कुछ दिनों का बच्चा

Question: मैरे kabji horhi h kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: daliya khaye moong ki dal ki namkeen hing jyada dal k
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैरे chiknforce horha h m kya kru
उत्तर: हाय डिअर ऐसी स्थिति में आप सबसे पहले तुरंत ही अपने डॉक्टर से मुलाकात करिए और इसके बारे में उसे बताइए और ट्रीटमेंट करवाइए ऐसी स्थिति में अगर बच्चे का जन्म होता है तो उस पर बहुत सारी प्रतिक्रियाएं हो सकती हैं जैसे आंखों की प्रॉब्लम और उसके चेहरे और शरीर पर दाने भी पढ़ सकते हैं चिकन पॉक्स एक प्रकार का संक्रमण है अतः आप अपने शरीर की और अपने आसपास के वातावरण की स्वच्छता बनाए रखें जिससे आप जल्दी ठीक हो सके और बेबी पर भी कोई गलत प्रभाव ना पड़े
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere har time kabji rhti h m kya kru
उत्तर: हैलो प्रिय .. इन उपचारों को आजमाएं 1: जब आप सुबह उठते हैं, नींबू के साथ एक गिलास गर्म पानी पीते हैं। 2: प्रत्येक भोजन से पहले नारियल के तेल या जैतून का तेल का एक बड़ा चमचा लें। वह तेल जो मल को नरम और चिकनाई करने में मदद करता है। 3: जब तक आप अपने आंतों को साफ़ नहीं करते हैं, तब तक अपने भोजन को ताजा फल जैसे कि सेब और नाशपाती जैसे खाल, सूप, सलाद सब्जियों जैसे खाल, नट, सूरजमुखी और कद्दू जैसे फल और काले सेम और चिकन मटर और अन्य आसानी से फल अंडे जैसे पचाने वाले प्रोटीन। एक बार आपके आंतों को मंजूरी मिलने के बाद आप मांस आदि के साथ एक और विविध भोजन पर जा सकते हैं। 4: लंबी सैर के लिए जाएं (या शौचालय के नजदीक एक दोहराव वाला चलना)। 5: बिस्तर से पहले एक गिलास गर्म पानी या हर्बल चाय लें। 6: स्टोव पर आधा कप सूखे फल जैसे खुबानी या prunes के साथ एक कप पानी के साथ स्टू। फल को नरम होने तक कुक करें और फिर इसे मैश करें और कुछ भी खाने से पहले सुबह में तरल पदार्थ सहित पूरी चीज खाएं। 7: कैफीनयुक्त पेय से बचें। 8. जब आप आग्रह करते हैं तो टॉयलेट पर जाएं, इसे बंद न करें। 9: मल को गुजरने के लिए, अपने नीचे के क्षेत्र में कुछ कार्बनिक तेल (जैसे कुंवारी नारियल का तेल) रगड़ें। 10. दिन के माध्यम से बहुत सारे पानी पीते हैं। 11. अमीर फाइबर आहार जैसे जई, अनार के बीज आदि हैं। 12. दवा के लिए आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere kashi horhi h me kya kru
उत्तर: हेलो डियर आपको प्रेगनेंसी में सर्दी खांसी होना मौसम के परिवर्तन या आपके खानपान में बदलाव इसका कारण हो skta hai 1)अदरक का टुकड़ा लीजिए और उसे अच्छी तरह से धो कर उसका रस निकाल लीजिए इस रस में शहद की कुछ बूंदें या आधा चम्मच शहद मिलाकर इसे दिन में 3 बार प्रयोग करें 2) तुलसी की पत्तियों को साफ करके पानी में अच्छी तरह उबालें और जब पानी आधा हो जाए तब इसका प्रयोग आप थोड़ी थोड़ी देर में करें 3)तुलसी और शहद का रस भी आप दिन में तीन से चार बार ले सकते हैं क्योंकि तुलसी और शहद दोनों ही प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं और एंटीबायोटिक का काम करते 4) सर्दी खांसी से खुद को बचाने और गर्भावस्था में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आपको अपने डायट में ताजे फल सब्जियां और साबुत अनाज शामिल कर सकती हैं। 5) तरल पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए जैसे अदरक वाली चाय हर्बल चाय और फलों का जूस 6) ज्यादा थके नहीं आराम करें आप जितने आराम से रहें आप गर्म पानी गर्म पानी का मशीन से भाप ले सकती हैं इसमें आप दो तीन बूंद नीलगिरी का तेल डाल ले इससे सिर के ऊपर तो लिया ढक कर अपना सर बर्तन के ऊपर झुकाकर भाप लें इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सर दर्द कम होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें