37 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Hello Mam mera 36 week chal rha hai altrasound me pta chla ki baby ke head me blood flow normal se jyada hai isse koi problem hogi ky .. blood flow kitna chahiye

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hello mam ... mera abhi 26 week chal rhe hai meri sonography report me baby ki kisi vein me blood kam velocity se jaa rha hai .. ye prblm aayi h आप btaiye isse baby me koi problem to nhi hogi ??
उत्तर: इसमें परेशान ना हो डॉक्टर के साथ लगातार संपर्क में बने रहें . जो भी वह टेस्ट बोले समय पर सारे टेस्ट करवाएं. दवाइयां जो डॉक्टर के द्वारा बताई गई है वह समय पहले . अपना पूरा ध्यान रखें . पौष्टिक आहार ले .समय पर सोए .पानी खूब पिएं.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hello mera 5 month ka last week chal rha hai aur mujhe pta chla hai ki mera playsenta niche hai kya usse normal delvari m koi problam hai
उत्तर: हैलो डियर-इस स्थिति में जादा झुक कर थकने सफर करने और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा थखने वाले एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए। डॉ इस समय पर सेक्स करने से भी हमेशा मना करते हैं पूरी प्रेगनेंसी में आपको अपना खास ध्यान रखना पड़ता है लो प्लेसेंटा ज्यादातर स्कैन के द्वारा शुरुआती महीनों में ही पता चल जाता है यह प्रेगनेंसी के अंत अंत तक ठीक भी हो जाता है। क्योंकि हमारी यूटरस का साइज़ बढ़ता है और प्लेसेंटा नीचे से साइड की तरफ शिफ्ट हो जाता है। इसमें घबराने की कोई बात नहीं है इसमें आपको हमेशा नॉर्मल डिलीवरी अवॉइड करने की सलाह देते हैं क्यूकी प्लेसेंटा सर्विक्स को कवर करके रखता है और नॉर्मल डिलीवरी के केस में बच्चा पहले निकलना चाहिए उसके बाद प्लेसेंटा लेकिन लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam mujhe thyroid ki problem hai kya isse bachho pr koi problem nhi hogi n
उत्तर: हेलो ... थाइरॉइड ग्रंथि के बढ़ने पर काई तरह की समस्या आ सकती है . थाइरॉइड कोलेस्टरोल , दिल , हड्डी , और मनस्पेशि पर भी असर डालते है .. थाइरॉइड दो तरह की होती है ... हाइपो थाइरॉइड और हाइपर थाइरॉइड ... हाइपर थाइरॉइड मे शरीर का थाइरॉइड हार्मोन कम होने लगता है . जबकि हाइपो थाइरॉइड मे हार्मोन बढ़ने लागत है .. ये दोनों ही शरीर के लिए तिक नही है ....ऐसे आहार जिसमें आयरन और कॉपर पर्याप्‍त मात्रा में हों, इनके सेवन से थायराइड के फंक्‍शन में मदद मिलती है....आयन पाने के लिये आपको अपनी डाइट में बादाम, काजू और सूरजमुखी के बीज खाने चाहियेइसे कंट्रोल करने के लिये निम्न घरेलू उपाय कर सकते है .... # दूध मे हल्दी को पकl कर पीये . अगर ये ना पीया जायें टु हल्दी को भुन कर उसका सेवन करे ... # लौकी का ज्यूस subha खाली पेट पीए .. पीने के बाद आधा घण्टे तक कुछ ना ले ... # 2 चम्मच तुलसी का रस और आधा चम्मच alovira का रस मिलाकर पाइन से भि थाइरॉइड को खत्म करने मे सहायक होता है ... # काली मिर्च का सेवन किसी भी रूप मे करे ... # बादाम और अकरोट का सेवन भी इसमें फ़ायदा करता है ... # हरा धनिया की फ्रेश चटनी बनाकर एक ग्लास पनि मे घोल कर ले .... # रात को सोते समय एक चम्मच ashvagandha का चुरन गाय के गुनगुने दूध के saत ले ... # रोज़ 1 घण्टे एक्सर्साइज ज़रूर करे . थाइरॉइड मे ये सबसे जायदा ज़रूरी है .. आप ये सभी उपाय ट्राइ करने से पहले अपने डॉक्टर की राय ज़रूर ले .. आप अगर अपना थाइरॉइड कंट्रोल रखेगी तों ये आप के लिए और हाॅन वाले बच्चे के लिये दोनों के लिए अच्छा होगा ...ok
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera fifth month chl rha h altrasound krane pr pta chla ki bachha teda h mam koi dikatt to nhi or ye kaise hoga thik
उत्तर: हेलो डियर आप परेशान ना हो डियर क्युकी की प्रेगैन्सी में बेबी पूरे पेट में घूमता रहता वह एकहि पोजिशन में नही रहता डियर आपका बेबी भि आगे ऊपर निचे होता जायेगा यह आम बात है डियर अपना ख्याल रखना डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें