13 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hello mam mam abhi tak mujhe pet me kuch mhsoos nahi hota kab tak ye mahsoos hoga ki apke pet me baby hai bs wometting bhout hoti hai aur gais bhout banti hai

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी क १८ से २५ वीक के बिच में कभी भी बच्चे क मूवमेंट का पता चल सकता है. आपको पेट में गुदगुदी जैसा या हलकी सी हलचल जैसा या तो फिर पेट में तितलियाँ उड़ने जैसा एहसास होगा. वही बच्चे के मूवमेंट्स है. गैस और वोमिटिंग के लिए आप खाना एक बार में बहोत सारा न खाये. थोड़ा थोड़ा करके ज्यादा बार खाइये. अगर आपको कोई कॉम्प्लीकेशन्स नहीं है तो आपसे हो सके उतना वाकिंग करे. ज्यादा पानी पिए. ये सब से आपको रहत मिलेगी. आप खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन पानी के साथ ले इससे भी आपको रहत होगी.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera pet ek din saf hota hai. phir do din nahi hota hai. isi ki wajah se mere pet me gais banti hai. jisase mujhe bahut takalif hoti hai.
उत्तर: प्रेगनेंसी में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में भी बढ़ोतरी होने की वजह से गैस और कब्ज की दिक्कत होती है. जब प्रोजेस्ट्रोन का लेवल बढ़ता है तो गेस्ट्रो इंटेस्टाइनल ट्रेक धीमा पड़ जाता है .तब खाया गया खाना बहुत धीमे धीमे पचता है और गैस और कब्ज की शिकायत होने लगती है.अगर आप गैस की प्रॉब्लम और कब्ज की प्रॉब्लम से बचना चाहती हैं तो बहुत ही सादा खाना खाएं और समय पर खाएं और अपने खाने में फाइबर जैसी चीजों को ज्यादा ले.घरेलू उपचारों से आप को बहुत आराम मिलेगा. जैसे जीरे का शरबत बनाकर रखें एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चा जीरा पीस के डालने पर शक्कर डालने| चित्र खोलकर रख लें दिन भर में थोड़ा थोड़ा पिया. खाना खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन का चूर्ण ले ले|ध्यान रखें आपका पानी पीना बहुत जरूरी है. इससे भी आपको गैस में राहत मिलेगी. अपनी नींद समय पर ले कोई भी भारी खाना बहुत सारा एक साथ ना खाएं.खाना चबा चबा कर खाएं .दिन भर में थोड़ा-थोड़ा खाते रहे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe 13 week chal raha lekin abhi kuch mahsoos hi nahin hota hai pet me
उत्तर: प्रेगनेंसी क १८ से २५ वीक के बिच में कभी भी बच्चे क मूवमेंट का पता चल सकता है. आपको पेट में गुदगुदी जैसा या हलकी सी हलचल जैसा या तो फिर पेट में तितलियाँ उड़ने जैसा एहसास होगा. वही बच्चे के मूवमेंट्स है.अभी आप थोड़ा और इंतजार करे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे उलटी jaisa कुछ nhi hota hai pr thakan bahot lagti hai aur pet me gais bahot banti hai
उत्तर: प्रेगनेंसी में वैसे भी बहुत ज्यादा कमजोरी होती है क्योंकि हमें खाना अच्छा नहीं लगता।आप यह आपको जो भी प्रॉब्लम हो रही है वह कमजोरी के कारण हो सकता है। आप अपने खान-पान में विशेष ध्यान दीजिए।आप पोस्टिक आहार लीजिए ।आप दाल चावल रोटी सब्जी अंडा हरी पत्तेदार सब्जियां सलाद दूध दही सब लीजिए। आप हर 2 घंटे में कुछ न कुछ खाते रहिए और फलों के जूस लीजिए।तरल मात्रा ज्यादा लीजिए आप नारियल पानी पी सकती हैं इससे आपको तुरंत ही एनर्जी आएगी । अब हाथ पैर दर्द के लिए कमर दर्द के लिए सरसों के तेल से मालिश कर सकती है इससे आपको थोड़ा आराम मिलेगा कुछ दिन अच्छे से आराम कीजिए। उसके बाद योगा मेडिटेशन और हल्की वॉक स्टार्ट कीजिए तनाव से बिलकुल दूर रहिए।आपकी बॉडी एक्टिव रहेगी।कई बार किसी प्रकार के भोजन के कारण भी गैस हो सकता है इसलिए आप नोटिस करते रहिए कि, आपको कौन से भोजन के कारण ज्यादा गैस एसिडिटी की समस्या होती है। और फिर आप उसे अवॉइड कर सकते हैं जैसे गोभी कुछ प्रकार की दालें कुछ प्रकार के फल जिससे आपको गैस होता है उन्हें अवॉइड कीजिए। पानी भरपूर मात्रा में पीजिए अगर आपको कब्ज की शिकायत है तो भी आपको गैस की समस्या हो सकती है इसके इसके लिए भरपूर मात्रा में पानी पीजिए और तरल पदार्थ लेते रहिए। गैस एसिडिटी की समस्या से निदान पाने के लिए बहुत ज्यादा मात्रा में एक बार ही भोजन नहीं कीजिए। खाना अच्छे से चबा-चबाकर खाइए और ऑयली तली हुई डीप फ्राई भोजन अवॉइड कीजिए। पीने के लिए हल्का गर्म पानी इस्तेमाल कीजिए इससे भी आपका खाना जल्दी pachega और गैस एसिडिटी की समस्या कम होगी। अगर आपको गैस एसिडिटी की समस्या बहुत ज्यादा है कि आपके पेट में बहुत ज्यादा दर्द हो जाता है तो आप जरूर एक बार डॉक्टर से मिलना और उनसे जरूर सलाह लीजिए। अगर बहुत ज्यादा कमजोरी लग रही है तो आप एक बार डॉक्टर से जरूर मिलिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam mujhe white discharge ho raha hai..koi problem nahi hogi na? Aur ye kab tak hota hai pls bataye.
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में अक्सर वाइट डिस्चार्ज होता है शरीर में बहुत सारे बदलाव होते हैं और शरीर में पानी की कमी से भी वाइट डिस्चार्ज हो सकता है इसलिए आपको दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए और आपको अपने प्राइवेट पार्ट को हमेशा साफ रखना चाहिए ताकि आपको गीलेपन की वजह से कोई भी इन्फेक्शन ना हो . और साथ ही साथ आपको कॉटन की पेन्ती पहननी चाहिए इससे ज्यादा इंफेक्शन का खतरा नहीं रहता और हर चार-पांच घंटों बात अपनी पेंटी बदलनी चाहिए . और आपको बहुत वाइट डिस्चार्ज की तकलीफ होने लगे तो एक बार डॉक्टर की भी सलाह लेनी चाहिए . अपना ख्याल रखना डियर .
»सभी उत्तरों को पढ़ें