38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hath pairo me sprain bdh gye h sath hi back pain koi tips

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी के आखरी तीन मंथ में पेट के बहुत ज्यादा बहार निकल जाने से हमारे कमर पर जोर पड़ता है जिससे कमर दर्द और पैर दर्द की शिकायत होती है। वजन बढ़ जाने की वजह से पैरो में भी दर्द रहता है। आप करवट लेकर लेफ्ट साइड करके सोय। दोनो पैरो के बीच में तकिया लेकर सोये। इससे बहुत आराम मिलेंगा। आप सरसो के तेल से हलकी हलकी मालिश भी कर सकती है। कामर के दर्द और पैरो के दर्द के लिए सरसो का तेल बहुत फायदेमंद रहता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे फिर बुखार आ गया .बार बार क्यों आ रहा h और बौमेतीन्ग बैक पेन हाथ पैरों में भी पेन हो रहा h .प्लीज बताइए
उत्तर: अगर आपको बार-बार बुखार आ रहा है और 100 से ज्यादा बुखार है तो एक बार जाकर डॉक्टर को दिखा लीजिए क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान बुखार नहीं आना चाहिए और बार बार बुखार क्यों आ रहा है यह समझ नहीं आया आ तो एक बार ब्लड टेस्ट भी करा लीजिए अगर हो सके तो डॉक्टर को लेकिन जरूर दिखाइए डॉक्टर बताएगा कौन सा टेस्ट करना है और बैक पेन हाथ पैरों में पेन हो मीटिंग आईएस अब भी शायद बुखार की वजह से ही हो रहा होगा अपने पैरों की हाथों की मसाज कराई है अपनी कमर की भी मसाज कराइए और वह मीटिंग हो रही है तो थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ थोड़ी थोड़ी क्वांटिटी में खाती रही है खाली पेट बिल्कुल मत रहिए आप कुछ खट्टी चीज दिखा सकती हैं नींबू चार्ट सकती हैं उससे आपको आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे फीवर हो गया ह...और कमर हाथ पैरों में बहुत पेन ह....
उत्तर: हेलो डियर यदि आप को फीवर हो गया है तो आप दूध में हल्दी इलायची पाउडर तुलसी के पत्ते डालकर दूध को अच्छे से गर्म कर लीजिए और थोड़ा ठंडा हो जाने के बाद इस दूध का सेवन कीजिए इससे फीवर कम हो जाता है साथ ही साथ आप ऑरेंज जूस पी सकती है ऑरेंज जूस पीने से भी फीवर कम हो जाता है और आपके कमर और हाथ और पैरों में बहुत दर्द हो रहा है तो आप बैठकर कमर की मालिश कर सकती है साथ ही साथ हाथ और पैरों की गुनगुने तेल से मालिश कर सकती है इससे आपको आराम मिलेगा बहुत ज्यादा तकलीफ होने लगे तो आप डॉक्टर की सलाह ले सकती है अपना ख्याल रखना
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हाथ पैरों में जलन क्यों होती ह
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेगनसी के दौरान हाथ पैरों में जलन होना आम बात होती है ।इसका मुख्य कारण हार्मोन परिवर्तन है। इसके दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है- दो गिलास गर्म पानी में, एक चम्मच सरसों का तेल मिलाकर दोनों पैर इस पानी में रखें और पांच मिनट बाद धोएं। इससे पैर साफ हो जाएंगे, जलन दूर हो जाएगी। लौकी या घीया को काटकर इसका गूदा पैर के तलवों पर मलने से जलन दूर होती है। गर्मी के दिनों में जिन लोगों के पैरों में निरंतर जलन होती है उन्हे पैरों में मेहंदी लगाने से लाभ होता है। तलवों, हाथ पैरों में जलन हो तो देशी घी मलने से मिट जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें