13 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mjhe nind bahut aati h aur chakar bhi ky kru tips bataye

1 Answers
सवाल
Answer: फर्स्ट ट्राइमेस्टर में हार्मोन्स के उतार चढ़ाव के कारण ऐसा होता है । आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिए , पौष्टिक आहार ले , हल्का व्यायाम या योगा करे और तनाव मुक्त रहे ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mujhe nind bahut aati h per bhut dard hota h
उत्तर: Hi dear, I am sorry ki aapko is takleef se guzarna padh Raha hai.but pregnancy me is Tarah Ka leg pain bohat common hai.ye zyada tar body fluid ke badhtey pressure ke Karan hota hai.aur upar se,legs me pure body Ka pressure rehta hai,isliye waha zyda strain rehta hai.zyada Der tak ek jagah par khade na rahe.legs ko hamesha upar support karke rakhe,neeche latka ke na baithe. keep.moving.i know aapko bohat dard hota hai,but jitna move karengi,utna circulation badhega aur dard Kam hoga.warm oil massage kare daily.khane me namak Kam le.vitamin supplements leti rahe.khoob Pani bhi pijiye.pani ki kami se bhi is Tarah ke cramps aate rehte hai. aap regularly healofy app ko follow kare,Uske daily tips aur baby growth and development ko padhe.post pregnancy,baby diet and mother diet along with baby care ke kaafi information app me rehtey hai.donot miss out!
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe nind bahut aati h subha bhi mann nhi karta uthne ka bahut nind aati h din me bhi
उत्तर: हेलो डियर आपको 19वीक की प्रेग्नेंसी चल रही है प्रेगनेंसी में हारमोंस बदलाव के कारण शारीरिक परिवर्तन आता है जिसके कारण नींद आना बहुत ही सामान्य प्रॉब्लम है इसके लिए आप परेशान ना हों अधिक से अधिक आराम करें नींद ना आने के लिए आप कोशिश ना करें जितनी अच्छी नींद आएगी बेबी का विकास उतना ही अच्छे से होगा इसलिए कोशिश करें कि जब भी आपको नींद आए आप थोड़ी सी नींद ले लें अगर लंबे समय तक सोते नहीं बन रहा है आपकी अच्छी नींद से आपको शारीरिक व मानसिक रुप से राहत मिलेगा शारीरिक दर्द में कमी आएगी और बेबी के विकास में भी मदद मिलेगा इसलिए आप परेशान बिल्कुल भी ना होए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Muze nind bahot aati hai aur thakahn bhi bahut hai...
उत्तर: प्रेग्नेन्सी के दौरान नीन्द और थकान विकनेस की वजह से होता है आप अपने खान पान पर ध्यान दीजिए .दूध दही छाछ पनीर टोफू इत्यादि का भी सेवन करना चाहिए इससे आपको कैल्शियम की पूर्ति होगी। प्रतिदिन दो से तीन बादाम भिगोकर खाएं इससे आपके बच्चे के मस्तिष्क का विकास बहुत अच्छे से होगा ड्राई फ्रूट्स ऑफ आ सकती हैं। फाइबर युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन भी अधिक करें ताकि आपको कब्ज जैसी समस्या ना हो। प्रेगनेंसी के दौरान आपको तीन से चार बार तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए और 10 से 12 गिलास पानी प्रतिदिन पीना चाहिए। ताजे फलों का सेवन करना चाहिए और ताजा जूस निकालकर घर पर ही पीना चाहिए इसके साथ-साथ आप को हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन अधिक करना चाहिए इससे आपको आयरन मिलेगा । प्रेगनेंसी के दौरान चाय कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए अल्कोहल नहीं लेनी चाहिए स्मोक नहीं करना चाहिए पेप्सी कोका कोला इस प्रकार की कोई भी ड्रिंक नहीं पीनी चाहिए डिब्बाबंद सामान का प्रयोग नहीं करना चाहिए समुद्री मछली का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए पोलूटेड मछली की वजह से आपकी प्रेगनेंसी पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें