16 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हैलो मैम मुझे कल से नाभी के उपर कि तरफ रूक रूक के दर्द हो रहा है क्या कारण है उपाय बताये 17 विक आज से शुरू है

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर .. इसा दर्द होना प्रेग्नेन्सी मे नॉर्मल है .. आप घबराये नही ...गर्भवस्था के दौरान पेट का वज़न धीरें धीरें जब बढ़ता है toकमर or पेट के निचले भाग पर ज़ोर जयदा पड़ता है इसलिए तकलीफ़ होती है . आप अपने दर्द को कम करने के लिये अपने पवित पर नारियल के तेल से हलकें हाथों से मालिश कर सकती है .. और सोते समय कमर के पीछे ऑर aapne पैरों के नीचे पिलो लगायें .. आराम मिलेगा . मालिश को आप दिन मे 4 से 5 बार दोहरा सकती है .. ऑर tavel को ठण्डे pani mei गीला कर के पेट के ऊपर रख सकती है . आप को ज़रूर दर्द कम लगेगा . और तकलीफ़ जायदा लगें to अपने डॉक्टर को भि bata सकती है ..ok
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हैलो मैम मुझे एक -दो दिनो से ब्रैस्ट मे हल्का दर्द हो रहा है क्या कारण है उपाय बताये.......
उत्तर: hello dear गर्भावस्था के दौरान स्त्री के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं। इन सभी परिवर्तनों का प्रभाव कई बार दर्द और तकलीफ के रूप में आपके शरीर में दिख सकता है। इसलिेए इनसे घबराने की जरूरत नहीं है। गर्भावस्था में स्तनों में दर्द यानि ब्रेस्ट पेन सामान्य है।गर्भावस्था में ब्रेस्ट पेन से राहत पाने के लिए आप ये उपाय अपना सकती हैं। सही कपड़ों का चुनाव गर्भावस्‍था के दौरान फिटिंग ब्रा पहनने की आदत डालिए। इसलिए अच्‍छे गुणवत्‍ता की ब्रा ही खरीदिए। इस दौरान आपके स्‍तन फूल जाते हैं। चौड़े पट्टियों  वाली ब्रा ही पहनिए। जिस ब्रा में तार लगे हों उसे बिलकुल मत पहनिए। तीसरी तिमाही में बड़े कप साइज वाली ब्रा पहनिए। फिटिंग ब्रा पहनने से आपके स्‍तनों का मूवमेंट ज्‍यादा नही होता, जिसके कारण स्‍तनों में ज्‍यादा दर्द नही होता। रात में सोते वक्‍त भी फिट ब्रा पहनिए। गर्म और ठंडी सिंकाई स्‍तनों का दर्द कम करने के लिए हल्‍के गर्म और ठंडे पैक का प्रयोग कीजिए। आइस पैक स्‍तनों पर रखने से उनके ऊतक सुन्‍न हो जाते हैं, जिसके कारण सूजन भी कम हो जाती है। यदि आप गर्म पैक का प्रयोग कर रहे हैं तो उससे रक्‍त का संचार बढ़ जाता है जिसके कारण आपको आराम मिलेगा। हालांकि गर्म पैक का इस्‍तेमाल करने से स्‍तन ज्‍यादा सूज सकते हैं। लेकिन ध्‍यान रहे कि ज्‍यादा देर तक गर्म पैक को अपने स्‍तनों पर न रखें, इससे त्‍वचा को नुकसान हो सकता है। फास्ट फूड्स से बचें ट्रिगर फूड खाने से बचें। ट्रिगर फूड को फास्‍ट और जंक फूड भी कहते हैं। प्रेग्‍नेंसी के दौरान पिज्‍जा, बर्गर आदि खाने से परहेज कीजिए। इस दौरान ज्‍यादा नमक का सेवन करने से ब्रेस्‍ट में दर्द हो सकता है। ज्‍यादा मात्रा में पानी का सेवन कीजिए। पानी पीने से स्‍तन के दर्द से राहत मिलता है। व्यायाम करें नियमित रूप से व्‍यायाम करने की आदत डालिए। हर रोज कम से कम 20 मिनट तक व्‍यायाम कीजिए। व्‍यायाम करने से रक्‍त का संचार अच्‍छे से होता है और शरीर स्‍वस्‍थ रहता है। ये आसान करें पीठ के बल लेटकर गहरी सांस लीजिए, इस क्रिया को 10 मिनट तक करने से स्‍तन का दर्द कम होगा और आपको आराम मिलेगा। इसके अलावा पेन किलर दवाइयों को खाने से बचिए। यदि इन टिप्‍स को आजमाने के बाद भी आपके स्‍तनों का दर्द कम नही हो रहा हो तो एक बार अपने चिकित्‍सक से सलाह अवश्‍य लीजिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हैलो मैम मेरा 32 विक चल रहा है और मुझे कुछ दिनो से फिर से उल्टियॉ शुरू हो गई है प्लिज कुछ उपाय बताये
उत्तर: गर्भावस्था में हारमोनल चेंजेस की वजह से कई बार उल्टी हो सकती है इसमें घबराने वाली बात नहीं अक्सर उल्टी दो महीने बाद गर्भावस्था में चालू होती है लेकिन कई बार यह चौथे महीने में भी चालू हो सकती है और यह पूरे प्रेगनेंसी तक भी रह सकती है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं छोटे-छोटे घरेलू उपाय द्वारा आप उल्टी से राहत पा सकती हैं हैलो डियर----गर्भावस्था में उल्टी मीतली और जी घबराना बहुत आम समस्या है। और यह शुरूवात से लेकर पूरे प्रेगनेंसी तक भी रह सकती है इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं छोटे-छोटे घरेलू उपाय द्वारा आप उल्टी से राहत पा सकती हैं उल्टी होने से शरीर में पानी की कमी होने की संभावना हो सकती है।ईसलिये अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए । एक दिन में कम से कम 8 से 10 गीलास पानी पीना चाहिए । सुबह सुबह जुस भी पीने से उल्टी से राहत मीलती है। ैजसे पूरे दिन कुछ न कुछ खाते रहना जो आपको पसंद हो वही खाऐं जो आपको पसंद न हो वह न खायें अक्सर जो चीजें पसंद न हो उन चीजों को खाने से भी मीतली और उल्टी की परेशानी होती है।अदरक वाली चाय नारीयल पानी जुस का सेवन करने से अक्सर उल्टी मितली से राहत मिलती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हैलो मैम मेरे वेजाइना मे आज सुबह से रूक रूक कर दर्द हो रहा है
उत्तर: dear ..जी हाँ इस टाइप के दर्द ya khichav होना प्रेग्नेन्सी मे नॉर्मल होता है .. आप घबराये नही ...गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है..इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस हो सकती है।...jiske karan aap ko pet k aas pass k jagah mei dard ki samasya ho sakti hai. इसको थोड़ा कम करने के लिए आप आप जब भि करवट ले तों अपने दोनों पैरों के बीच मे पिल्लो लगायें .. ऑर कमर के पीछे भि एक पिल्लो लाग ले .. झटकें से उठना बैठना नही . आइस को कॉटन के कपड़े मे लेकर हलके हाथों से अपनी योनि के ऊपर रखें .. आप को bahut आराम लगेगा . ओके टेक केयर .. डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें