1 months old baby

Question: aaj mera baby pata ny kyu bar bar poty kar raha he or jor bhi bohot karta he par thik se nind ny karta he feeding bhi achese karta he kya karoo??

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर छोटी बेबी का दिन में 5 से 6 बार पॉटी करना बिल्कुल नॉर्मल है यदि बेबी फीड करने के बाद पॉटी कर देता है तो इसमें भी घबराने वाली कोई बात नहीं है क्योंकि यह बिल्कुल सामान्य बात है यदि आपका बेबी अच्छी तरह से दूध पी रहा है फार्मूला मिल्क है या फिर मां का दूध अच्छे से पी रहा है और बेबी को पांच छह बार पोटी हो रही है दिन में तो बिल्कुल भी घबराए नहीं आपका बेबी स्वस्थ है यदि आपका बेबी दिन में 8 से 10 बार पतली पानी की तरह पोटी करता है तो आप बेबी को डॉक्टर के पास ले जाएं और किसी भी तरह का घरेलू नुस्खा आजमाएं डॉक्टर के सलाह से ही मेडिसिन दें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hello mem mera baby din me kayi bar poty or susu karta he tab rota he or din me nind bhi thik se ny karta he pata ny kyu bataiye me kya karoo??
उत्तर: छोटे बच्चे दिन में ८- १० बार पॉटी करे या सु सु करे तो नार्मल है. पर उस वक़्त वो रो रहा है उसका मतलब उसके पेट में गैस है. छोटे बच्चो में गैस की प्रॉब्लम आम बात है. उसके लिए आप उसे हर बार दूध पिलाने के बाद अच्छे से डकार लगाए. उसे अपने कंधे पे रखकर उसकी पीठ को हलके से थोड़ी देर क लिए थपथपाये. उसे बेड पर लेटकर उसके पैरो को साइकिलिंग जैसे एक्सरसाइज करवाए. और ऐसा करने क तुरंत बाद उसके पैर पेट की और ले जाकर हलके से दबाये. ऐसा करने पर उसे गैस से रहत मिलेगी और उसे अच्छा महसूस होगा.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mem mera baby jor lagata he rota he fir bhi poty ny aati kabhi kabhi kya karoo ??
उत्तर: aap exiteted hai i know esa hota he par abhi kapde ny kharidne chahye
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere baby ko chati me cough jama ho gaya he vo thik se so bhi ny pata kya karoo??
उत्तर: हेलो आपका बेबी 1 महीने का है उसके चेस्ट में कफ जमा हो गया है आप बच्चे को nebulise करवाये nebulise करवाने से दवाई की सही मात्रा सीधे चेस्ट में पहुँचती है और जल्दी असर करती है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखें।डायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें