कुछ दिनों का बच्चा

Question: Muje 9manth chalu he ye mera 3ra beby he peheleke 2beby cijereg se huye he par muje beya ki halchal Kam ho rahe he war aaj subase muje ek bar bhi halchal nahe hui he muje Dr ke pas jana chaheyekya

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Muje 4 days se sardi khasi ho gai he dr ne medicine di par kuch farak nai pada to kya muje fir se dr Ke pas jana chaie
उत्तर: हैलो डियर----जैसे ही महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें जल्दी इन्फेक्शन हो जाता है।क्योंकि उनकी बॉडी बहुत ही सेंसिटिव हो जाती है प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है 1) सर्दी खांसी से खुद को बचाने और गर्भावस्था में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आपको अपने डायट में ताजे फल सब्जियां और साबुत अनाज शामिल कर सकती हैं। 2) तरल पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए जैसे अदरक वाली चाय हर्बल चाय और फलों का जूस 3) ज्यादा थके नहीं आराम करें आप जितने आराम से रहेंगे आपको इन्फेक्शन उतना ही कम होगा 4)खासी आने पर ईलायची मुंह में लेखर चुसें। उपाय-- सर्दी होने पर अक्सर नाक बंद हो जाता है तो आप गर्म पानी गर्म पानी का मशीन से भाप ले सकती हैं इसमें आप दो तीन बूंद नीलगिरी का तेल डाल ले इससे सिर के ऊपर तो लिया ढक कर अपना सर बर्तन के ऊपर झुकाकर भाप लें इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सर दर्द कम हो जायेगा और सर्दी से भी राहत मिलेगी साथ ही अगर गले में भी दरद या टांसील हो तो गरम पानी में नमक डालकर दीन में चार पांच बार तो राहत मिलेगी आप तुलसी अदरक का रस आधा आधा चम्म्च मीलाकर पी सकती हैं।इससे सर्दी खांसी में राहत मीलेगी। अगर आपकी सर्दी खांसी ठीक नहीं हो रही है और आप को तेज बुखार है तो आप को बिल्कुल भी देर नहीं करना चाहिए डॉक्टर से कंसल्ट करें और अपनी मर्जी से कोई भी दवाई ना ले ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam mere twins baby he mera 25 week chalu he par kal se muje baby ki halchal mehsus nahi ho rahi he to me kya karu
उत्तर: बच्चा इतना छोटा होता है कि वह मूवमेंट करता तो आपको पता नहीं चलता है बच्चे का मूवमेंट गैस के बुलबुले की तरह होता है इसलिए बहुत से महिलाओं को यह समझ में नहीं आता कि बेबी का मूवमेंट है खासकर के पहले प्रेगनेंसी में आप कोशिश करें कि आप अपने बच्चे की हलचल को महसूस करते रहें जब भी आपको लगे कि आपका बच्चा हलचल नहीं कर रहा है थोड़ा ठंडा जूस पी ले और left ले जाए आपको बच्चे की हलचल महसूस होगी वेट करो 20-30 मिनिट , आपका बेबी मूव करेगा , अगर बेबी नही हिलता तो एक बार डॉक्टर से मिल लो ताकि तस्सली हो जायें की सब ठीक है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera aaj 4 bjese pet dard kar rha he thoda thoda kya muje dr. ke pas jana chahiye ya fir or wait krna chahiye
उत्तर: yes mem.ydi aapko bar bar ruk ruk kr pet me cramps aa rhe hai drd ke sath or discharge ho rha h to aapko jldi hi dr.ke pass jana chahiye ho skta hai ye लेबर pain ho.aapna dhyan bhi rakhiye or bilkul bhi घबराये nhi .all is well.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: i am durring 10 week pregnency muje ye janna he ki spotting kyu hoti he muje aek bar 6 week me hui thi or abhi aek bar hui he dr ne medicine di to thik he lekin ye kyu hota he pls ans do
उत्तर: Spotting is any light vaginal bleeding which occurs at any time other than when a period is due. Spotting between periods is reasonably common. There can be a few reasons why it happens but the most common are hormonal changes and it being due to an implantation bleed. This is what can happen when the newly formed embryo nestles and embeds into the blood thickened lining of the uterus. Common reasons why spotting happens Implantation of the embryo. This is known as an “implantation bleed”. Post coital bleeding (after sex). This can happen because even in very early pregnancy the blood vessels in the cervix become engorged with blood, making it more likely to become irritated and bleed. Miscarriage. Spotting can happen very early in pregnancy, before a woman even realises she is pregnant. An ectopic (tubal) pregnancy. Some forms of contraception such as Implanon, IUDs, patches and hormonal based devices increase the likelihood of spotting occurring. This often settles after an initial couple of months of starting hormonal based contraception and may reappear when ceasing it. This is also known as breakthrough bleeding because it happens in-between periods. Ovulation – This is known as ovulation spotting. This is normal for some women who can experience predictable, light spotting every month at the same time as they ovulate. General hormonal imbalance due to thyroid or ovarian problems, as well as diabetes. Medication side effects. Spotting is more common in women who are taking (some) anti-depressant and corticosteroids (anti-inflammatory) drugs. Taking blood thinning medications such as Heparin, Warfarin or Aspirin. Infection of the vagina, uterus or cervix. Rarely, spotting is due to more serious conditions such as uterine, ovarian or cervical cancer, endometriosis, polyps, fibroids or lesions. Polycystic Ovarian Syndrome (POS). After a vaginal examination such as having a pap smear. Ongoing stress. This can affect all body systems and spotting is one vague but very real symptom of body imbalance.
»सभी उत्तरों को पढ़ें