कुछ दिनों का बच्चा

Question: Brest milk bdhane k liye kya kre?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों आपका मिल्क प्रोड्यूस कम हो रहा है आप स्ट्रेस ना लें स्ट्रेस डिप्रेशन नीन्द ना आना ये सब भी मिल्क कम सप्लाइ के कारण हो सकते है जैसे जैसे आपका खाना हेल्थी होता जाएगा मिल्क सप्लाइ बढ़ेगा आपको मिल्क कम प्रोड्यूस हो रहा है आप मिल्क पीजीये आप जीतन मिल्क piyengi उतना मिल्क बनेगा .फीडिंग करवाते समय अपने ब्रेस्ट को चेंज करते रहें इस्से मिल्क प्रोड्यूस होना बढ़त है सौफ का सेवन करना मिल्क badhane में हेल्प karta है . आप khane में हाइ एनर्जी फ़ूड जैसे दलिया दाल खायें ये ढूध badhane में हेल्प करता है . बादाम, काजू व पिस्ता जैसे मेवे स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाते हैं। साथ ही ये मेवे विटामिन, मिनरल और प्रोटीन से भी भरपूर होते हैं। इन्‍हें कच्‍चा खाने पर ज्यादा लाभ होगा। इसके अलावा आप इन्हें दूध के साथ भी ले सकती हैं। तुलसी और करेले दोनों में ही विटामिन पाया जाता है, जिसे खाने से स्तनें में दूध की मात्रा बढ़ती है। तुलसी को सूप या शहद के साथ खाया जा सकता है, या फिर आप इसे चाय में डाल कर भी ले सकती हैं। करेला महिलाओं में लैक्‍टेशन सही करता है। करेला बनाते वक्‍त हल्‍के मसालों का ही प्रयोग करें ताकि यह आसानी से हजम हो सकें। आप पपीता खायें पपीता खाना ब्रेस्ट मिल्क badhata है . आप बच्चे को जयाद से ज़्यादा फीडिंग करवायें बच्चा जीतन मिल्क पीयेग उतना मिल्क banta है . ब्रैस्ट मिल्क बढ़ाने के लिए आप शतावर का चूर रोज दूध के साथ लेती रहे , दूसरा आप अश्वगंधा का चूर्ण दूध के साथ भी ले सकती है इससे भी मिल्क सप्लाय होती है , आप गोंद के ladoo , गुड के ladoo जो नट्स घी हल्दी गोंद से मिलकर बने हुए होते है खाएं ये मिल्क प्रोड्यूस करने में हेल्प करेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Brest milk bdhane K liye Kya kiya jaye
उत्तर: हेलो डियर, बेबी 1 महीने का हो चुका है और अभी बच्चे का वजन बढ़ना शुरू हो गया होगा अगर बच्चे का वजन सही अनुपात में बढ़ रहा है मतलब आपको दूध सही आ राहा है लेकिन अगर आपके बेबी का वज़न नही बढ़ रहा है मतलब बेबी को इतना दूध नही मिल रहा . शायद आपको दूध काम आ रहा है , आप बेबी को फॉर्म्यूला milk दि सकती है , या अपने खाने में ये सब शामिल करे , दूध बढ़ेगा . मेथी के बीज,सौंफ,लहसुन,हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, सरसों का साग और बथुआ आदि  जीरा,लौकी व तोरी जैसी सब्जियां,तिल के बीज,जई और दलिया,मेवे. शतावर को दूध में मिलाकर पीने से ब्रेस्ट मिल्क बढ़ता है स्तनपान के दौरान पम्पिंग सेशन से स्तन में दूध की मात्रा बढ़ती है, दूध की आखिरी बूंद के बाद करीब 5 बार स्तन को पंप करें, स्तनपान कराते समय स्तन को बदलें,एक बार स्तनपान कराते समय कम से कम दो से तीन बार स्तन बदलें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Brest milk bdhane K liye Kya kiya jaye
उत्तर: हेलो डीयर सबसे पहले आपको बहुत बहुत बधाइयाँ। आप और आपका बेबी खुब स्वस्थ रहें। दूध बढ़ाने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है - @आप मूँग की दाल मे घी डालकर खाएं और 1 स्पून मेथी दाने, 1 स्पून जीरा गरम पानी के साथ सुबह शाम खाएं इससे मिल्क खुब होता है। @सफेद जीरा, सौंफ तथा मिश्री तीनों का अलग-अलग चूर्ण बनाकर समान मात्रा में मिलाकर रख लें। इसे एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ दिन में तीन बार देने से दूध में अधिक वृद्धि होती है। लगभग 125 ग्राम जीरा सेंककर 125 ग्राम पिसी हुई मिश्री मिला लें। इसको 1 चम्मच भर रोज सुबह और शाम को सेवन करें। जिन माताओं को दूध की कमी हो, उनका दूध बढा़ने के यह बहुत ही लाभकारी है। @ पानी में केसर को घिसकर स्तनों पर लेप करने से स्तनों में दूध की वृद्धि होती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Brest milk bdhane ke liye upay...
उत्तर: kisi b khane ya pine ki cheez m ajwayen daal k khaye. jese roti k aate m daal de. aur doodh m b daal k pi sakte h. mne piya tha mughe b kuch had tk fark mehsoos hua
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: breast milk bdhane k liye patanjali ka shatavar churn le skte h kya...??
उत्तर: Hi, you can take. Here are some foods and remedies ,which can help to increase breast milk supply. Masur Dal... This is most important. Take everyday one glass masur dal with ghee. Oatmeal... cinnamon or honey. ... Spinach. ... Garlic. ... Brewer's Yeast. ... Fenugreek. ... Apricots..... Here is a simple homemade powder for increasing milk supply in lactating mothers. Dry roast equal quantities of cumin and fennel seeds till they turn aromatic. Cool them and grind to powder. Mix ½ tsp powder in ½ tsp warm ghee and consume 30 minutes before food 2 to 3 times a day. Desi ghee works best. This can be consumed for 2 weeks, followed by a break for 4 to 5 days and then repeat the cycle. This also helps to reduce colic in breastfed babies. A small portion of ajwain/ carom seeds can also be included.
»सभी उत्तरों को पढ़ें