36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: ultrasoundai baby head niche h muje ab kya kya dhayan rakhna chahiy nd delvry jaldi bhi skte h kya pls batey?

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear अगर बच्चे का सिर नीचे की और आ चुका है तो डिलीवरी जल्दी होने की संभावना है और इस स्थिति में आपको ज्यादा चलने फिरने तक में झुकने और वजन उठाने वाला काम नहीं करना चाहिए अधिक से अधिक आराम करना चाहिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 15week chal raha h meri ultrasound mai placenta niche h nd niche pat mai muje bht pain bhi hota h pls batey muje kin bato ka dhayan raknha chahiy pls rply dijiy
उत्तर: अगर आपको ज्यादा पेट में दर्द होता है तो आपको जरूर डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.. Placenta एक ऐसा ऑर्गन है जो बच्चे को माता से ब्लड सप्लाई करता है और न्यूट्रीशन पहुंचाता है। इसकी पोजीशन यूट्रस में कहीं भी हो सकती है यह तो ऊपर छतरी के सामान रहेगा या आगे या पीछे या फिर कभी कभी किसी किसी केस में yeh नीचे की ओर भी अटैच हो जाता है। लो प्लेसेंटा होने की स्थिति में ज्यादातर माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि बच्चा जैसे-जैसे ग्रोथ करता है, उसका दबाव प्लेसेंटा पर पड़ता है और आपको कभी भी ब्लीडिंग स्पोटिंग होने की संभावना रहती है। इसलिए हमेशा माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है । इस केस में माताओं को ज्यादा झुक कर और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा exertion वाले एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए। लो प्लेसेंटा ज्यादातर स्कैन के द्वारा शुरुआती महीनों में ही पता चल जाता है यह प्रेगनेंसी के अंत अंत तक ठीक भी हो जाता है। क्योंकि हमारी यूटरस का साइज़ बढ़ता है और प्लेसेंटा नीचे से साइड की तरफ शिफ्ट हो जाता है। इसमें घबराने की कोई बात नहीं है इसमें आपको हमेशा नॉर्मल डिलीवरी अवॉइड करने की सलाह देते हैं क्यूकी प्लेसेंटा सर्विक्स को कवर करके रखता है और नॉर्मल डिलीवरी के केस में बच्चा पहले निकलना चाहिए उसके बाद प्लेसेंटा लेकिन लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है। डॉ इस समय पर इंटर कोर्स करने से भी हमेशा मना करते हैं पूरी प्रेगनेंसी में आपको अपना खास ध्यान रखना पड़ता है अब ज्यादा हैवी सामान भी नहीं उठाई है आराम कीजिए और पौष्टिक आहार लेते रहिए हल्की वॉक कर सकते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 6month chal raha h baby ka wait kam h nd movment bhi din mai ek 2 bar hota h kya karna chahiy pls batey
उत्तर: इसके लिए आप अपने खानपान पर विशेष ध्यान दीजिए।आप संतुलित आहार लीजिए खाने में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट विटामिन मिनरल ज्यादा लीजिए आप हल्का फैट वाला खाना भी खा सकती हैं जो आसानी से पचने वाला हो। आप अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां दाल चावल रोटी ग्रीन वेजिटेबल्स दूध दही पनीर अंडा अंकुरित अनाज हरि पत्तेदार सब्जियां ताज़े फल सलाद ड्राइ फ्रूट्स यह सब ऐड कीजिए। दिन में कम से कम दो से तीन फल खाने की कोशिश कीजिए फलों का जूस और तरल पदार्थ लेते रहिए यह सब पौष्टिक आहार आपके बेबी को ग्रोथ करने में बहुत मदद करेगा बच्चे का मूवमेंट दिन में कम से कम 15baar होना जरुरी हैं कभी कभी बच्चे सोते रहते हैं. यदि आपको मूवमेंट मेहसुस नहीं हो रही है तो आप ठंडा पानी पीजिए अपने पेट me हाथ फेरते रहिये... आप आराम से बेड पर लेट jaye और अपनी baby के मूवमेंट को ध्यान से नोटिस करते रहेंगे। आप कुछ मीठा भी खा कर देख सकती हैं कभी-कभी क्या होता है हमें भूख लगती है इसके कारण बेबी सो जाता है कुछ खाने के बाद बेबी की मूवमेंट में ज्यादा फर्क आता है और ज्यादा हलचल हमें महसूस होती है। इसलिए आप कुछ खाने के बाद अच्छे से अपने पेट को नोटिस करते रहिए।अगर कुछ मूव मेंट ना दिखे या बहुत कम दिखे तो डॉ को जरूर दिखाए...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kesar kha sakte h kya?nd milk mai mai kitne pati dalkar pina chahiy daily pls batey
उत्तर: हेलो हाँ आप केसर मिल्क में डाल कर पी सकती है . इसका यूज़ सिमित मात्रा में करे केसर की 2 से 3 रेशे ही मिल्क में पर्याप्त है इसका अधिक सेवन करने से गर्भवती महिला और उसके बच्चे को नुकसान भी हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान शरीर में हार्मोन में बदलाव आने की वजह से उन्हें हैवी फूड नहीं पच पाता जिस वजह से अक्सर महिलाओं का पेट खराब रहता है। ऐसे में केसर वाला दूध पीने से पाचन मजबूत होती है प्रैग्नेंसी के दौरान महिलाओं को तनाव की वजह से ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाता है। केसर दूध का सेवन करने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है l
»सभी उत्तरों को पढ़ें