गर्भावस्था की तैयारी

Question: Hello mam Mera uterus thoda small Hai to muje pregnancy rakhne me problem a sakti Hai? Plz help

1 Answers
सवाल
Answer: आपके गर्भाशय का छोटा होना इस बात पर निर्भर करता है कि वह कितना छोटा है क्योंकि अगर थोड़ा बहुत प्रॉब्लम होने से गर्भावस्था के समय कोई परेशानी नहीं होती लेकिन अगर गर्भाशय का साइज बहुत ज्यादा छोटा होता है तो इसे बच्चा के विकास के समय बच्चा को सही जगह नहीं मिल पाने के कारण बच्चे का विकास नहीं हो पाता और हो भी सकता है कि मिसकैरेज हो| इसलिए मेरी सलाह आपको यही रहेगी कि आप सबसे पहले डॉक्टर की सलाह से अपने गर्भाशय के साइज का पता करें और उन से सलाह ले कि यह प्रेगनेंसी के लिए ठीक रहेगा कि नहींl उसके बाद ही अपना dicition le जल्दी|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mera uterus thoda small Hai to pregnancy planning me koi problem a Shakti Hai? Mene doctor ki Salah bhi li doctor n to kaha Hai koi problem nahi hai
उत्तर: हेलो डियर . अच्छी बात है डॉक्टर कहरहे है .. आप अच्छा सोचिए अच्छा ही होगा .. आप अपनी रूटीन और खाने पीने की जो हैबिट होती है उसको अच्छा करिए. समय पर खाना खाइए. अच्छा पौष्टिक खाना खाइए .फास्ट फूड या ज्यादा मिर्च मसाला ऑयली खाना मत खाइए. अपनी डेली रूटीन में आप एक्सरसाइज जरूर शामिल कीजिए .कोशिश करिए कि आप सुबह वॉक करें या योगा करें और साथ ही साथ आप खाना खाते हैं जब रात में उसके बाद भी आप थोड़ी लाइट वॉक करें उसके बाद आप सोए. अपने सोने में भी आप ध्यान रखें कि आप समय पर सोए तो और समय पर उठे. इन सभी चीजो से आपके शरीर में ताकत आएगी .इम्यूनिटी सिस्टम अच्छा विटामिन सी से बहुत होता है .आप अपने खाने में विटामिन सी की मात्रा ज्यादा le.संतरा नींबू मुसम्मी ऐसे इन सब चीजों को अपने खाने में लें .आयरन बढ़ाने वाले जो खाद्य पदार्थ होते हैं उनको आप अपने खाने में शामिल करें. डॉक्टर के द्वारा दी गई दवाइयां आप समय पर ले. प्रेगनेंसी कंसीव करने के लिए लेडी के साथ साथ हस्बैंड का भी स्पर्म काउंट बहुत मायने रखता है. वह अच्छा हो अपने हस्बैंड की भी रूटीन अच्छी करिए एक्सरसाइज उनके डेली रूटीन में शामिल करें साथ ही साथ अच्छा पौष्टिक खाना खाएं. जिससे कि उनके भी स्पर्म काउंट बढ़े .मेरी प्रार्थना है भगवान से कि आपकी जल्दी से जल्दी हल्दी प्रेगनेंसी होगी और आपको भी अच्छे से बेबी हो जाएगा. आप बिना किसी टेंशन के रही है .टेंशन से रहने से भी हमें कई बार कंसीव करने में प्रॉब्लम जाती है. टेंशन से हमारी बहुत सारी अलग-अलग और बीमारियां भी खड़ी हो जाती हैं .टेंशन फ्री रहिए आराम से रहिए आपको भी हेल्थी प्रेगनेंसी जल्दी हो जाएगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera Anti-Müllerian hormone 0.9 Hai to muje pregnancy planning Mai koi problem a sakti Hai plz reply?
उत्तर: AMH Anti mullerin hormone यह एक ऐसा हार्मोन होता है जो ovaryसे हेल्दीegg produce करने का काम करता हैl शरीर मेंamh ka level जितना अच्छा होगा उतना ही ज्यादा हल्दी egg ovary से निकलते हैंl जिससे प्रेग्नेंट होने का बहुत अधिक चांस होता हैl अगर a m h का लेवल कम होता है तो ऐसे में एक प्रदेश नहीं होने के कारण महिला का पीरियड भी सही नहीं होता जिसके कारण बच्चा कंसीव करने में भी परेशानी होती हैl किसका नॉर्मल लेवल1.0ng/ml होता है किसके ज्यादा होने से भी परेशानी होती है अगरamh ka level 3.0ng/ml छोटा है तो पॉलिसिस्टिक ओवेरियनdeaseaseहोने का खतरा रहता हैl और अगर कम हुआ तो सही मात्रा में एक नहीं बनने के कारण पीरियड्स नहीं आते जिससे कि बच्चा कंसीव करने में परेशानी होती हैl कभी कभी किसी महिला का इतना कम होता है जिसकी वजह से उन्हें ivf जैसे प्रोसीजर करवाना पड़ता हैl यह शरीर में नेचुरल बनता है इसलिए इसे बढ़ाने का कोई उपाय भी नहीं होता यह कभी-कभी उम्र के ऊपर निर्भर करता है ज्यादा उम्र के लोगों में इसका लेवल कम होता है इसलिए 30 से 35 उम्र के बीच गर्भधारण करना उचित माना जाता है उसके बाद बहुत मुश्किल होता हैl इसे बढ़ाने या मेंटेन रखने के लिए हमें अपने लाइफ स्टाइल में सुधार करना पड़ता है और हेल्दी डाइट लेना पड़ता है ताकि थोड़ा बहुत सुधार हो सकेl जो महिला ज्यादा तनाव में रहती है माना जाता है कि उस उसके में एमएएच का लेवल बहुत कम होता हैl इसलिए ज्यादा अच्छा होगा कि तनाव मुक्त रहेंl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hii mam muje abhi pregnancy ka 1 mahina pura bhi nahi hua hai lekin muje kabhi kabhi thoda thoda pet me dard hota hai to kya isse pregnancy me koi problem ho sakti hai?
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में आपका यूट्रेस बढ़ जाता है जिसकी वजह के पेट कर निचले हिस्से में दर्द होने लगता है ऐसे में गर्भाशय को सहारा देने वाली मासपेशियो में दर्द होने की वजह से पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है , ऐसे में बेबी के भ्रूण के बनने का प्रोसेस होता हैं , ऐसा दर्द होता है तो ऐसा होना नार्मल बात है आपको जब ऐसा दर्द हो तब आप आराम कर ले , खूब पाने पीती रहे ,दर्द होने पर हल्की हल्की गुनगुनी पट्टी से सिकाई कर सकते है प्रेग्नेंसीय में ऐसा दर्द नार्मल होता है अगर ये दर्द असहनीय हो यो आप तुरंत डॉक्टर को दिखाए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें