गर्भावस्था की तैयारी

Question: muja 2 mnth laga hua ha muja brown discharge ho raha h to meri dr na 5 aquasustn 25 mg injection lgana ko bola h kya ya pregnancy ma mera liya thk h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर यह इंजेक्शन protestron होर्मोनस के लाइए दिए जाते है . प्रोजेस्‍टेरॉन एक प्रकार का हार्मोन है जो महिलाओं में पाया जाता है.इसे गर्भावस्‍था हार्मोन भी कहा जाता है. गर्भधारण करने से पहले से लेकर डिलीवरी होने तक इस हार्मोन का बहुत महत्‍व होता है.periods के दौरान महिला के शरीर में प्रोजेस्‍टेरॉन का स्‍तर बढ़ता है, खासकर ऑव्‍युलेशन की के दौरान. गर्भाशय में जिस जगह पर अंडे निषेचित होते हैं, वहां पर यह हार्मोन एक परत का निर्माण करता ह. अंडाशय इस हार्मोन ko गर्भावस्‍था की तीसरी तिमाही तक banata है, लगभग 9-10 week में प्‍लासेंटा अंडाशय पर apni jagah ataja है.यदि इस हार्मोन के स्‍तर में गिरावट आ जाये तो misscarrige हो सकता है. डॉक्टर की सलाह मानें .. सब अचा होगा . all the best .
    समान प्रश्न, उत्तर के साथ
    सवाल: हेलो मैम मुझे डॉक्टर. ना वोमिटिंग नहीं रुक रही थी to डॉक्टर. ना बोला हाँ की मुझे पित्त ma पटरी हो सकती हाँ क्या या सच हाँ इस लयेअ मुझे वोमिटिंग नहीं रुक रही
    उत्तर: मॉर्निंग सिकनेस की शुरुआत गर्भावस्था के 4 से 6 हफ्ते से होती है अगर 3हीने में आपका वजन नहीं बढ़ता है तो इसमें कोई परेशानी नहीं है। सिर्फ आपको यह ध्यान रखना है कि आप को अपने आप को हाइड्रेट रखना है और नौसिया और वॉमिट होने के बावजूद भी संतुलित आहार लेना है। शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए। अगर उलटी की तीव्रता अधिक रही और काफी लंबे समय तक रहती है तो इसमें समय से पहले बच्चे का जन्म होना, बच्चे का वजन कम होना आदि दिक्कत आ सकती है। थोड़ा-थोड़ा करके खाएं।  चाहे तो बार-बार खाएं पर कोशिश करें कि आपका पेट खाली ना रहे। अधिक देर भूखे ना रहे। दिन में 3 बार भारी खाना खाने के बजाए 6 बार थोड़ा और हल्का खाना खाएं। खाने में प्रोटीन अधिक। ले जो खाना खाया वह धीरे और अच्छे से चबाकर खाएं।खाना खाने के बाद तुरंत  सोना नहीं है। कुछ देर टहलना है।  खाना सादा खाएं। मिर्च मसालों से युक्त और अधिक तीखा खाने से परहेज करें। ऐसे खाने से एसिडिटी बढ़ती है। अपना ध्यान रखे
    »सभी उत्तरों को पढ़ें
    सवाल: हेलो मैम माँ जब सोका ुत्तहु तो मेरा पर माँ ज्यादा दर्द होता है या नॉर्मल है या मुझे डॉक्टर को दिया ना क्लाये अ और मुझे सास लनमा भी तकलीफ़े होता है
    उत्तर: हेलो डियर क्योंकि आप का अर्थ सप्ताह का चल रहा है तो इस वजह से पैरों पर बहुत ज्यादा वजन बढ़ना होगा जिस वजह से शायद पैरों में दर्द होता होगा अपने पैरों को गर्म पानी में डाला कीजिए और गर्म तेल से मसाज कराया कीजिए आपको पैरों में आराम मिलेगा और अगर सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो ज्यादा अच्छा रहेगा डॉक्टर को दिखा दीजिए बच्चे का वजन बढ़ गया है हो सकता है आप का फेफड़ा दबा रहा हूं जिस वजह से आपको सांस लेने में थोड़ी समस्या हो रही है वैसे इसमें कोई ज्यादा प्रॉब्लम वाली बात नहीं है लेकिन फिर भी अगर बहुत तकलीफ है तो डॉक्टर को दिखा लीजिए और हमेशा अपने सर के नीचे तकिया लगा कर सोइए ऊंचा करके सोनिए ताकि आपको सांस लेने में तकलीफ ना हो
    »सभी उत्तरों को पढ़ें
    सवाल: muja brown ho raha h 3-4 days sa hcg level to thk aya h fir asa ku ho raha h dr na aquasusten 25 mg injection 5 days lgana ko bola h kya esa brown discharge band ho jayaga
    उत्तर: Hello dear आप परेशां मात होइये। जब भी ब्लड की बात हो तो दर लगता है। मैं समझ सकती हूँ आपको भी टेन्शन होगी ।पर आप टेन्शन मात लीजिये। प्रेगनेंसी के दौरान अगर प्रेगनेंट लेडी को थोड़े थोड़े स्पॉटिंग है ,थोड़ी ब्लीडिंग होती है तो बहुत ही नॉर्मल बात है .इसमें बिल्कुल भी घबराना नहीं चाहिए .अक्सर बहुत से प्रेग्नेंट लेडीज को ऐसा होता है और किसी को नहीं भी होता है . अगर आपको लग रहा है कि ब्लीडिंग बहुत ज्यादा होने लगी है तो आप तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए. आपको प्रेगनेंसी में को थोड़ी बहुत ब्लीडिंग हो रही है तो उसका बहुत बड़ा कारण हारमोंस का बदलना होता है . पीरियड्स कंट्रोल करने वाले हारमोंस में बदलाव के कारण भी प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में ब्लीडिंग हो सकती है. Ya fir जब बिल्डिंग गर्भावस्था में शुरुआती दिनों में होती है इसमें fetal इन प्लांट होता है इसे इंप्लांटेशन ब्लीडिंग भी कहते हैं . कभी-कभी महिलाओं की योनि में इन्फेक्शन होने की वजह से भी स्टार्टिंग एक दो महीनों में ब्लीडिंग होती है बहुत नॉर्मल है . अगर आपने कोई शारीरिक संबंध रखा है गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में तो भी आपको इस वजह से थोड़ी सी बिल्डिंग हो सकती है. आप को अगर लिटिल ब्लेडिंग हुई है तो नार्मल है। फिर भी थोड़ा आराम करे।जयादा काम मात रहिये। आपने ध्यान रखे । पौष्टिक आहार ले। एप्पल खूब खै। कगेर ब्लीडिंग ज्यादा है तुरंत डॉक्टर को दिखाए ।सब ठीक होजाएग। ये इंजेक्शन प्रेग्नेन्सी के समय प्रोजेस्ट्रोन लेवल के लाइए दिया जता है . प्रोजेस्‍टेरॉन एक प्रकार का हार्मोन है जो महिलाओं में पाया जाता है.इसे गर्भावस्‍था हार्मोन भी कहा जाता है. गर्भधारण करने से पहले से लेकर डिलीवरी होने तक इस हार्मोन का बहुत महत्‍व होता है.periods के दौरान महिला के शरीर में प्रोजेस्‍टेरॉन का स्‍तर बढ़ता है, खासकर ऑव्‍युलेशन की के दौरान. गर्भाशय में जिस जगह पर अंडे निषेचित होते हैं, वहां पर यह हार्मोन एक परत का निर्माण करता ह. अंडाशय इस हार्मोन ko गर्भावस्‍था की तीसरी तिमाही तक banata है, लगभग 9-10 week में प्‍लासेंटा अंडाशय पर apni jagah ataja है.यदि इस हार्मोन के स्‍तर में गिरावट आ जाये तो misscarrige हो सकता है.  
    »सभी उत्तरों को पढ़ें