3 महीने का बच्चा

Question: baby kis month se paltna start karte hai

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear बेबी 3 मंथ से सर उठाना शुरू कर देता है और उसके बाद धीरे धीरे पलटना शुरू करने लगता है । आप परेशान मत हो ।नॉर्मली बेबी 4 से 5 महीने में करवट लेना शुरू कर देते है ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: baby kis month se paltna start karte hai
उत्तर: हेलो डियर सभी बच्चों की ग्रोथ एक समान नहीं होती है इसलिए कुछ बच्चे जल्दी पलटते हैं कुछ बच्चे देरी से पलटते हैं पर प्रायः बच्चों की पलटने की स्थिति 4 से 5 महीने के बीच के आस पास होती है और अभी आपका बेबी बहुत छोटा है इसलिए आप टेंशन ना ले बच्चा धीरे धीरे पलटने लगेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Maam baby ka moment kis month se feel karte hai
उत्तर: जैसे जैसे आपकी प्रेगनेंसी बढ़ेगी आपका बेबी बहुत फ़ास्ट ग्रो करने लगेगा । आपको बेबी का मूवमेंट ४सी५महिने में पता चलेग। फ़र्स्ट Pregnancy में ज्यादातर माँ को यह समझ नहीं आता. बेबी लगभग 4 inch से 4.5 inch तक बड़ा हो जाएग। तब तक आपके बेबी के छोटे छोटे हाथ पैर भी बन जायेंगे और बेबी किक करना भी स्टार्ट कर देंगे । तब आपका पेट भी हल्का दिखने लगेगा. आप बेबी के सही विकास की लिए बैलेंस्ड एंड हेल्थी डाइट लीजिय।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: baby ki movemnet kis month se start hota hai
उत्तर: हेलो डियर बेबी की मूवमेंट आप 17 वें हफ्ते से 21 हफ्ते के बीच महसूस कर सकती हैं। इससे पहले आप शिशु की हलचल को महसूस नहीं कर सकती हैं। लेकिन, जैसे-जैसे वह बड़ा होने लगता है वैसे-वैसे उसके मूवमेंट में भी तेज़ी आने लगती है.पहली बार जब भ्रूण कि‍क मारता है तो आपको सनसनाहट जैसा महसूस होता है, जैसे कोई सरसराती चीज आपको छूती हुई निकल गई,जैसे एक मछली आसपास घूमती है, यानी संचलन जैसा आभास आप महसूस करेंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya baby ko gripe water dena jaruri hota h y kis month se start karte h dena
उत्तर: hello...dear...शिशु को शुरुआत के छह महीने माँ का दूध दिया जाना चाहिए। ताकि शिशु को इसका असर पूरी उम्र मिल सके, क्योंकि स्तनपान शिशु को बहुत सी बिमारियों से बचाने का काम करता है... दूसरी जो सबसे बड़ी समस्या है वह यह है कि ग्राइप वॉटर बनाने वाली कंपनीज़, शुगर (चीनी) का भरपूर इस्तेमाल करती है। जो कि शिशु के शरीर पर और आने वाले दाँतों पर बुरा असर डालता है। इसलिए ग्राइप वाटर देने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें, कि आपके शिशु के लिए सही है या नहीं.... घुटटी और gripe water डॉक्टरों द्वारा सलाह नहीं दी जाती है। उनके अनुसार --- वे बच्चे को क्रैकी बनाते हैं पाचन तंत्र खराब करें। कभी-कभी वे एलर्जी का कारण हो सकते हैं। उनमें बड़ी मात्रा में चीनी होती है जो दांत क्षय के जोखिम को बढ़ा सकती है। gripe water और ghuttu बच्चे की भोजन की आदत को प्रभावित कर सकती हैं। कुछ गंदे पानी में अल्कोहल और कृत्रिम स्वाद होते हैं जो बच्चों के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। उनमें बेकिंग सोडा भी होता है। बेकिंग सोडा को colic baby को नहीं दिया जाना चाहिए...ok
»सभी उत्तरों को पढ़ें