23 weeks pregnant mother

Question: hello mam mujhe doc . ne triple marker test karane ko kaha hai ye kis taraha ka test hai or kyu karaya jata hai ?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर घबराने की कोई बात नहीं है आमतौर पर हाई रिस्क प्रेगनेंसी के दौरान ट्रिपल मार्कर test किया जाता है ताकि बच्चे के भविष्य में होने वाली बीमारियों का पता लगाकर उसके निवारण के उपाय किए जा सकें.. अगर आपको कोई भी कंफ्यूजन हो तो आप डॉक्टर से खुल कर बात करें और अपना डाउट क्लियर करें ओके
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: tiffa test kis month me hota hai mujhe dr ne 18 week me kaha hai karane ko
उत्तर: nahi koi problem nahi hai ye baby ke growth ke liye hoti hai..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hlo mam mujhe ye puchna thaa ke triple marker test kio krwate hai
उत्तर: iss test se pta krte hain ki , baby ke kaan ,naak sb kaam kr rhe hain ki sare body part theek hain ki nhi kuch problem t nhi
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera 11th week aaj se suru hue hai aur dr ne NT Scan aur double marker test karne ka kaha hai ye test kyu karate hai
उत्तर: सेकंड स्कैन 11 हफ्ते से 13 हफ्ते के बीच में होता है. यह N T स्कैन या फिर फर्स्ट ट्राइमेस्टर स्कैनिंग भी इसे कहते हैं. सामान्यतः12 वीक तक बेबी की बॉडी लगभग बन चुकी होती है. उसके बाद उनके बॉडी पार्ट्स में धीमे धीमे ग्रोथ चालू हो जाती है .इसे स्कैन में हम यह देख सकते हैं कि वह growth ठीक से हो रही है कि नहीं . scan में बच्चे की किडनी लीवर ब्रेन और हार्ट की ग्रोथ को टेस्ट करते हैं. साथी गर्दन aur स्किन की मोटाई कितनी होती है. साथ ही साथ नाक की हड्डी की ग्रोथ कैसे हुई है. ऐसी बहुत सारी जानकारियां ऐसे स्कैन से हमको मिलती है. इस टेस्ट में पेट में जो पानी होता है उसकी मात्रा का भी हमें पता लग जाता है .कम है या ज्यादा है. साथ ही साथ बच्चों में डाउन सिंड्रोम की प्रॉब्लम होती है वह भी स्टेट से हमें पता चल जाती है और डॉक्टर उसके हिसाब से फिर हमें सलाह देते हैं. डबल मार्कर टेस्ट फर्स्ट ट्राइमेस्टर में डिलीवरी से पहले किया जाता है यह आपके fetal me होने वाले क्रोमोसोम की कमी की संभावनाओं को चेक करता है .यह इस बात का भी पता लगाता है कि आपके बच्चे को डाउन सिंड्रोम Aur Trisomy 18 जैसी कोई बीमारी तो नहीं होने वाली जो कि क्रोमोसोमl डिसऑर्डर के कारण होती है. यह प्रॉब्लम बच्चे में brain प्रॉब्लम्स को भी ला सकती है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें