14 weeks pregnant mother

Question: Hello madam 4th month me kounsi sonography aur blood test karana chahiye?

1 Answers
सवाल
Answer: hello प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर सेकंड लेवल अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें बच्चे के डेवलपमेंट और प्लेसेंटा की पोजीशन देखी जाती है। और प्लेसेंटा में कॉम्प्लिकेशन होने पर बताया जाता है दूसरे टेस्ट ग्लूकोस की स्क्रीनिंग टेस्ट होती है जिसमें ब्लड में ग्लूकोज की मात्रा को देखकर प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले गेजस्ट नल डायबिटीज की जांच की जाती है तीसरा टेस्ट डॉपलर टेस्ट होता है जिसमें फीटल पर ब्लड और ऑक्सीजन की सप्लाई का टेस्ट किया जाता है। यह सारे टेस्ट प्रेगनेंसी के दूसरे तिमाही पर कराना जरूरी रहता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 7 month me sonoghraphy aur blood test Bola Hai Dr ne. Kisliye karana chahiye?
उत्तर: हेलो आप घबराइए नहीं प्रेगनेंसी में ब्लड टेस्ट और सोनोग्राफी टेस्ट तीसरे महीने में होता ही है। तीसरे महीने की सोनोग्राफी सबसे पहली सोनोग्राफी होती है। इससे पेट के बच्चे का वजन साइज ग्रोथ और पोजिशन देखने के लिए की जाती है। दूसरी सोनोग्राफी7वे से 8 वे मंथ में कराई जाती है और ब्लड टेस्ट से आपके ब्लड में किसी चीज की कमी तो नहीं है यह देखी जाती है जैसे हीमोग्लोबिन प्लेटलेट्स आदि। अगर किसी चीज की कमी होती है या कोई कॉम्प्लिकेशन होता है तो उसे मेडिसिन देकर ठीक किया जाता है। सोनोग्राफी एक नार्मल प्रोसेस है इसमें दर्द नहीं होता। इसलिए घबराइए नहीं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 5 week me sonography karana chahiye kya
उत्तर: हेलो डियर आम तौर पर गर्भावस्था में 3 स्कैन या सोनोग्राफी होती है। यदि कोई समस्या है तो स्कैन 3 से अधिक हो सकते हैं।। पहला स्कैन गर्भावस्था, भ्रूण की दिल की दर और गर्भावस्था की आयु की पुष्टि करने के लिए 6 से 9 सप्ताह मे होता है। अगले स्कैन को बच्चे के शरीर और भागों की जांच के लिए 11 से 14 सप्ताह के बीच किया जाता है। दिल, गुर्दे, मस्तिष्क के विकास की जांच के लिए तीसरा 18 से 23 सप्ताह में किया जाता है। ये स्कैन एक स्वस्थ गर्भवती महिला के लिए हैं। अगर आपकी गर्भवस्था मे किसी तरह की दिक्कत है तो उसके अनुसार डॉक्टर आपको और जाँच बता सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 1st sonography kab karana chahiye
उत्तर: हैलो डियर-अक्सर डाक्टर गर्भ में बच्चे की ग्रोथ का पता लगाने के लिए डॉक्टर तीन बार अल्ट्रासाउंड टेस्ट करवा सकते हैं। अल्ट्रासाउंड टेस्ट दूसरे महीने में बच्चे की धड़कन जानने के लिए, चौथे महीने में गर्भ में बच्चे का विकास देखने के लिए और आखिरी महीने में बच्चे की स्थिति देखकर अनुमान लगाते हैं।कि डिलवरी कैसी होनी है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें