26 साल

Question: हैलो, मैं एक कामकाजी महिला हूँ, मेरी बेटी 2 साल की है। सुबह 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक घर, ऑफिस, बच्चे को सँभालते-सँभालते बहुत थक जाती हूँ। खुद के लिए 10 मिनट भी नहीं दे पाती, जिसके चलते मैं बहुत चिड़चिड़ी होती जा रही हूँ। प्लीज कुछ बताइये कैसे मैं सब कुछ सम्भालूं और खुद के लिए भी कुछ समय निकाल पाऊं।

3 Answers
सवाल
Answer: हैलो डियर, मैं आपकी भावनाओं को समझ सकतीं हूँ, क्योंकि मैं भी एक माँ हूँ। आप सुबह 6 बजे न उठकर सिर्फ आधा घंटा पहले उठें। 5:30 पर उठकर, फ्रेश होकर 15 मिनट योग करें और 15 मिनट सुबह की ताज़ी हवा में टहलें। इसके बाद अन्य काम करें। सुबह क्या ब्रेकफास्ट और लंच बनाना है, उसे रात में ही डिसाइड कर लें। इससे सुबह आपका समय बचेगा। सुबह क्या पहना है, बच्चे का बैग रात में ही लगा लें। इस तरह सुबह आपका भार काफी कम हो जायेगा। शाम को थोड़ी देर ध्यान लगाने से आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगी। अपने पति से मदद मांगने में कोई भी संकोच न करें। जल्दी ही आप अपने व्यवहार में परिवर्तन देखेंगी।
Answer: ही डियर.... आप अपने हर काम का टाईमटेबल बनाए और फिर उसे प्रॉपर्ली फॉलो करे... खुद को काम रखने के लिए सुबह जल्दी उठ कर योग करे और पानी ज्यादा पिए प्रॉपर डाइट ले क्योंकि आप ठीक रहेन्गी तो हर काम ठीक से कर payengi.. हम जब दैत का ख़याल नहीं रखते तो व्क्नेस हो जाती एच और चीद्चीदे हो जाते एच ... इसलिए खुद का ख्याल रखे जिससे चीद्चीदपन कम होगा ... और घर & ऑफिस के काम को अलग अलग ही रखे घर पर ऑफिस वर्क करेंगी तो घर के काम और बच्चों की वझ से सब डिस्टर्ब हो जाएगा और मैनेज करना मुश्किल होगा.... सो 1स्त्ली टेक केयर योरसेल्फ एंड प्रॉपर्ली प्लान ऑल वर्क्स ...
Answer: हलो मेरा बेटा 1साल 5महीने का ह वो नमकीन खाना बहुत प्यार से खाता ह बट 4.5दिन से वो कुछ भी नहीं खा रहा ह .सिर्फ दूध पी रहा ह प्लीज बताएं एम क्या करूँ उसके लिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हैलो, मैं एक कामकाजी महिला हूँ, मेरी बेटी 2 साल की है। सुबह 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक घर, ऑफिस, बच्चे को सँभालते-सँभालते बहुत थक जाती हूँ। खुद के लिए 10 मिनट भी नहीं दे पाती, जिसके चलते मैं बहुत चिड़चिड़ी होती जा रही हूँ। प्लीज कुछ बताइये कैसे मैं सब कुछ सम्भालूं और खुद के लिए भी कुछ समय निकाल पाऊं।
उत्तर: हैलो डियर, मैं आपकी भावनाओं को समझ सकतीं हूँ, क्योंकि मैं भी एक माँ हूँ। आप सुबह 6 बजे न उठकर सिर्फ आधा घंटा पहले उठें। 5:30 पर उठकर, फ्रेश होकर 15 मिनट योग करें और 15 मिनट सुबह की ताज़ी हवा में टहलें। इसके बाद अन्य काम करें। सुबह क्या ब्रेकफास्ट और लंच बनाना है, उसे रात में ही डिसाइड कर लें। इससे सुबह आपका समय बचेगा। सुबह क्या पहना है, बच्चे का बैग रात में ही लगा लें। इस तरह सुबह आपका भार काफी कम हो जायेगा। शाम को थोड़ी देर ध्यान लगाने से आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगी। अपने पति से मदद मांगने में कोई भी संकोच न करें। जल्दी ही आप अपने व्यवहार में परिवर्तन देखेंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हैलो, मैं एक कामकाजी महिला हूँ, मेरी बेटी 2 साल की है। सुबह 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक घर, ऑफिस, बच्चे को सँभालते-सँभालते बहुत थक जाती हूँ। खुद के लिए 10 मिनट भी नहीं दे पाती, जिसके चलते मैं बहुत चिड़चिड़ी होती जा रही हूँ। प्लीज कुछ बताइये कैसे मैं सब कुछ सम्भालूं और खुद के लिए भी कुछ समय निकाल पाऊं।
उत्तर: हैलो डियर, मैं आपकी भावनाओं को समझ सकतीं हूँ, क्योंकि मैं भी एक माँ हूँ। आप सुबह 6 बजे न उठकर सिर्फ आधा घंटा पहले उठें। 5:30 पर उठकर, फ्रेश होकर 15 मिनट योग करें और 15 मिनट सुबह की ताज़ी हवा में टहलें। इसके बाद अन्य काम करें। सुबह क्या ब्रेकफास्ट और लंच बनाना है, उसे रात में ही डिसाइड कर लें। इससे सुबह आपका समय बचेगा। सुबह क्या पहना है, बच्चे का बैग रात में ही लगा लें। इस तरह सुबह आपका भार काफी कम हो जायेगा। शाम को थोड़ी देर ध्यान लगाने से आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगी। अपने पति से मदद मांगने में कोई भी संकोच न करें। जल्दी ही आप अपने व्यवहार में परिवर्तन देखेंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हैलो, मैं एक कामकाजी महिला हूँ, मेरी बेटी 2 साल की है। सुबह 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक घर, ऑफिस, बच्चे को सँभालते-सँभालते बहुत थक जाती हूँ। खुद के लिए 10 मिनट भी नहीं दे पाती, जिसके चलते मैं बहुत चिड़चिड़ी होती जा रही हूँ। प्लीज कुछ बताइये कैसे मैं सब कुछ सम्भालूं और खुद के लिए भी कुछ समय निकाल पाऊं।
उत्तर: हैलो डियर, मैं आपकी भावनाओं को समझ सकतीं हूँ, क्योंकि मैं भी एक माँ हूँ। आप सुबह 6 बजे न उठकर सिर्फ आधा घंटा पहले उठें। 5:30 पर उठकर, फ्रेश होकर 15 मिनट योग करें और 15 मिनट सुबह की ताज़ी हवा में टहलें। इसके बाद अन्य काम करें। सुबह क्या ब्रेकफास्ट और लंच बनाना है, उसे रात में ही डिसाइड कर लें। इससे सुबह आपका समय बचेगा। सुबह क्या पहना है, बच्चे का बैग रात में ही लगा लें। इस तरह सुबह आपका भार काफी कम हो जायेगा। शाम को थोड़ी देर ध्यान लगाने से आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगी। अपने पति से मदद मांगने में कोई भी संकोच न करें। जल्दी ही आप अपने व्यवहार में परिवर्तन देखेंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें