4 weeks pregnant mother

Question: Hlo Dr mera diet chart kya hoga

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर गर्भावस्था में आपको ज्यादा से ज्यादा पौष्टिक भोजन करना चाहिए आप का डाइट चार्ट इस प्रकार है 1. रोज नियमित रूप से दो या तीन गिलास दूध अवश्य पिएं 2. ताजे फलों का सेवन जरूर करें 3. भरपूर मात्रा में सलाद का सेवन करें 4. रोटी जरुर खाएं लेकिन सिर्फ आटे और बसं की। 5. विभिन्न प्रकार की दालों को रोज के आहार मे शामिल करें। उरद की दाल ना खाएं इससे गैस बनती है। अगर खाएं तो दिन मे खाएं। 6. फाइबर वाले आहार जैसे जई, अनार के बीज आदि खाए इससे कब्ज नही होगा। 7. रोज हरी और ताजी सब्जियां खाएं। 8. आयरन और कैल्शियम वाले आहार खुब लें। 9. अजिनोमोटो से बचें और जंक फूड ना खाएं । 10. ऐसा कोई भी भोजन बहुत ज्यादा ना खाएं जिससे गैस बनें। जैसे आलू, मैदे से बनी चीजे, चाय । 11. खुब पानी पीएं रोज 8 से 10 गिलास। इसके अलावा अन्य पेय पदार्थ भी लें जैसे जूस, छाछ, नारियल पानी आदि। 12. दही, मक्खन और सौंफ़ बीज अपने आहार मे शामिल करें इनसे आपको गैस और हार्ट burn की दिक्कत नही होगी। 13. चाय कॉफी ज्यादा ना पिए 14. रोज 2 बादाम भिगोकर खाएं।
Answer: हेल्लो डीयर गर्भावस्था के दौरान आपको संतुलित और स्वस्थ आहार लेने पर खास ध्यान देना चाहिए | इस समय आप सिर्फ अपने लिए नहीं बल्कि अपनी कोख में पल रहे बच्चे के लिए भी आहार ले रही है | दूध और डेयरी उत्पादों का सेवन प्रतिदिन जरूर करें, जैसे दूध, दही, आइसक्रीम, छाछ व पनीर | अगर आप को दूध पसंद ना हो या पचता ना हो तो आप ज्यादा कैल्सियम वाली चीज़ों का सेवन करे जैसे कि छोले, सोया दूध और बादाम आदि | अनाज जैसे रोटी, ब्रेड, चावल आदि का सेवन करे | रोजाना हरी सब्जियों और फलों का सेवन जरूर कर |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: ten+ month ke बच्चे का diet chart kya hoga
उत्तर: बेबी को हर 2-3घंटे मे कुछ ना कुछ खिलाना चाहिए .अगर बेबी सुबह 7-8बजे के आसपास उठता है तो सबसे पहले उसे स्तनपानं या बाहर का दूध पिलाये .फिर 10-11 बजे के आसपास कुछ सॉलिड अनाज जैसे oats,ragi,,dalia ,cerelac आदि milk के साथ बना कर दे सकते hai,बेबी को 6महिने milk ki आदत होती है इसलिए वो मीठा और दूध मिला हुआ खाना ज्यादा पसंद करते है . फिर बेबी अगर जगा हुआ है तो दिन मे 12बजे कोई भी फ्रूट juice जैसे एप्पल जूस ,ऑरेंज जूस ,अनार का जूस ,या banana ,chikoo आदि भी दे सकते है .कोशिश करें के उसे हर दिन अलग अलग फ्रूट का स्वाद मिले ,इससे बेबी खाने से बोर भी नहीं होगा और उसका taste bhi develop होगा . फिर दिन मे 2बजे तक उसे मिक्स वेज खिचड़ी ,या दाल चावल मैश कर के खिलाये .और खिचड़ी मे एक spoon घी या बटर भी डाल दे ,इससे खाने का स्वाद भी बढ़ जायेगा और बेबी सवस्थ भी रहेगा .कोशिश करें ki खाने के बाद बेबी 1-2घंटे की नींद ले ,इससे उसका खाना भी aache से digest होगा aur,शरीर का विकास भी होगा . फिर शाम मे बेबी के उठने के बाद दूध जरूर पिलाये और साथ मे एक बिस्कुट भी dip करके खिला सकते है . और फिर रात मे सोने से पहले कुछ सॉलिड खिला दे ,और बेबी अगर देर रात तक सोता है तो उसे एक बार और दूध पिला सकते है . कुल मिला कर दिन भर मे बेबी को 6-7बार खाना khilana चाहिए ,इससे बेबी का शारीरिक और मानसिक विकास दोनों होता है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera diet chart kya hona chaiye
उत्तर: हेलो डियर आप सब कुछ खा सकती है लेकिन ज्यादा से ज्यादा पौष्टिक भोजन करें जैसे दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें जिससे बॉडी में प्रोटीन और कैल्शियम की कमी नहीं होगी और आपके बच्चे का वजन भी बढ़ेगा साथ ही साथ हरी सब्जी फल का सेवन भी भरपूर मात्रा में करें जिससे बच्चे को हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होगी ज्यादा से ज्यादा पानी पिए और जूस छाछ नारियल पानी का सेवन करती रही यह आपके बच्चे के विकास के लिए सहायक होगा और गर्भावस्था में पेट में होने वाली समस्याओं से भी आप को राहत मिलेगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: HLO dr me ek PCOD psnt hun kya mera concv kabhibhi nehi hoga ?????
उत्तर: hello dear Pcod ya pcos एक ऐसी मैडिकल कंडीशन है जो महिलाओं मे होर्मोनल असन्तुलन के कारण पाई जाती है। इसमे महिला के शरीर मे पुरुष होर्मोन का स्तर बढ़ जाता है। और ओवरी मे एक से ज्यादा सिस्ट हो जाती हैं। इसको पोल्य्सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम या पोल्य्सिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर के नाम से जानते हैं। इसके सिम्पटम्स वजन बढ़ना, अनियमित पीरियड होना, शरीर पर ज्यादा बालो की ग्रोथ होना, मुहासे हो सकते हैं। वैसे तो इसका इलाज डॉक्टर से करवाना ठीक रह्ता है लेकिन आप कुछ घरेलु उपाय भी कर सकती हैं। सबसे पहले अपनी जीवन शैली मे थोड़ा बदलाव करे। मसालेदार और जंक फूड बिल्कुल ना लें। साथ मे दालचीनी गरम पानी मे मिलाकर रोज पिये। अलसी को भी पानी मे मिलाकर पिया जा सकता है। मेथी को रात भर पानी मे भिगो दें सुबाह मेथी दाना शहद के साथ खाएं। एप्पल साइडर विनेगर सुबह २ स्पून १ ग्लास पानी मे मिलाकर पियें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: dr. मेरा diet chart बता दो pls
उत्तर: महिला को गर्भावस्‍था के शुरुआती हफ्तों में अतिरिक्‍त फॉलिक एसिड की जरूरत होती है। जो न्‍यूरल ट्यूब बनाने के काम आती है। जो बाद में चलकर दिमाग और रीढ़ की हड्डी बनती है प्रोटीन और मिनरल्स से भरपूर कच्चाी दूध सेहत के लिए फायदेमंद है लेकिन गर्भवती महिलाएं, गर्भावस्थाक के शुरूआती दिनों में भूल से भी कच्चे दूध का सेवन न करें। ऐसे समय में उबला हुआ दूध का ही सेवन करना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सब्जी और फल खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन ऐसे मौके पर गर्भवती महिलाएं पपीता और अनानास खाने से बचें। गर्भवती महिला को इन सभी विटामिन और खनिजों का सेवन करना बहुत आवश्यक है| विटामिन C कैल्शियम फाइबर विटामिन D जिंक आयोडीन फोलेट विटामिन आयरन प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट फोलिक एसिड etc… दूध, अंडा, गाजर, पालक, हरी सब्जियां, ब्रोकोली, आलू, कद्दू, पीले फल, खरबूजा संतरे, संतरे का रस, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, बीट्स, ब्रोकोली, फूलगोभी, गढ़वाले अनाज, मटर,सेम, नट्स दही, दूध, चेडर पनीर, कैल्शियम-गढ़वाले खाद्य पदार्थ, सोया दूध, रस, रोटी, अनाज, गहरे हरे पत्तेदार सब्जियां.
»सभी उत्तरों को पढ़ें