35 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे कमर में बहुत दर्द ही क्या करूँ कुछ भी नहीं कर पा रही हूँ

1 Answers
सवाल
Answer: हेल्लो डीयर प्रेग्नंसी में कमर दर्द होना नॉर्मल है इसलिए आप परेशान मत हो। जैसे-जैसे गर्भावस्था में आपका गर्भ बढ़ता है और बच्चे का आकार बढ़ता है वैसे-वैसे नसों में खिंचाव पैदा होने लगता है जिसकी वजह से कमर में दर्द होने लगता है यह हारमोनल परिवर्तन के कारण भी होता है। कमर दर्द को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं ज्यादा देर तक एक ही स्थिति में ना बैठे संतुलित और पौष्टिक भोजन लीजिए ज्यादातर देर तक एक ही अवस्था में ना लेटे थोड़ी थोड़ी देर पर करवट बदलते रहे कमर दर्द दूर करने के लिए आप कुछ एक्सरसाइज और योगा भी कर सकती हैं कमर दर्द को दूर करने के लिए आप अपने कमर की मालिश सरसों के तेल से कीजिए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere kamar me bahut jyada dard hai itna ki jhuk nhi paa rhi hu kya kru?
उत्तर: हेलो प्रेग्न्सी में होर्मोन चेंजेज और माँ और बच्चे के बढ़ते वेट के कारण गर्भाशय पर दबाव पड़ता है जिसके कारण आसपास के अंग पर भी प्रेशर पड़ता है जैसे कमर पीठ पैर हाथ पेट etc प्रेग्नेन्सी में back में दर्द होना तो समान्य है इसके लिए आप प्रॉपर सपोर्ट लें के बैठे lलंबे टाइम के लिए ना बैठे l रेस्ट करे , धीरे धीरे हलकी हलकी एक्सर्साइज करे l कमर और पैरों मे सरसों के ऑयल से हलकी मालिश भी लें सकती है आपको आराम मिलेगाl आराम करे lआप गरम पानी की बॉटल से सीकाइ भी कर सकती है आपको आराम मिलेगा सोते समय सपोर्ट ले के सोएं और तकिया ना लगायें एक ही postion में ना सोएं करवट बदलते रहे कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता hai.हेवी saaman ना उठा ये हलकी हलकी एक्सर्साइज करे जिसके कारण आपको बैक पेन में राहत मिलेगी सूर्य के प्रकाश में 20 से 25 मिनट बैठे सन रेज से मिलने वाले विटामिन डी आपके बैक पेन और बच्चे के विकास में हेल्पफूल है पानी भरपूर पीये स्ट्रेस ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere hat pair bahut dukh rahe hai kamar bhi dard kr rhi hai kya kru
उत्तर: हेलो डियर ,,,प्रेगनेंसी में कमर दर्द और पैर दर्द होना बहुत ही नॉर्मल है ,बच्चे के वेट बढ़ जाने के कारण कमर और पैर में दर्द होने लगता है| आप आराम से बाई करवट लेकर लेटे तो ज्यादा बेहतर होगा ,| ठंडा पानी या फलों का जूस लें | कमर ,पैरों की हल्की मसाज गर्म सरसो तेल से ले सकती हैं| ढीले ढाले आरामदायक कपड़े पहने | ज्यादा हलचल ना करें | टेंशन ना ले | अपने पैरों को गुनगुने पानी में नमक डालकर कुछ देर तक डूबा कर रखें इससे पैरों की सूजन व दर्द में भी कमी आएगी हाई हील्स के जूते चप्पल का प्रयोग ना करें अत्यधिक टाइट सैंडल ना पहने सॉफ्ट सैंडलों का प्रयोग करें| इसके बाद आपको धीरे-धीरे आराम महसूस होने लगेगा अगर दर्द और भी तेजी से बढ़ता जाता or आप असहज महसूस करने लगती हैं तो आप तुरंत ही चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mai baby consive nhi kr paa rhi hu kya kru
उत्तर: हेलो डीयर pregnancy के लिये ovulation दिन और उन दिनो मे सम्बन्ध बनाना जरुरी है आप बस अपने ovulation days को मार्क किजीये और रिलेशन बनाये। आप ovulation के symptoms पर ध्यान दें जैसे चिपचिपा सफेद डिस्चार्ज, शरीर का बढ़ा हुआ तापमान और पेट के निचले हिस्से मे दर्द अगर ये symptoms आपको महसूस होते हैं तो आप इस टाईम सम्बन्ध बनाएं। इसमे pregnancy के chances बढ़ जाते हैं। आशा है की ये जानकारी आपकी मदद करेगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें