6 महीने का बच्चा

Question: Bachcha 6 month ka hai aur din me 4 se 5 bar nili poti karta hai to kya karna chahiye. ..kya use dat aa rahe honge

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mera baby 2 month ka hai aur use kal se patla pani jesa poty ho raha hai aur din me 8 se 10 bar poty karta hai kya karna chahiye
उत्तर: dear...apko ghabrane ki jrurt nhi...hai...apka baccha avi bahoot chota hai...aur wo b avi sirf liquid le rha hai..... जो बच्चे सिर्फ मां का दूध पीते हैं वह दिन में 10 बार या हर 10 दिनों में, एक बार पॉटी कर सकते हैं स्तनपान कराने वाले बच्चे में यह सामान्य होता है .. इसलिए जब तक apka solid lena nhi suru krega तब तक breastfeed शिशु ek din 10 bar potty ker skte hai ye bilkul normal hai... मां का दूध बिल्कुल पतला होता है जिसे बच्चे आसानी से बचा लेते हैं इसलिए अगर बच्चा 10 बार पॉटी कर रहा है इसके लिए आपको घबराने की जरूरत नहीं है बस आप अपने बच्चे को समय-समय पर ब्रेस्टफीड कर आते रहे ताकि वह भूखा ना रहे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera beta 99 days ka hai use poti thodi patli aa rahi hai per bar bar nahi karta din mai 4 bar gya hai kya karu
उत्तर: छोटे बच्चे हमेशा दूध पीने के बाद लैट्रिंग कर देते हैं लेकिन इसमें कोई डरने वाली बात नहीं होती यह बात निर्भर करता है कि वह स्तनपान करता है या फिर फार्मूला दूध पीता है अगर बच्चा स्तनपान करता है तो| नॉर्मल बच्चे का लैट्रिंग Patla और नरम या पतला होता है और दिन में करीब करीब 5 बार तक वह पॉटी कर सकता है| लेकिन अगर बच्चा फारमुला milk है तो, बच्चा ज्यादाporty नहीं करताl क्योंकि फार्मूला दूध पीने से बच्चे का लैट्रिन बहुत खड़ा होता है| बच्चे जब 1 महीने se छोटे होते हैं, तब jadatar दूध पीते हाथ तुरंत पॉटी करते हैं उसके बाद स्तनपान करने वाले बच्चे ज्यादा एक या दो बार ही पोटी करते हैं| लेकिन अगर बच्चा jarurat से भी ज्यादा बार बार लेट्रिन करता है और उल्टी और बुखार साथ में आता है तो ऐसे में अभी डॉक्टर की जरूरत पड़ती है| छोटे बच्चे को हम किसी प्रकार का अलग से aहार नहींkarte इसलिए बच्चे को कुछ भी देने से पहले एक बार आप डॉक्टर की सलाह जरूर लें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: baby ko teeting aa rahe hai aur use julab aur bhukhar bhi aa raha hai to kya karna chahiye
उत्तर: हेलो डियर अक्सर दांत आने के दौरान बच्चों को पेचिश सिर में दर्द चिड़चिड़ापन बुखार आदि दिक्कतें आने लगती है ऐसे में बच्चों को कमजोरी से बचाने के लिए आप कुछ मदद कर सकती हैं जैसे कि आप बच्चे को सौंफ का पानी उबालकर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में पीने को दे सकती हैं मसूड़ों में उंगलीयों से मसाज करने पर भी फायदा मिलता है बच्चे की डाइट में इस समय सेब का रस खिचड़ी केला संतरे का रस बच्चे को समय-समय पर खिलाते रहे इसके अलावा आप बच्चे को सूप जूस या दलिया दे सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें