2 महीने का बच्चा

Question: hello plz help me m jab fresh hoti hu to bhot jyada tite potty aati h jisse merko abhi whan bhot jyada pain hi rha h mera opration s baby hui h mujse betha nhi jata us pain ki wjah s plz koi upay btaye

1 Answers
सवाल
Answer: App subah garam pani piya kro usse thik ho jayega
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: bcha upr sine ki trf ad jata h jisse mujhe bhot pen hota h or sas lene m bhot presani hoti h plz kuch upay btae
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान सांस लेने की समस्या किसी भी महिला को हो सकती है लेकिन ऐसा होना एकदम सामान्य बात भी नहीं है और यह समस्या डिलीवरी के बाद अपने आप ही खत्म हो जाती है गर्भावस्था के दौरान सांस लेने की समस्या दूसरे लक्षणों के जैसे ही है जो कुछ दिनों तक होता है और फिर अपने आप ठीक हो जाता है यह समस्या आपको पहले दूसरे तीसरे किसी भी महीने में हो सकता है कभी-कभी किसी महिलाओं को यह समस्या पूरे गर्व काल के दौरान झेलनी पड़ती है सांस लेने की समस्या बहुत सारे कारणों से हो सकता है गर्भावस्था के दौरान क्योंकि के दौरान हमारे शरीर में बहुत सारे परिवर्तन होते रहते जिसके वजह से हमें कभी कभी बहुत ज्यादा सफोकेशन होने लगता है प्रेगनेंसी के दौरान प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल बढ़ जाने की वजह से यह शासन तंत्र को प्रभावित करता है और यहां ब्रेन के उस भाग को प्रभावित करता है जो श्वसन तंत्र को कंट्रोल करके रखता है इस कारण हमें सफोकेशन होने लगता है क्योंकि इस दौरान शरीर में ऑक्सीजन की maang काफी ज्यादा बढ़ जाने की वजह से सफोकेशन होने लगता है गर्भावस्था के दौरान शरीर में खून 50% तक बढ़ जाता है इसलिए दिल को खून को pump करने के लिए काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसके कारण भी हमें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और गर्भावस्था के लास्ट महीनों में बच्चा के आकार में वृद्धि होने के कारण वहां फेफड़ों में दबाव डालता है जिसके कारण फेफड़ों को फैलने में दिक्कत होती है जिसके कारण हमें सांस लेने में बहुत तकलीफ होने लगती है इसके लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं जैसे आपको हमेशा उठते-बैठते सोते समय अपने पोजीशन या स्थिति का ध्यान रखना होगा ताकि आपको सांस लेने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो अगर आपको सांस लेने की परेशानी हो रही है तो आप इस समय थोड़ा बहुत ब्रीथिंग एक्सरसाइज कर सकते हैं ताकि इससे आपको अच्छा फील हो सांस लेने की समस्या या सफोकेशन होने से बच्चे को किसी प्रकार का कोई effectनहीं होता यह एकदम नॉर्मल है इस से maa aur बच्चों को किसी प्रकार का कोई इफेक्ट नहीं होता जब आपको लगे कि आपको बहुत ज्यादा safocationहो रहा है तो उस स्थिति में आपको आराम से रहना चाहिए और कुछ देर के लिए breathing एक्सरसाइज करना चाहिए इस दौरान आपको ज्यादा भारी सामान नहीं उठाना चाहिए गर्भावस्था के दौरान आपको हमेशा उल्टे हाथ की तरफ होना चाहिए इससे आपको सफोकेशन से राहत मिलेगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hii i am 6 month pergent mujhe piles ki bahot problem h jab bhi fresh hone jati hu bahot bleeding hoti h fresh bhi nai ho paati plz bataiye kya karu betha bhi nai jata
उत्तर: हेलो डियर मैं आपके साथ कुछ टिप्स शेयर करती हूं जिससे आपको मदद मिल पाएगी रोज रात को एक चम्मच त्रिफला गर्म पानी से लें। इसे लेने के बाद कोई और चीज न खाएं। रोज रात को ईसबगोल की भुस्सी एक चम्मच गर्म दूध से लें। पंचसकार चूर्ण एक चम्मच रोज रात को गर्म पानी से लें। ढीले अंडरवेयर पहनें। लंगोट आदि पहनना नुकसानदायक हो सकता है। - मल त्याग के दौरान जोर लगाने से बचें। - कोशिश करें कि मल त्याग का काम दो मिनट के भीतर पूरा करके आ जाएं। - टॉयलेट में बैठकर कोई किताब या पेपर पढ़ने की आदत से बचें। - हो सके तो इंडियन स्टाइल वाले टॉयलेट का ही यूज करें क्योंकि इसमें बैठने का तरीका ऐसा होता है कि पेट आसानी से साफ हो जाता है। फास्ट फूड, जंक फूड और मैदे से बनी खाने की चीजें। - चावल कम खाएं। - सब्जियों में भिंडी, अरबी, बैंगन न खाएं। - राजमा, छोले, उड़द, चने आदि। - मीट, अंडा और मछली। - शराब, सिगरेट और तंबाकू से बचें। ज्यादा से ज्यादा सब्जियों का सेवन करें। हरी पत्तेदार सब्जी खाएं। मटर, सभी प्रकार की फलियां, शिमला मिर्च, तोरी, टिंडा, लौकी, गाजर, मेथी, मूली, खीरा, ककड़ी, पालक। कब्ज से राहत देने के लिए बथुआ अच्छा होता है। - पपीता, केला, नाशपाती, अंगूर, सेब खाएं। मौसमी, संतरा, तरबूज, खरबूजा, आड़ू, कीनू, अमरूद बहुत फायदेमंद हैं। - जिस गेहूं के आटे की रोटी खाते हैं, उसमें सोयाबीन, ज्वार, चने आदि का आटा मिक्स कर लें। इससे आपको ज्यादा फाइबर मिलेगा। - टोंड दूध ही पीएं। शर्बत, शिकंजी, नींबू पानी या लस्सी ले सकते हैं। - दिन में कम से कम 8 गिलास पानी जरूर पिएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mem mera 7th month chlra hai mere nichle hisse me bhot pain rhta hai...na lata jata na betha jata . jyada der..kya karu me plzzz bta sakte ho... subh jab sokr uthte h to private part pe bhot preser pdd jata hai or hdd se jyada pain ho jata hai..chla bhi nhi jata phir..plzz help me
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में बेबी का आकार बढ़ने की वजह से बेबी का सारा वजन पेट के नीचे या vaginaa पर भी पड़ता इससे योनि में दर्द होने लगता है आप ऐसे में योनि को कोई भी कॉटन के कपड़े को फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखे फिर आप इससे सिकाई कर ले या गुनगुने हल्के गर्म कपड़े से सिकाई कर सकती है आपको आराम हो जाएगा, आप टॉयलेट करके उठे या बैठे तो आराम से , ज्यादा देर तक ना बैठे नही तो दर्द और चुभन बढ़ जाएगा , ऐसे में ज्यादा देर तक करवट होकर सोने से भी दर्द होता है क्योंकि बेबी एक साइड अधिक देर रहने पर privet पार्ट में दर्द कर सकता है , इसलिए आप थोड़े देर में दुज़रे करवट होकर सोये और ज्यादा देर तक खड़े नही रहना चाहिए ऐसे में एक ही पोजीशन में ज्यादा देर तक नही रहना चाहिए कोई भारी भरकम सामान ना उठाये , आराम से रहे ऐसा होना नॉर्मल है आप परेशान ना हो इससे आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नही होंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera 9 month start ho gya h or muje thodi thodi der me pet k niche hisse me khichaw mehsoos hota h ekdm tight ho jata h pet jisse chalne bethne me bhot problem hoti h kya ye sabk sath hota h or labour pain isi tarah se hota h kya plz btaye.
उत्तर: Dear Water break ekdum Se hota H, bahut Sara amniotic fluid ek dum Se bahar aajata H aur kabhi kabh bas tjoda sa pani leak hua esa Gila mehsus hota H Agar apko pains nahi aarahae hain toh I will advise to wait only one week from.today Aur apane Dr Se induction k bare ma puche. Kyu Ki 39/40/ weeks k bad placenta properly function nahi karti ha Toh baby ko khoon ki kami hosakti ha Ek bar apane Dr Se baat Karen Labour pain light pain hota H jo increase hota rehta ha har 20/ minutes ma. Typical pain hota ha hip bone ma aur spine k junction par aur pure pelvis ma pain ho raha H esa feel hota h
»सभी उत्तरों को पढ़ें