8 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hello mem mujhe safed pani aarha h koi problam to nhi hogi bache ko

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप परेशान मत होइए। गर्भावस्था में वाइट डिस्चार्ज होना आम बात है ।ध्यान रखे कि अगर आपको वाइट डिस्चार्ज से कोई बदबू आती है या फिर बहुत ही ज्यादा पीले रंग का गाढ़ा वाइट डिस्चार्ज होता है ।वाइट डिस्चार्ज की मात्रा बहुत हीज्यादा हो या फिर वाइट डिस्चार्ज के समय पेशाब करते हुए जलन और दर्द महसूस हो तो इस स्थिति में आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
Answer: koi problem nhi hai ..mujhe bhi aisa hota hai
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mem mere safed pani hota h bache ko koi problam tho नही एच na
उत्तर: गर्भावस्था में निकलने वाले सफेद पानी को या तो सर्वाइकल म्यूकस कहते हैं या लिकोरिया कहते हैं या गर्भावस्था में अक्सर दिखाई देता है इसमें डरने वाली कोई बात नहीं यह गर्भ में पल रहे बच्चे की सुरक्षा के लिए होता है यह पूरे गर्भावस्था में हल्का फुल्का पानी कभी-कभी दिख सकता है जिसका कारण स्ट्रेस सेक्स या फिर भारी काम करने की वजह से हो सकता है लेकिन कभी-कभी यह बहुत अधिक मात्रा में निकले और दरद भी हो तो यह घबराने वाली बात हो सकती है इसलिए अगर यह यह आपको बाथरूम की जगह अगर यह अधिक मात्रा में स्त्रावित हो या पेट में दरद हो और स्मेल छीहो तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए Take care
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello . mujhe safed pani jata h to mere bache ko koi problem to nhi h . plz batao
उत्तर: जी नहीं. इसमें बच्चे को कोई प्रॉब्लम नहीं होती है. पेट में बढ़ रहे वजन के कारन और बदलते होर्मोनेस के कारन पेट के स्नायु और आंत पे दबाव बढ़ता है और इस वजह से वजाइना में या थाइस में दर्द या वाइट डिस्चार्ज होता है. कभी कभी जलन भी होती है. इसमें गभरiने वाली बात नहीं है. इसके लिए आप खाना एक बार में बहोत सारा न खाये. थोड़ा थोड़ा करके ज्यादा बार खाइये. अगर आपकी प्रेगनेंसी में कोई कम्प्लीकेशन नहीं है तो हो सके उतना वाकिंग करे. ज्यादा पानी पिए. ये सब से आपको रहत मिलेगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mem mujhe 3 month h or mujhe thariod bhi h to aage beby ko koi problam to nhi hogi na
उत्तर: थायराइड problem को कंट्रोल किया जा सकता है par इसके लिए सही इलाज और exercise important है थायराइड के कारण बच्चे के शारीरिक और मानसिक development पर प्रभाव पड़ता है इसलिए थायराइड का पता लगते ही प्रेग्नेंट वुमन को तुरंत इलाज शुरू कर देना चाहिए डॉक्टर के अनुसार सारी जांच कराते रहना चाहिए और medicines timely nd regular लेनी चाहिए साथ ही साथ प्रेगनेंसी के हर month में भी जांच कराते रहना चाहिए इससे होने वाले बच्चे पर थायराइड का कोई प्रभाव नहीं पड़ता, प्रेग्नेंट वुमन भी सुरक्षित रहती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें