14 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hallo mam mera 3rd month khatm hone wala h mere pair kamar me dard ho raha h और thik white deshcharg hota h aisa kyu ho raha h

2 Answers
सवाल
Answer: डियर . प्रेग्नेन्सी मे होने वाले हार्मोनल चेंजेज के कारण इस तरह की प्रॉब्लम्स होना नॉर्मल है . आप tenshon ना ले ..eysa कुछ प्रॉब्लम नही है .. हमारे बॉडी मे हार्मोनल चेंजेज होते रहते है . वाइट डिस्चार्ज होना कोई समस्या नही है . ये सभी को होता है . किसी को कम तो किसी को जयदा .. ऐगर आप का वाइट डिस्चार्ज जयदा हो रहा है . ऑर साथ मे बदबू भी हो टु आप को डॉक्टर के पास जाने की जरुरत है ..आप अपने कमर की सिखाई गर्म पानी के बोतल से या बर्फ की पोटली से भी करें इससे भी आपको बहुत आराम मिलेगा या आप घर पर अगर कोई हो तो मदद ले और कमर की मालिश करवाएं इससे बहुत जल्दी आपको रिलीf होगा. आप अपने पैरों का मालिश सरसों के तेल से करें तो ज्यादा बेहतर होगा सरसों का तेल शरीर को गर्म करता है सरसों के तेल को हल्का गुनगुना गर्म करके ही आप अच्छे से पैरों की मालिश कर सकते हैं यह प्रक्रिया आप दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं पैरों को ज्यादा देर लटका करना रखें पैरों को हमेशा उठाकर ही बैठे और जब भी सोए पैरों के नीचे तकिया लगा ले आप गर्म पानी गर्म पानी से पैरों की seak भी कर सकते हैं उससे आपको बहुत रिलीफ होगा ओके टेक केयर डियर
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में कमर और पैरो में दर्द होना यूट्रेस बढ़ जाने पर ज्यादा भार होने की वजह से भी होता है , जब आपके बेबी के आकार बढ़ने लगता है तब सारा वजन आपके कमर और पैरो पर पड़ता है , ऐसे में पैरो में खिंचाव भी होने लगता हैं आप इसके लिए कुछ ऐसा कर सकते है आप कमर और पैरों की सिकाई गर्म पानी को बोतल में भर कर ऊपर से एक कपड़ा डाल कर सकते है आप अपने कमर और पैरों की सरसो के तेल से मॉलिश करने से भी दर्द कम हो जाता है दर्द होने पर ज्यादा चले फिरे नही बल्कि आराम करे कोई भी भारी सामान ना उठाये या फिर कोई भी भारी भरकम काम भी ना करे , हार्मोन्स परिवर्तन के वजह से शरीर मे कई बदलाव होते है उनमें से एक है योनि से पानी निकलना है जिसे वाइट डिसचार्ज भी कहते है ,ऐसा होना नार्मल बात है, आप ऐसे में जब भी बाथरूम जाए तो अपने योनि को अच्छे से धो लेना चाहिए , और समय समय अपनी पेंटी बदलते रहना चाहिये , आप साफ कॉटन की पेंटी पहना करे , साफ सफाई का ध्यान रखे , और अगर वाइट डिस्चार्ज बहुत अधिक होता है तो उसमे से स्मेल आती है तो तुरत डॉक्टर को दिखा देना चाहिए ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 8 month complete hone wala he muje kabhi kabhi kamar me bahot dard ho jata he aisa kyu??
उत्तर: गर्भावस्था में कमर दर्द होना एक आम बात है करीब आधे से ज्यादा महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी समय कमर दर्द की शिकायत होती है आपका वजन सामान्य से अधिक है या फिर कभी-कभी गलत तरीके से उठने बैठने से भी पीठ और कमर में प्रॉब्लम हो जाती है कमर दर्द कम करने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं जैसे kamar के व्यायाम कर सकती हैं आप सरसों के तेल की मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है अगर आपकी आदत सही मुद्रा में बैठने की नहीं है तो भी आप कमर दर्द के शिकार हो सकते हैं गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं उचित जूते या सैंडल पहने कम ऊंचे और आरामदायक जूते पहने फिर भी आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेंre कमर और pair me हमेशा दर्द dete रहता h ऐसा क्यों होता h प्लीज बताइए
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान कमर में और पैरों में दर्द होना नॉर्मल बात है आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए पैरों की तेल लगाकर अच्छे से मालिश करनी चाहिए पैरों के नीचे तकिया लेकर सोना चाहिए आप कमर की बैठकर अच्छे से मालिश कर सकती है गर्म पानी में तौलिया भिगोकर वह अपनी कमर पर रख सकती है इससे आपको आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेंre pair me bhut दर्द होता h ऐसा क्यों
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें