कुछ दिनों का बच्चा

Question: Mala 9 month chalu ahe pan mala khokala khup yetoy kay karu shakte upay

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मजे पोटच्या वर्ती कड़क कड़क लगते आनी मला खुप खोकला झाला आहे काय करूं?
उत्तर: हॅलो डियर प्रेग्नेंसी मध्ये कधी कधी पोट कडक होणे किंवा पोट थोडं थोडं दुखणे ही सामान्य गोष्ट आहे यात का ळजीचं काही कारण नाही. तुम्हाला जर खोकला झाला असेल तर तुम्ही कोमट पाण्यामध्ये एक चमचा मध आणि लिंबू टाकून प्या यामुळे तुम्हाला खोकला मध्ये लगेच आराम मिळेल. तुम्ही आल आणि तुळशीचा चहा सुद्धा घेऊ शकता यांनी पण तुम्हाला पुष्कळ आराम मिळेल जास्तीत जास्त पातळ पदार्थ प्या आणि तरीसुद्धा तुम्हाला जर का खोकल्याचा खूप जास्त त्रास होत असेल तर तुम्ही एकदा डॉक्टर ांना दाखवून द्या डॉक्टर तुम्हाला औषध देतील कारण गर्भावस्थेमध्ये स्वतःच्या मनाने घेऊ नये स्वतःची काळजी घ्या जास्त जड सामान उचलू नका तुमच्या पोटावर प्रेशर येईल असं कुठलंच काम करूं नका.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Maza 9 month chalu ahe, mala utha , basayla tras hotoy, aani khalchya potion la vazn vatatay, mi kay karu
उत्तर: हेलो बस कुछ दिन की तकलीफ और है थोड़ा सा और बर्दाश्त कर लीजिए 9 महीने में बच्चे का सर सेफेलिक पर आकर फंसता है जिसके कारण दर्द होता है इस टाइम बच्चे का मूवमेंट बहुत कम हो जाता है और बच्चा एक ही जगह पर रहने लगता है जिसके कारण शरीर के निचले अंगों पर उसका भार पड़ता है और निचले अंगों पर बहुत ज्यादा दर्द होता है इस समय आप ज्यादा से ज्यादा आराम करें ज्यादा देर ना खड़े रहे और नहीं बैठे हेल्दी डाइट लें और खूब पानी पिएं गर्म दूध में हल्दी डालकर पिए। गरमा गरम सूप पीये। और डिलीवरी की पूरी तैयारी करके रखें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mala 3rd month chalu ahe mala cough cha tras hoto ahe kahi upay sanga
उत्तर: जब आप गर्भवती होती हैं, तो आपकी प्रतिरक्षण प्रणाली में काफी बदलाव आता है। अब उसका मुख्य मकसद आपके गर्भ में पल रहे शिशु की रक्षा करना होता है। इस वजह से आप सर्दी-खांसी पैदा करने वाले कीटाणुओं के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती हैं।आप सर्दी-जुकाम व खांसी पैदा करने वाले हर विषाणु से तो खुद को नहीं बचा सकती। मगर, नीचे दिए गए उपायों को अपनाकर, आप अपनी प्रतिरक्षण प्रणाली की इनसे लड़ने में मदद कर सकती हैं:(1)संतुलीत आहार लें जिसमें ताजे फल, सब्जियां और साबुत अनाज शामिल हों। इन सबसे बने विविध आहार आपको खनिज व विटामिन प्रदान करेंगे, जिससे आपको संक्रमणों से लड़ने में सहायता मिलेगी।(2)विटामिन व खनिज का स्तर बढ़ाने के लिए पानी हर्बल चाय और फलों के रस जैसे पेय पदार्थ प्रचुर मात्रा में लें। कैफीन युक्त या अधिक मीठे पेय पदार्थों का सेवन कम करें।(3)जब भी थकान महसूस हो, तो अपने शरीर को आराम दें और तनाव मुक्तरहने का प्रयास करें।कुछ व्यायाम भी करें। इससे रक्त संचरण बढ़ाने और संक्रमणों से लड़ने में मदद मिल सकती है।उपाय---बंद नाक--- भाप लेने की मशीन या गर्म पानी के प्याले में नीलगीरि तेल की दो या तीन बूंदे डालें। अपने सिर पर तौलिया ढककर प्याले पर आगे की ओर झुकें और सांस के जरिये भाप अंदर लें। इससे आपकी बंद नाक खुलने में मदद मिलेगी। गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर पिएं। दवा युक्त कैंडी भी गले में राहत के दे सकती हैं। कुछ महिलाएं तुलसी या अदरक की चाय को भी फायदेमंद मानती हैं। . . अगर, आपकी खांसी या जुकाम लगातार बनी हुई है, जो ठीक नहीं हो रही या फिर सर्दी के साथ-साथ आपको तेज बुखार भी है, तो अपनी डॉक्टर से बात करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें