22 weeks pregnant mother

Question: aap rozanapregnancy m exersice k photo or unke baare m batay

सवाल
Answer: प्रेगनेंट औरतों को योगा या एकसरसाइज शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीये ।योगा या एक्सरसाइज चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है आपको अपने डाक्टर से मीलकर अपने लीये सुटेबल एक्सरसाइज अपनानी चाहीये क्युंकी आपके डाक्टर ही आपका सही कंडीसन जानते हैं। सुबह शाम टहलना गर्भावस्था में सबसे अच्छा एक्सरसाईज है।प्रेगनेंसी में जो भी एक्सरसाइज वाली विडीयो जो आप देखना चाहती है वह इस एप के मेन पेज के वीडियो में है।आप वहां से विडियों देख सकती हैं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kya aap mujhe teeke के baare me bta sakte ho
उत्तर: जन्म के समय बच्चे कमजोर होते हैं। उनमे रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक छमता नहीं होती है। इसीलिए बच्चों का टीकाकरण जरुरी होता है। टीकाकरण से बच्चों के शारीर में antibodies बनते हैं जो बच्चे के शारीर को बिमारियौं से लड़ने के लिए तयार करतेहर माँ-बाप अपने बच्चे की अच्छी देखभाल मैं कोई कसार नहीं छोड़ते हैं।  मगर अच्छी देखभाल करने के लिए जानकारी भी तो होना जरुरी है। इसीलिए माँ-बाप को बच्चों से सम्बंधित हर जानकारी से वाकिफ होना चाहिए।मैं हमारी यही कोशिश रहती है की हम माँ-बाप को बच्चों से सम्बंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करा सकें जिससे की वे अपने बच्चों का अच्छा ख्याल रख सकें। जानकारी होने पे बच्चे की बीमारी में माँ-बाप सही देख-रेख करने मैं सक्षम होते हैं।  
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya m 9 manth m बटरफ्लाई exersice kr sakti hu
उत्तर: प्रेगनेंट औरतों को योगा या एकसरसाइज शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीये ।योगा या एक्सरसाइज चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है आपको अपने डाक्टर से मीलकर अपने लीये सुटेबल एक्सरसाइज अपनानी चाहीये क्युंकी आपके डाक्टर ही आपका सही कंडीसन जानते हैं। सुबह शाम टहलना गर्भावस्था में सबसे अच्छा एक्सरसाईज है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: tiffa scan k baare mei bayaye
उत्तर: हेलो डियर teefa का टेस्ट करवा सकती हैं मगर डॉक्टर के कहने पर ही करवाएंयह टेस्ट 18 से 23 सप्ताह के बीच में किया जाता हैइस टेस्ट के माध्यम से बेबी के सभी अंग नॉर्मल तरीके से बने हैं या नहीं यह पता किया जाता हैइस टेस्ट के द्वारा बेबी के विकास और उसके हलचल को बारीकी से chek किया जाता है इस पोस्ट के माध्यम से आपको पता ही है चल पाता है कि बेबी को यदि कोई जन्म दोष है तो वह इस टेस्ट के माध्यम से साबित हो जाता है फीफा टेस्ट के माध्यम से बेबी के गर्भनाल के स्थिति क भी पता चलता है इसलिए आप पांचवे महीने में डॉक्टर के सलाह से tifaa टेस्ट करवा सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें