22 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hamko aise me kya khana chahiye

2 Answers
सवाल
Answer: hello डियर ,,aapko 22 week ki pregnancy chal rhi hai,प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में आयरन कैल्शियम ,फोलिक एसिड ,विटामिंस ,तथा अन्य प्रकार के सप्लीमेंट की बॉडी को अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है इसलिए अपने भोजन दूध, दही, दूध, पनीर , ड्राई फूट्स, केला मोसम्मी, संतरा ,कीवी, आडू ,अनार ,खजूर, ब्रोकली ,अखरोट पत्ता गोभी, गाजर ,शिमला, टमाटर ,लगभग सभी प्रकार की हरी सब्जियां सलाद अंकुरित, अनाज, मछली, eggs विभिन्न प्रकार के विभिन्न प्रकार के फल पपाया, पाइनएप्पल को छोड़कर आप ले सकती हैं फलों का जूस ,मिक्स वेजिटेबल सूप इत्यादि अपने भोजन में शामिल कर करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में आयरन ,कैल्शियम, विटामिंस, मिले जो कि बच्चे के ब्रेन बॉडी डेवलपमेंट में आपकी मदद करेंगे | भोजन के अलावा आपको पर्याप्त मात्रा में पानी की भी उतनी ही आवश्यकता होती है इसलिए 10 से 12 गिलास पानी जरूर पिएं नारियल पानी का भी उपयोग आप बॉडी को हाइड्रेट करने के लिए कर सकते हैं| चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक फास्ट फूड इत्यादि का सेवन ना करें| किसी भी प्रकार की नशीली चीजें का उपयोग ना करें| मिर्च मसाले तले ,भूले हुए चीजों का उपयोग कम से कम करें|
Answer: हैलो डियर-आप अपने डायट में यह सब शामील कर सकती हैं।अनाज, गेहूं का आटा, जई, कॉर्न फ्लैक्‍स, ब्रेड और पास्ता लें। सूखे फल खासकर अंजीर, खुबानी और किशमिश, अखरोट और बादाम लें।राजमा, सोयाबीन, पनीर, पनीर, टोफू, दही आपकी कैल्शियम की जरूरतों को पूरा करेगा।टोन्‍ड दूध ।हरी सब्जियां जैसे पालक, ब्रोकोली, मेथी, सहजन की पत्तियां, गोभी, शिमला मिर्च, एमाटर, आंवला और मटर।विटामिन सी के लिए संतरे, स्ट्रॉबेरी, चुकंदर, अंगूर, नींबू, टमाटर, आम और नींबू पानी का सेवन बढ़ाएं।स्‍नैक्‍स में - भुना बंगाली चना, उपमा, सब्जी इडली या पोहा ले सकती हैं। .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: plz tell me ab hamko kya karna chahiye
उत्तर: जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब यह बहुत जरूरी है कि आप अपना आहार पौष्टिक है. इससे आपको और आपके होने वाले बच्चे को पौष्टिक तत्व मिलेंगे. प्रेग्नेंसी में कुछ अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. प्रेगनेंसी में सही आहार का मतलब है -आप क्या खा रही हैं ?ना कि कितना खा रही हैं? जंक फूड का सेवन ज्यादा ना करें. isme कैलोरी ज्यादा है पोष्टिक तत्व कम या ना के बराबर होते हैं. फोलिक एसिड आपको 1 ट्रिमस्टर में ही चालू करदेना चहिये। फ़ोलिक एसिड का होने वाले बच्चे की ग्रोथ में बहुत बड़ा योगदान रहता है। फ़ोलिक एसिड विटामिन है ।विटमिन B 9। ये आपको खाने पिने में फॉलेट नाम से मिलेगा । बाबी के इस्पीनलकार्ड के चारो और पॉलिब पेरत को सही तरीके से बंद करता है।वाहा गप नहीं आने देता। मा के लिए भी बहुत जरुरी है ।विटमिन B 12 के साथ मिलकर हेअल्थी रेड सेल्स बाँटा है। folic acit ke liye ye khaye. ब्रोकली ऐस्पैरागस खट्टे फल हरी पत्तों वाली सब्जियां ओकरा फूलगोभी भुट्टा गाजर 1) दूध और डेयरी के ले सकती हैं. मलाई वाला दूध दही छाछ घर का पनीर इन सब में कैल्शियम प्रोटीन और विटामिन बी12 बहुत होता है. 2) सभी अनाज ,दालें . इन सब में प्रोटीन बहुत अच्छा होता है. 3) पेय पदार्थों में आप पानी bahut piyen.खास करके आप साफ पानी joki फ़िल्टर किया हुआ. ताजे फलों का रस ले. डिब्बाबंद juis nahi le. इसमें शक्कर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. 4) वसा और तेल . वेजिटेबल ऑयल का वसा एक अच्छा स्रोत है क्योंकि इसमें संतृप्त वसा अधिक होता है. इन सभी चीजों के साथ आप डॉक्टर की सलाह मानें .जो भी टेस्ट किए हैं दिए गए हैं उन्हें करवाएं समय पर. दवाइयां समय पर ले और नींद पूरी. खाना जो भी खाएं अच्छे से चबाकर खाएं. प्रेगनेंसी के समय मिल्क प्रोडक्ट calcium और प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। डेयरी प्रोडक्ट प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सबसे बेहतर होता है। जैसे अंडा, चीज, दूध, दही और पनीर मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम भी पर्याप्त मात्रा में होती है जो फीटस के बोन टिशू के विकास के लिए आवश्यक होता है। प्रोटीन की मात्रा काम होने से बच्चे की ग्रोथ में बहुत अंतर आता है। प्रोटीन जरूरी पौशाक तत्वों में से है। बच्चे का विकास और एम्निओटिक टिशू का कार्य प्रोटीन पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन की kaam मात्रा बच्चे के sahi विकास में बाधा पहुंचा सकती है और इससे शिशु का वजन भी कम हो सकता है। यह बच्चे के बढ़ते मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकता है।  बस एक मुट्ठी नट्स प्रोटीन की अपनी दैनिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। नट्स जैसे बादाम, मूंगफली, काजू, पिस्ता, अखरोट और नारियल में उच्च मात्रा में प्रोटीन की मात्रा होती है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। बीज जैसे कद्दू, तिल और सूरजमुखी में भी प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में होती है।  इनमें से कई ऐसे हैं जिनमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है जैसे- मूंग, काले और फवा बिन्स, मसूर, मटर और चना. ओट्स में प्रोटीन बहुत उच्च मात्रा में पाई जाती है . प्रेगनेंसी के 9 मंथ में बहुत ही सावधानी से रहना चाहिए . दो चीजों से आप पूरा परहेज करें बिल्कुल भी ना करें .पहला ट्रेवल. दूसरा सेक्स . खाने में आयरन और कैल्शियम की मात्रा अच्छी तरीके से लेते रहे . डॉक्टर के दिए हुए सप्लीमेंट्स के समय pr le. डॉक्टर के बताए हुए टेस्ट समय पर करवाएं. संतुलित पौष्टिक आहार खाती रहे. नींद का पूरा ध्यान दे. पानी खूब पिएं. खाना खाने के बाद आप थोड़ी walk करें . डॉक्टर के बताए अनुसार आप एक्सरसाइज या योगा या थोड़ी वक्त जरूर करें. नाइंथ मंथ बहुत शरीर का वजन बढ़ जाता है बच्चे के वजन के कारण भारीपन बहुत महसूस होता है .इसलिए बहुत देर खड़ी ना rahe . अपने पैरों को आप जब भी लेटे थोड़ा ऊंचा करके लेटे .तकिए का सहारा देकर उसे थोड़ा ऊंचा करें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हमें पीलिया होगया ह ऐसे में क्या खाना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर, गर्भावस्था के दौरान जांडिस होने पर अच्छे से देखभाल करनी चाहिए , नाश्ता - सेब, नाशपाती, आम और जामुन जैसे एक ताजे फल खाते हैं। दोपहर का भोजन - कच्चे सब्जी सलाद और उबले हुए पत्तेदार सब्जियों जैसे पालक, मेथी, गाजर खाएं और एक गिलास मक्खन लें। आप 2 रोटी भी ले सकते हैं। रात्रिभोज - एक कप सब्जी का सूप, 2 रोटि, उबला हुआ आलू और एक पत्तेदार सब्जी उबाल कर खाएं दोपहर के भोजन और रात के खाने के बीच में एक ग्लास ताजा रस या नारियल का पानी पीते हैं ऐसा करने से पीलिया में आराम हो जाता हैं इसलिए आप इस तरह से देखभाल कर सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hello dear Rat ko khane me hamko kya khana chaye jis se hamko kamjori mehsus na ho
उत्तर: हेलो डियररात में आप दाल के साथ रोटी सब्जी के साथ रोटी या फिर दाल के साथ चावल सबसे ज्यादा खाएं ताकि बच्चे को अच्छे से विटामिन और प्रोटीन मिल सके रात में आप खाना खाने के बाद दूध लीजिए और आप दूध के साथ रात में सोने से पहले दो बिस्किट ले सकते हैं बहुत ही हेल्दी रहता है और दूध पीने से नींद भी अच्छी आती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें