12 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: muje gusa bhut aata h jab se प्रेगनेट hui hu ky karu

3 Answers
सवाल
Answer: hello dear एक स्वस्थ गर्भावस्था पाने के लिए और साथ ही अपने गुस्से को भी नियंत्रित करने के लिए, गर्भवती महिलाओं को कुछ खास कदम उठाने की जरूरत होती है।   गुस्‍से पर काबू पाने के उपाय   स्वस्थ खानपान अपनाएं गर्भावस्था में महिलाओं को अपना भोजन बहुत सोच-समझकर चुनना चाहिए। कई बार महिलाएं पौष्टिकता के चक्कर में ऐसा भोजन अधिक खा लेती हैं जिसकी उन्हें जरूरत नहीं होती। नतीजतन उनके शरीर पर नकारात्म‍क प्रभाव पड़ता है। वे ओवरवेट हो जाती हैं। और अगर आप कामकाजी महिला हैं तो गर्भावस्था के दौरान आपको अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अपने भोजन में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं। आपके लिए नट्स, हरी पत्तेदार सब्जियां और साबुत अनाज और उससे बनी रोटियां या ब्रेड मुफीद रहेंगी। दो भोजन के बीच में आप सलाद और ताजा फल ले सकती हैं।   एक्टिव रहें नियमित व्यायाम करें। व्यायाम गर्भावस्था के दौरान आपके गुस्‍से को नियंत्रित करने में मदद करता है। रोजाना 15 मिनट तक योग करना या फिर कुछ देर तक टहलना ही आपको भावनात्मक उथल-पुथल से निजात दिलाने में मदद करेगा। इसके साथ ही आप कुछ स्ट्रेचिंग व्यायाम भी कर सकती हैं। इससे आपके शरीर में रक्त संचार सही बना रहेगा। साथ ही आप पैरों में सूजन और कमर दर्द जैसी समस्याओं से भी बची रहेंगी। और तो और छोटे मोटे घरेलू काम भी आपको एक्टिव रखते हैं।   रिलेक्स रहें इंजॉय करें दिनभर में कुछ बढि़या वक्त अपने लिए भी निकालें। वक्त मिले तो फिल्म देखने जाएं या फिर संगीत सुनें। संभव हो तो स्पा थेरेपी लें। ये सब काम आपको आनंदित रखेंगे और आप रहेंगी एक्टिव।   बहस से बचें जब भी आपको इस बात का अहसास हो कि बहस गर्म होने वाली है और बेहतर रहेगा कि आप वहां से दूर हट जाएं। जो बात आपको गुस्सा दिलाती है उससे दूरी ही अच्छी। एक और तरीका यह है कि आप सामने वाले को बता दीजिए कि आप इस बात को लेकर सहज नहीं हैं और बेहतर रहेगा कि इस बारे में बात न ही की जाए।  सहज रहें कोई काम बोझिल होकर न करें। हर काम में सहज रहें। आरामदायक कपड़े पहनें। खुश रहें और चिड़चिड़ेपन से दूर रहें। खुले कपड़े आपको अधिक सहज रखेंगे साथ ही आप अधिक कम्फर्टेबल भी महसूस करेंगी।   अगर इसके बावजूद आप अपने गुस्से पर काबू रख पाने में कामयाब नहीं होती हैं, तो चिकित्सीय सलाह लेने में परहेज न करें।
Answer: hello dear एक स्वस्थ गर्भावस्था पाने के लिए और साथ ही अपने गुस्से को भी नियंत्रित करने के लिए, गर्भवती महिलाओं को कुछ खास कदम उठाने की जरूरत होती है।  गुस्‍से पर काबू पाने के उपाय स्वस्थ खानपान अपनाएं गर्भावस्था में महिलाओं को अपना भोजन बहुत सोच-समझकर चुनना चाहिए। कई बार महिलाएं पौष्टिकता के चक्कर में ऐसा भोजन अधिक खा लेती हैं जिसकी उन्हें जरूरत नहीं होती। नतीजतन उनके शरीर पर नकारात्म‍क प्रभाव पड़ता है। वे ओवरवेट हो जाती हैं। और अगर आप कामकाजी महिला हैं तो गर्भावस्था के दौरान आपको अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होती है। अपने भोजन में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं। आपके लिए नट्स, हरी पत्तेदार सब्जियां और साबुत अनाज और उससे बनी रोटियां या ब्रेड मुफीद रहेंगी। दो भोजन के बीच में आप सलाद और ताजा फल ले सकती हैं।  एक्टिव रहें नियमित व्यायाम करें। व्यायाम गर्भावस्था के दौरान आपके गुस्‍से को नियंत्रित करने में मदद करता है। रोजाना 15 मिनट तक योग करना या फिर कुछ देर तक टहलना ही आपको भावनात्मक उथल-पुथल से निजात दिलाने में मदद करेगा। इसके साथ ही आप कुछ स्ट्रेचिंग व्यायाम भी कर सकती हैं। इससे आपके शरीर में रक्त संचार सही बना रहेगा। साथ ही आप पैरों में सूजन और कमर दर्द जैसी समस्याओं से भी बची रहेंगी। और तो और छोटे मोटे घरेलू काम भी आपको एक्टिव रखते हैं।   रिलेक्स रहें इंजॉय करें दिनभर में कुछ बढि़या वक्त अपने लिए भी निकालें। वक्त मिले तो फिल्म देखने जाएं या फिर संगीत सुनें। संभव हो तो स्पा थेरेपी लें। ये सब काम आपको आनंदित रखेंगे और आप रहेंगी एक्टिव।  बहस से बचें जब भी आपको इस बात का अहसास हो कि बहस गर्म होने वाली है और बेहतर रहेगा कि आप वहां से दूर हट जाएं। जो बात आपको गुस्सा दिलाती है उससे दूरी ही अच्छी। एक और तरीका यह है कि आप सामने वाले को बता दीजिए कि आप इस बात को लेकर सहज नहीं हैं और बेहतर रहेगा कि इस बारे में बात न ही की जाए।  सहज रहें कोई काम बोझिल होकर न करें। हर काम में सहज रहें। आरामदायक कपड़े पहनें। खुश रहें और चिड़चिड़ेपन से दूर रहें। खुले कपड़े आपको अधिक सहज रखेंगे साथ ही आप अधिक कम्फर्टेबल भी महसूस करेंगी।   अगर इसके बावजूद आप अपने गुस्से पर काबू रख पाने में कामयाब नहीं होती हैं, तो चिकित्सीय सलाह लेने में परहेज न करें।
Answer: meri beti 4 years ki hai uski pet pe baal hai jada muje bhut tension ho ri h kya karu प्लेअस kuch upye batha do
  • avatar
    Poonam Garg867 days ago

    kisi ne reply नही kiya

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: muje dudh km aata h ky kru
उत्तर: हेलो डियर 6 महीने का बेबी के लिए मां का दूध बहुत जरूरी होता है मां का दूध देने के लिए अमृत के समान होता है फिर भी यदि आपका दूध काम आ रहा है और बेबी का पेट नहीं भरा तो आप बेबी को फॉर्मूला मिल्क piला सकती हैं मैं आपको दूध बढ़ाने के कुछ घरेलू उपाय बताती हूं चावल ऑर थोड़ा शा सफ़ेद ज़ीरा दूध में डालकर खीर बनाए ऑर इसे रोज खाए ऐसा करने से दूध बढ़ेगा एक ग्लास दूध में सतवर का एक चमच चुरन मिला कर पीएं शाम के टाइम पेट भर दूध ऑर डलिया खाए इस्से दूध में कमी नही होती पपीता रोज खाए इसको रेग्युलर खाने से दूध अच्छा आता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: jab se m pragnent hui hu meri vegina se bht smale aati h .. kia karu
उत्तर: हेलो . आप 13 week प्रेगनेट है और आपके वैजिना से स्मेल आ रही है आप आप परेशान ना हों योनि के आस पास सफ़ाई रखें दिन में 3 बार आप नीचे साफ़ करे अंडर वियर ज़्यादा टाइट ना पहनें कपड़े साफ़ सुखे हुई और कॉटन के पहनें पानी खूब पीये ताकि बॉडी की सारी गन्दगी यूरिन से निकल सकें आप लिक्विड फ़ूड जैसे नारियल पानी ज्यूस भी पीये आप वी वाश क्लीन एन ड्राइ जैसे प्रॉडक्ट भी वैजिना साफ़ करने के लिए कर सकती है जिससे आपको वैजिना में होने वाले स्मेल से राहत मिलेगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje bhi gusa or rona jyada kyu aata he
उत्तर: हेलो आप 20 वीक प्रेगनेट है आप को बहुत गुस्सा और रोना बहुत आ रहा है प्रेग्नेसी में हार्मोन में बदलाव के कारण मूड स्विंग हो जाता है जैसे छोटी छोटी बातों पर रोना आना इरिटेट होना बहुत ज़्यादा गुस्सा आना किसी से बात करने की इच्छा ना होना सब नॉर्मल है पर आपको कोई समझ तभी पायेग जब आप अपनी फीलिंग्स शेयर करेगी आप बाहर जाइए खुली धुप हवा में जाइए अपने पार्टनर से बातें करे कि आपको कैस फील हो रहा है वॉक करे ज़्यादा सोचिए नही म्यूज़िक सुनें जो मन हो वो करे पर तनाव ना ले बच्चे के लिए खुश रहें आप खुश रहेगी तभी तो बेबी भी मुस्कुराता हुआ होगा .चाय कोफ़ी कम पीये टी.वी. मोबइल का यूज़ कम करे सन्तुलित डायट ले पानी खूब पीये . तनाव ना ले हमेशा ऐसा नही रेहने वाला h सब जल्दी नॉर्मल हो जाएगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें