये इससे भी फायदा होता है , रोज रात को खाना खाने के बाद गुड़ खाये इससे आपका खाना पच जायगा और जलन नहीं होगी सुबह खाली पेट एलोवेरा जेल खाये या थोड़े पानी मे डालकर पिये इससे भी आराम हो जाएगा !
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri beti ki porty kale rang ki aa rhi hai ye koi pareshani ki baat tho nhi hai
उत्तर: हेलो नही बिलकुल भी नही .. छोटे बच्चों के साथ ऐसा बहुत ही नॉर्मल है. 6 महीने तक आप उनकी पार्टी के रंग में परिवर्तन देखेंगे इससे आप परेशान ना हो| नवजात में पॉटी के रंग में बदलाव का कारण लैक्टोज होता है, क्योंकि, इस समय शिशु का शरीर दूध से मिलने wale लैक्टोज (दुग्ध शर्करा) को अच्छे से पचा नहीं pata. जिस कारण उसके पेट में सामान्य से अधिक गैस और पानी तैयार होने लगता है, जो हरे या काले रंग के पॉटी के रूप में सामने आता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam docter kheti hai ki mera bachha utrus m hai to koi pareshani wali baat to nahi hai
उत्तर: hello बच्चे युटेरस में ही होते हैं युटेरस को ही बच्चेदानी कहा जाता है पूरी प्रेगनेंसी के दौरान बच्चा युटेरस में ही बड़ा होता है और इसमें परेशानी वाली बात नहीं है
»सभी उत्तरों को पढ़ें