2 months old baby

Question: plz हेल्प .. mera baby 2 mnth 10 days ka hua hai but uska w8 zada ni badh rha or mera badh rha hai mai kya kru k jo b mai khau baby ko lge brestfeeding se muj na lge . plzz koi btao

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear बच्चे का वेट धीरे धीरे बढ़ेगा इसके लिए आप अपना दूध अच्छे से पिलाते रहें और अपने खान-पान में पौष्टिक आहार ले जिससे कि आपका दूध बहुत ही पौष्टिक आएगा और बच्चे के ग्रोथ में इससे मदद मिलेगी...आप बच्चे को हर 2 घंटे में दूध पिलाई है और उन्हें अच्छे से डकार दिलवाई है आप उनकी जरूरत ke हिसाब से भी दूध पिला सकते हैं..उनके susu potty पर अच्छे से नजर रखें अगर बच्चा अच्छे से सुसु पॉटी कर रहा है अगर बच्चा पीली मस्टर्ड कलर की पोटी कर रहा है और उनका सुसु बहुत ज्यादा गाढ़ा नहीं है और अच्छे से पास हो रहा है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है.. मतलब कि उन्हें apke दूध से अच्छे से न्यूट्रिशन मिल रहा है |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 6 month chal rha hai but mera w8 ni badh rha abi tk srf 50 kg h koi prblm ki bat to ni hai na?
उत्तर: खाना अच्छे शे खाइए ऐगर वेट नही बढ़ेगा तो बच्चा कैसे हेल्दी होगा .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 40-week khtm o chuka muj abhi tk drd ni hua na hi niche se muj khul rha baby Bhi km hill rhA H KY KRU
उत्तर: अगर आपका 9 month पूरा हो जाए तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और अपना पेट का चेकअप कराना चाहिए । प्रेगनेंसी की पूरी अवधि ४०वीक्स मानी जाती है। बहुत से बच्चे ३७वीक से ४० वीक के अंदर पैदा हो जाते है। वीक्स आपके पीरियड के पहले दिन से काउंट किय जाते है। जरूरी नहीं है कि बच्चे सिर्फ पेन से ही पैदा होते हैं कभी-कभी अवधि पूरी हो जाने के बाद बच्चों को ज्यादा देर तक पेट में रहने से नुकसान भी हो सकता है इसलिए आप डॉक्टर के निर्देशों का पालन करते रहिए। बच्चे का मूवमेंट दिन में कम से कम 15baar होना जरुरी हैं कभी कभी बच्चे सोते रहते हैं. यदि आपको मूवमेंट मेहसुस नहीं हो रही है तो आप ठंडा पानी पीजिए अपने पेट me हाथ फेरते रहिये... आप आराम से बेड पर लेट jaye और अपनी baby के मूवमेंट को ध्यान से नोटिस करते रहेंगे। आप कुछ मीठा भी खा कर देख सकती हैं कभी-कभी क्या होता है हमें भूख लगती है इसके कारण बेबी सो जाता है कुछ खाने के बाद बेबी की मूवमेंट में ज्यादा फर्क आता है और ज्यादा हलचल हमें महसूस होती है। इसलिए आप कुछ खाने के बाद अच्छे से अपने पेट को नोटिस करते रहिए।अगर कुछ मूव मेंट ना दिखे या बहुत कम दिखे तो डॉ को जरूर दिखाए...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: muje acciditi rehti है mera 8 mnth chl rha hai kya kru jo acciditi na ho
उत्तर: हेलो डिअर, आप प्रेग्नेंसीय मे कुछ इस तरह से देखभाल कर सकती है आप इस तरह से एसिडिटी के लिए घरेलू उपाय कर सकती है आप तैलीय या मसालेदार खाना , और चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी चीजे एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। आप इसे ना ले सोडायुक्त चीजो की बजाय पानी पीएं, बाहर की चीजो का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी के लिये पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार खाना खाती रहें।खाना को अच्छी तरह चबाकर खाएं खाना खाने के दौरान लम्बा गैप रखे खाना के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में पानी न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी हैं कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें, एसिडिटी होने पर आप ग्लास पानी मे एक चम्मच जीरे को डाल कर खौला ले फिर इसको पिये इससे भी बहुत आराम मिलता है एसिडिटी में ,आप इसमें 10 , 12 पुदीने की पत्तियों को रोज चबाये इससे भी फायदा होता है , रोज रात को खाना खाने के बाद गुड खाये इससे आपका खाना पच जायगा और जलन नही होगी सुबह खाली पेट एलोवेरा जेल खाये या थोड़े पानी मे डालकर पिये इससे भी आराम हो जाएगा !
»सभी उत्तरों को पढ़ें