4 months old baby

Question: baby ko rash ho rje to bhi m dyper phna skti hu kya

1 Answers
सवाल
Answer: हैलो डियर-बच्चों को डायपर रैशेज से बचाने में नारियल का तेल काफी असरदार है।बच्चे के शरीर पर डायपर रैशेस वाली जगह पर नारियल तेल लगाएं। ऐसा करने से इंफेक्शन ख़तम होंगे । नारियल का तेल बच्चे की त्वचा पे नमी बनाये रखने में भी मदद करता है।  ।नारियल के तेल की तरह पेट्रोलियम जेली भी बच्चे की त्वचा पे नमी बनाये रखने में मदद करता है और साथ ही डायपर रैशेस से आराम भी पहुंचता है। डायपर रैशेस  से होने वाली जलन को भी पेट्रोलियम जेली ख़तम करता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kya sardi m baby ko daily dyper phna skte h m humesha dyper cocont oil lgakr phnati hu jiss rash na ho ye thik h kya...
उत्तर: हेलो डियर , आप अगर बेबी को डायपर पहनाने से पहले नारियल का तेल लगाती है तो आपके बेबी को ऐसे रैशेस नही होगा , आप डायपर पहनाने से पहले बेबी को वैस्लीन भी लगा सकती है सर्दियो में आप बेबी को डायपर पहना कर रखें क्युकी इससे बेबी को सर्दी नही लगेगी लेकिन आपको बीच बीच में चेक करते रहना चाहिये , जरा भी गीला डायपर होने पर तुंरत बदल देना चाहिये !
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby 20 days ka h kya m rat me use dyper phna skti hu puri rat k liye ..
उत्तर: हेलो डियर आप अपने बेबी को डायपर पहना सकते हैं दिन में भी और रात में भीअगर आपको बीच-बीच में डाल पर चेक करते रहना चाहिए क्योंकि कभी-कभी डायपर लीकेज हो जाता है जिस वजह से बेबी को गीलापन महसूस होता है और पन की वजह से सर्दी भी हो सकती है इसलिए आप बीच-बीच में डायपर चेक करते रहें बेबी को एक बार यूज किया हुआ डायपर दोबारा ना पहना बेबी को एक डायपर कम से कम 5 से 6 घंटे ही पहना है इससे ज्यादा बेबी को डायपर ना पहना है उसके बाद आप दोबारा दूसरा डायपर पहना सकती हअगर एक डायपर को 5 से 6 घंटे तक ही उपयोग करें इससे ज्यादा ना करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya mai apne baby ko hmesha daypar phna skti hu
उत्तर: हैलो डियर-जी हां आप 6 महीने के बच्चे के लिए भी डायपर यूज कर सकते हैं मार्केट में कई डायपर कंपनियां है जिसे आप यूज़ करते हैं जैसे हगीज पोको पेंट यह सभी बहुत ही अच्छे होते हैं पर डायपर रैसेश कि डर बनी रहती है इसलिये लगातार न पहना कर आप रात और बाहर जाते समय बच्चे के लिये डायपर युज करें।डायपर यूज से सफाई तो बनी रहती है साथ ही बच्चे को इंफेक्शन से भी बचाया जा सकता है। बस आपको हर एक घंटे में चेक करते रहना चाहीये की बच्चा डायपर में सुसु पौटी तो नही किया है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें