गर्भावस्था की तैयारी

Question: प्रेग्नेसी होने से पहले कोई टेस्ट करवाना ज़रूरी होता है क्या .. अगर हा तो कौन कौन से टेस्ट करवाने चाहिये

1 Answers
सवाल
Answer: its depend on you its not necessary before pregnancy planning bcz after pregnancy doctors are take all test of you like sugar blood pressure blood gram abd weight etc...
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mene अभी ब्लड टेस्ट नही कराया हा क्या ब्लड टेस्ट करवाना ज़रूरी हं अगर ए ज़रूरी ए टु कब तक करवाना छाइए
उत्तर: हेलों आपने अभी तक ब्लड टेस्ट नहीं करवाया है कोई बात नहीं आगे आप ये करवा ले .ये हर 3 महीने में करवाया जाता है . ताकि यदि आपके शरीर में कोई समस्या है या खून की कमी है तो समय रहते पूरी की जा सके और आपके प्रेगनेंसी में कोई प्रॉब्लम ना आए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: गर्भवती होने से पहले क्या क्या चेकअप करवाना चाहिये
उत्तर: अगर आप मां बनने की प्लानिंग कर रही हैं तो आपको उससे पहले किसी डेंटिस्ट के पास जरूर चले जाना चाहिए. दांत से जुड़ी हर तरह की समस्या का निवारण हो जाना बेहतर होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि एकबार गर्भवती हो जाने के बाद आप एंटी-बायो‍टिक्स और पेन-किलर नहीं ले पाएंगी गर्भवती होने से पहले आपको अपना ब्लड ग्रुप चेक करवा लेना चाहिए. अगर आपको अपना ग्रुप पहले से ही पता है तो अपने पार्टनर के ब्लड ग्रुप के साथ उसकी कंपैटिबिलिटी भी चेक कर लेनी फैमिली की प्लानिंग करने वाली महिला को अपनी थायरॉयड ग्लैंड की भी जांच करा लेनी चाहिए. हो सकता है कि महिला के खून में थायरॉयड की कमी हो. आपको बता दें कि बच्चे के मानसिक विकास के लिए ये हॉर्मोन बेहद जरूरी होता है. थायरॉयड की समस्या के चलते गर्भपात होने की आशंका भी बढ़ जाती है. अगर महिला किसी प्रकार के तनाव और उदासी से जूझ रही है तो उसे काउं‍सलर के पास जाना चाहिए. गर्भावस्था में तनाव और घबराहट सही नहीं है. ऐसे में गर्भवती होने से पहले ही इसका निवारण हो जाना फैमिली प्लान करने से पहले महिला को हीमग्लोबिन की जांच जरूर से करा लेनी चाहिए. गर्भवती होने से पहले ही महिला को विटामिन बी12 और फोलिक एसिड का सेवन करना शुरू कर देना
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या Tifa टेस्ट करवाना ज़रूरी होता है
उत्तर: हेलो डियर teefa का टेस्ट करवा सकती हैं मगर डॉक्टर के कहने पर ही करवाएं यह टेस्ट 18 से 23 सप्ताह के बीच में किया जाता है इस टेस्ट के माध्यम से बेबी के सभी अंग नॉर्मल तरीके से बने हैं या नहीं यह पता किया जाता है इस टेस्ट के द्वारा बेबी के विकास और उसके हलचल को बारीकी से chek किया जाता है इस पोस्ट के माध्यम से आपको पता ही है चल पाता है कि बेबी को यदि कोई जन्म दोष है तो वह इस टेस्ट के माध्यम से साबित हो जाता है फीफा टेस्ट के माध्यम से बेबी के गर्भनाल के स्थिति क भी पता चलता है इसलिए आप पांचवे महीने में डॉक्टर के सलाह से tifaa टेस्ट करवा सकती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें