39 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो क्या चीज़ का dava h अनफोरतां टैबलेट plE बताइय इश्को khane से क्या होगा

1 Answers
सवाल
Answer: आपको यह tab डॉक्टर ने दी हकी या ap apne आप से kha rahe है क्योंकि कोई भी med आप aiसे ना khaye डॉक्टर की सलाह se ही med le
  • avatar
    none none400 days ago

    दर्द की h दवा

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hii mam mujhe koi bhi chij gutakne m bhut problem hoti h plz kuchh btaiy mujhe 3month s bhut dikkat h dava bhi bhut le chuke h plz koi upay btaiy
उत्तर: हेलो टॉन्सिल होने पर कोई भी चीज गटकने ने में दर्द होता है इससे बचने के लिए कुछ उपाय हैं ठंडा या बासी खाना अवॉइड करें कोल्ड ड्रिंक और कोई भी फ्रिज में रखा हुआ पदार्थ ना खाएं बाहर का खाना फास्ट फूड प्रिजर्व फूड प्रोसैस्ड फूड ना खाएं। एक लौंग दो काली मिर्च तुलसी की पत्ती पुदीने की पत्ती डालकर हर्बल टी बनाएं और उसमें कुछ बूंद नींबू रस डालकर पिए । इससे आपके गले के बैक्टीरिया दूर होंगे और आपको दर्द से आराम मिलेगा। आप दो ग्लास पानी में कुछ लहसुन की कलियां थोडी हल्दी और एक चम्मच नमक डालकर उबालें। और उस पानी के गुनगुना होने पर दिन में कम से कम 3 या 4 बार गरारे करें। इससे आपका टॉन्सिल बहुत जल्द ठीक हो जाएगा। आप ताजा बना खाना खाएं और सूप पिएं। इससे बेबी को कोई परेशानी नहीं होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर मेरा पर में बहुत दर्द ह क्या करूं कुछ बताइय दवा भी खाये तो ठीक नहीं हुए आंसर
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना नॉर्मल है जैसे जैसे बेबी का वेट बधता है वैसे वैसे आपका वजन भी बढने लगता है और उसका असर आपके पैरो पर पड़ता है और आप के पैर में दर्द होने लगता है तो आप निम्न उपाय अपना सकती हैं- *आप रोज सुबह कुछ देर टहला कीजिए। *आप अपने पैरों की सिकाई फिटकारी डाले गुन्गुने पानी से कर सकती है। *आप सरसो के तेल में अज्वाइन लेहसुन ड़ालकर पकाइये और ठण्डा होने पर उससे पैरो की मालिश कीजिये आपको बहुत आराम्ं मिलगा। *आप पैरों की थोड़ी स्ट्रेचिंग करके भी उसका दर्द दूर कर सकती है।आप पैरो का दर्द दुर करने के लिये कुछ एक्सरसाइज भी कर सकती है। *आप अपने खानपान्ं का भी ध्यांन रखिये।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ऐसी क्या चीज़ h जिसे खाने से बेबी का कलर फेयर होता h
उत्तर: ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे बेबी को आप गोरा कर सकती हैं क्योंकि आपके कुछ खाने या पीने से बेबी का कलर नहीं फेयर होता है ।बेबी का कलर उसके माता पिता के जींस पर निर्भर होता है कभी-कभी अनुवंशीक कारणों के द्वारा भी ऐसा हो जाता है।अगर आपके घर में किसी का कलर डार्क है तो हो सकता है कि बच्चे का कलर भी डार्क हो । उसके घर में बेबी के मां का या बाप का कलर फेयर है तो बच्चे का कलर भी फेयर हो सकता है यह कहना थोड़ा सा मुश्किल है कि आप कुछ खाएंगी या पिएंगी या कुछ करेंगी तो आपके बच्चे का कलर फेयर होगा। आपके कुछ खाने या पीने से केवल बच्चे की ग्रोथ अच्छी होती है और बच्चा स्वस्थ होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें