गर्भावस्था की तैयारी

Question: मेरा पीरियड किसी डेट 5 nov. है... और 2दिन से वाइट डिस्चार्ज bhut हो रहा h... और पेट और उमर bhut दुःख रहा h

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा पेट बहुत दुःख रहा ह एंड वाइट डिस्चार्ज हो रहा ह में क्या करूँ
उत्तर: हाय डिअर प्रेगनेंसी के दौरान मांसपेशियों में खिंचाव पड़ता है बच्चे का वजन धीरे-धीरे बढ़ता है तो मांसपेशियों में खिंचाव पड़ता है इसीलिए पेट में दर्द होता है ऐसा होना नॉर्मल बात है प्रेगनेंसी के दौरान वाइट डिस्चार्ज होना नॉर्मल बात है यदि आपको व्हाइट ऑफ व्हाइट इस तरीके का डिस्चार्ज हो रहा है तो यह एक नॉर्मल बात है और यदि आपको बहुत ज्यादा डिस्चार्ज हो रहा है आपको बार-बार चेंज करना पड़ रहा है और कलर चेंज हो रहा है जैसे हो यलो हो ब्राउन हो पिंकिश कलर हो या मिक्स कलर का हो यदि यह कलर है तो यह बिल्कुल सही है और यदि आपको डिस्चार्ज पानी जैसा हो रहा है बिल्कुल पतला तो इस कंडीशन में आप डॉक्टर के पास जाएं और यदि उसके साथ साथ आपको स्मेल होती है तो यह भी एक फंगल इंफेक्शन हो सकता है और इचीन्ग होते है ये भी फुन्गुस इन्फेक्शन हो सकता है ,आप डॉक्टर से संपर्क उस समय कर सकते हैं और यदि ऐसा कुछ नहीं है तो यह बिल्कुल नॉर्मल है !
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera white discharge bhut ho rha h
उत्तर: सफ़ेद पानी का प्रेग्नेन्सी के टाइम मे निकालना नॉर्मल होता है , गर्भावस्था के समय एक पदार्थ गर्भाश्य ग्रीवा में बनता है जो कि संक्रमण से गर्भाश्य और भ्रूण को सुरक्षा प्रदान करता है और यही पदार्थ सफ़ेद पानी के रूप में योनि के माध्यम से बहार निकलता रहता है. प्रेगनेन्सी के दौरान योनि से निकलने वाले इस सफ़ेद पानी का टेक्सचर भी बदलता रहता है कभी यह कुछ गाढ़ा लोशन जैसा हो जाता है और कभी-कभी गाढ़ा गुलाबी या भूरा हो सकता है. इससे परेशान होने की कोई जरुरत नहीं क्योंकि ऐसा पुरानी और मृत रक्त कोशिकाओं के कारण हो सकता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe 2 din se bhut kamar dard kr rha h or white discharge v ho rha h or bhut becheni horhi he mera delivery date 10december ko h
उत्तर: डियर ..प्रेगनेंसी में वाइट डिस्चार्ज होने से आपके बेबी को अंदर इंफेक्शन का खतरा कम रहता है यह शरीर के बेड हारमोंस को बाहर निकालती हैं..टेन्शन न ले...आप और आप क बेबी बिल्कुल ठीक है...८वे महीने क बाद से ये थोड़ा बढ़ जाता है...यसे कोई दिक्कत आप को नहीं होगी...अगर इसका रंग पूरा सफ़ेद न हो कर थोड़ा मटमैला या हल्का लाल हो और साथ में बदबू or khujli or jalan भी हो तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करे.. कमर क दर्द क लिए आप कुछ घरेलु टिप्स उसे कर सकती है।आप कोई भी भारी सामान न ुटाए..जब भी बैठे कमर क puche पिल्लो या कुषाण लगा क ही रखे।होt बैग का उसे भी कर सकती है...इस पैक भी लगा सकती है...जब भी bed पे लेते तो करवत ले कर ही लेते...or कमर क पीछे और पेरों क निचे पिल्लो रख ले...हलका फुलका एक्सरसाइज भी करे...पेरो को लटका कर न रखे...जयदा देर खड़े न रह...हलका वाक करे... आप अपने कमर की सिखाई गर्म पानी के बोतल से या बर्फ की पोटली से भी करें इससे भी आपको बहुत आराम मिलेगा या आप घर पर अगर कोई हो तो मदद ले और कमर की मालिश करवाएं इससे बहुत जल्दी आपको रिलीf होगा..ok
»सभी उत्तरों को पढ़ें