7 months old baby

Question: Mazya balacha face vr red zaly ani hath lavlyavr hatala skin khadbdit lagte ky kraych yachavr??

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , बेबी की स्किन बहुत ही सनसेतिव होती है ऐसे में बेबी की स्किन को हलके हाथों से बेबी की स्किन को छूना चाहिये , क्युकी इसकी वजह से बेबी को रैशेस भी हो सकते है आप बेबी को स्किन को जोनson का वाइप्स या हिमालया के वाइप्स से बेबी की स्किन को हलके ही हाथों से शाफ़ करना चाहिये इससे आपके बेबी को रैशेस नही होगा , बेबी को नारियल का तेल से हलके हाथ से मसाज करना चाहिए , इससे आपके बेबी को रैशेस नही होगा !
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mla face vr khup pimples zale plz me ky kru
उत्तर: हेलो प्रेग्नेसीं में होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण स्किन सेन्सिटिव़, रंग में परिवर्तन होना आम बात है। पिम्प्ल्स होने का कारण सिर्फ हार्मोंस चेंजेज ही नहीं बल्कि खानपान भी हो सकता है।प्रेग्नेसी में सही डेली रूटिन न होने, अधिक पानी न पीने, समय से न सोने, एक्सर्साइज न करने, पौष्टिक आहार न लेने इत्यादि से भी पिम्प्ल्स की समस्या हो सकती है पिम्प्ल्स से बचने के लिए प्रेग्नेसीं में मुह की साफ-सफाई का बहुत ध्यान रखना चाहिएlखानपान में जंकफूड और तैलीय भोजन को कम से कम खाना चाहिए।ऑयली खाना भी प्रेग्नेसीं में पिम्प्ल्स के लिए जिम्मेदार हो सकते है। सुबह-सुबह walk करना भी त्वचा के लिए अच्छा रहता है।पिम्प्ल्स को दूर करने के लिए समय-समय पर क्लींजिंग करवाते रहना चाहिए। प्रेग्नेसीं के दौरान पिम्प्ल्स से बचने के लिए बाहर निकलते समय चेहरे को कवर करना चाहिए और डस्‍ट से बचाना चाहिए। पिम्प्ल्स होने पर मुंहासों की जगह बार-बार हाथ नहीं लगाना चाहिए। इसस skin इन्फेक्शन का खतरा भी हो सकता है। पिम्प्ल्स को दूर करने के लिए दूध, बेसन, हल्दी, चंदन, मुलतानी मिट्टी के लेप यूज़ कर सकती है पिम्प्ल्स होने पर बहुत अधिक तनाव न le इससे आपकी सेहत पर भी असर पड़ेगा।खाने में फल-सब्जियां, फाइबरयुक्त भोजन, विटामिन-प्रोटीन इत्यादि का खास ध्यान रखें और सलाद इत्यादि भी खाएं। पिम्प्ल्स को दूर करने के लिए पानी रोज 12-13 गिलास पानी पीये आप पिम्प्ल्स पर एलोवेरा लगा सकती है एलोवेरा पिम्प्ल्स कम कर के उसके बलेस्मिश को कम करने में हेल्पफूल है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hlo mam mere baby ke face pr red red dane ho gye ky karan h
उत्तर: हैलो डियर-कभी-कभी बच्चों में इस तरह की समस्या बहुत अधिक गर्मीऔर पसीने या किसी इनफेक्सन के कारण उत्पन्न होता है। बच्चे में इस तरह की समस्या सेनसेटिव त्वचा के कारण होती है कई बार छोटे बच्चों के चेहरे और शरीर पर दाने की समस्या पायी जाती है, इसमें घबराने जैसी कोई बात नहीं है,आपको बच्चे का तेल और लोशन चेंज कर देना चाहीये। छोटे बच्चों में इस तरह की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप पाउडर या क्रीम या मालीश के लिये नारीयल तेल में कपुर का प्रयोग कर सकती हैं।और बच्चों के कपड़ों को डिटाल डाल कर धोऐ़ और धुप में अच्छे से सुखाये़। समस्या खत्म नहीं हो रही हो तब आप डॉक्टर से संपर्क करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: baby ki face ki skin per red daane ho गये h kya solution h
उत्तर: हेलो डियर अभी आपकी बेबी बहुत ही छोटी है इतनी छोटी बेबी में छोटे छोटे दाने निकल जाना एक सामान्य बात है इसमें आप बिल्कुल भी परेशान मत होइए बेबी को अत्यधिक धक्के रखने से पसीना बेबी के गले के आस पास जमा हो जाता है जिसे इंफेक्शन होकर बेबी के दाने निकल जा निकल ले जा सकते हैं बेबी को बहुत अधिक ढक कर रखने से भी गर्माहट के कारण बेबी की त्वचा पर दाने निकल आते हैं अत्यधिक गर्म तेल या तेल की चिपचिपाहट से भी बेबी को दान बेबी को दाने निकल आते हैं साफ सफाई के अभाव में बेबी को रखने से फंगल इंफेक्शन होने का खतरा रहता है इसे भी बेबी की त्वचा पर दाने निकल आते हैं आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं जैसे नीम की उबली हुई पत्तियां पानी से बेबी ko हल्के हल्के नहलाएं की साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें तेल आदि की चिपचिपाहट नहीं होनी चाहिए बेबी के पहनाने वाले कपड़े अच्छी तरह से धुले बस आप वाह साफ होना जरूरी है ताकि बेबी को किसी प्रकार का इन्फेक्शन ना हो बेबी को जब भी छुए साफ हो धूल हाथों से ही होना चाहिए बेबी को अत्यधिक ढक्कन रखें कमरे के टेंपरेचर में बेबी को रखें बेबी को नहलाते समय एंटीबायोटिक का प्रयोग भी डी कर सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें