37 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो mam mujhe 9 month chl rha hai pet साफ़ nhi hota kya kro

1 Answers
सवाल
Answer: डिअर हमे ज्यादा तर प्रेगनेंसी में यह प्रॉब्लम होती है पेट साफ न होना और गैस होना कब्ज प्रॉब्लम ये सब आम है इसलिए आप टेंशन न ले और कुछ उपाय करें कि जिससे आपको इस प्रॉब्लम से राहत मिले *पेट साफ कैसे रखें, क़ब्ज़ से बचने के लिए ऐसी चीजें अधिक खाये जिनमें फाइबर की मात्रा जादा हो जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, फल और सलाद। पपीता अमरूद खाने से भी stomach clear रखने में मदद मिलती है। पत्तागोभी का जूस और पालक का जूस भी अच्छे पेट साफ करने के तरीके है। *नारियल पानी भी पेट साफ़ करने में मददगार है। प्रतिदिन नारियल पानी सुबह खाली पेट पीने से बहुत फायदा मिलता है। * रात को अलसी के बीज एक गिलास हल्के गरम दूध के साथ सेवन करने से पेट साफ़ होने में मदद मिलती है। *पेट साफ़ रखने के लिए शरीर में अच्छे बैक्टेरिया होना जरुरी है। इसलिए दिन में एक से दो कप दही अपनी डाइट में शामिल करे। *. रात को एक चम्मच मेथी एक गिलास पानी के साथ सेवन करने से अगली सुबह पेट साफ़ हो जाएगा। * पेट साफ करने के लिए आयुर्वेदिक उपचार में त्रिफला चूर्ण भी काफी असरदार है। पांच से छह ग्राम त्रिफला चूर्ण दो सौ ग्राम हल्के गरम दूध के साथ पिए। *. बेकिंग सोडा (मीठा सोडा) भी क़ब्ज़ खोलने में असरदार है। 1/2 गिलास हल्के गुनगुने पानी में 1/2 से 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाये और सेवन करे।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 9 मंथ chl rha hai nind nhi ati hai kya kro
उत्तर: 🙏 गर्भावस्था में निंद न आने का एक कारन घबराहट है जिसकी वजह से नींद आने में कठिनाई होती है। उन्हें लेबर पैन से भी बहुत डर लगता है। साथ ही पेट में दरद होने के कारण गर्भवतीयों को बहुत बेचैनी और असहजता महसूस होता रहता है और ऐसे में आराम से सोना मुश्किल होता है। एसीडिटी,गैस मरोड़आदी के कारन भी निंद नही आ पाती। निंद लेने के कुछ प्राकृतिक उपाय----- 1)तेलीय नमक मिर्च मसाला चटपटा खाने से दूर रहे। 2)सोने से पहले गुनगुने पानी से नहाए हल्की हल्की मसाज लें मनपसंद गाना सुने या बुक पढे़ जिससे नींद आने लगेगी 3)रोज सुबह-शाम हल्का वॉक करें 4)सोते समय पेट कमर और दोनों पैरों के बीच तकिया लेकर रिलैक्स होकर सोयें। 5)रात को कम से कम पानी पिए ताकि बार-बार उठ कर बाथरूम ना जाना पड़े और आपकी नींद खराब ना हो। Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 9 मंथ chl rha hai period feeling hoti है rukruk के dard hota है मेरा hath aur pet gram ho rhe h ..kya kro mai plz reply mam
उत्तर: यार आप परेशान मत होइए यह लेबर पेन की निशानी है क्योंकि लेबर पेन भी ऐसे रुक रुक के आता है महिलाओं के लिए पूरे गर्भावस्था का सबसे कठिन समय होता है लेबर का समय। क्योंकि, इस समय महिलाओं को प्रसव दर्द से गुजरना पड़ता है। हालाँकि, हर महिला में प्रसव पीड़ा अलग-अलग तरह से होता है, कुछ महिलाओं को इस दर्द का सामना बहुत लम्बे समय तक करना पड़ता है तो किसी को बहुत कम समय के लिए। लेकिन, इस दर्द से हर महिलाओं को गुजरना पड़ता है। आमतौर पर, जब महिलाएं अपने प्रसव के काफी करीब होती हैं फिर भी उन्हें समझने में काफी परेशानी होती है कि उनका प्रसव-पीड़ा शुरू होने वाला है। कभी-कभी यह लेबर पेन फॉल्स भी होता है जिसे गर्भवती महिला सच समझ लेती हैं। लेकिन, यहाँ आपको कुछ ऐसे संकेत बताने जा रही हूँ जिसके मदद से आप तुरंत यह अंदाज़ा लगा सकती हैं कि आपको लेबर पेन शुरू होने वाले हैं- 1. बेबी का निचे की ओर खिसकना यह प्रसव के लक्षणों में सबसे आम है जब शिशु का सिर आपके श्रोणि से नीचे की ओऱ खिसकना शुरू हो जाता है। तब इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि आपको लेबर पेन शुरू होने वाला है। इसके अलावा, अगर आपको लगातार दबाव के साथ दर्द महसूस हो रहा हो और बार-बार यूरिन पास करने के लिए जाना पड़ रहा हो तो यह प्रसव पीड़ा का संकेत है। 2ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन की स्थिति तब उत्पन्न होती है जब आपके गर्भाशय में हल्की-हल्की ऐंठन शुरू होती है। इसका अनुभव बिल्कुल प्रसव जैसा ही होता है। ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन अनियमित तरीके से होता रहता है। जबकि असली प्रसव संकुचन लंबे समय के लिए, मजबूत और एक साथ होते हैं। हालाँकि, इस दौरान आपका ग्रीवा पतला और चौड़ा हो जाता है, जो आपके प्रसव पीड़ा को प्रभावित करता है। 3पानी निकलना यह प्रसव पीड़ा का सबसे बड़ा लक्षण है, जिस दौरान एमनियोटिक द्रव्य बाहर निकलने लगता है। यह एमनियोटिक द्रव वह होता है जिसमें शिशु लिपटे होते हैं, वह जैसे ही फटता है इसका मतलब है कि अब आपका शिशु बाहर आने के लिए तैयार है। 4. श्लेम का निकलना भूरे या खून सी रंगत का श्लेम निकलना भी प्रसव के लक्षणों को दर्शाता है। अगर आपकी गर्भाशय की ग्रीवा पर लगा श्लेम का डाट बाहर आ जाता है, तो हो सकता है आपका प्रसव बहुत करीब हो या फिर इसमें कई दिन भी लग सकते हैं। 5. पीठ में दर्द कुछ महिलाओं में इस दौरान पीठ दर्द की समस्या भी देखने को मिल सकती है। ऐसा भी हो सकता है कि आपको लंबे समय तक बैंक पेन हो लेकिन जब दर्द ज्यादा हो तो समझ लें कि ये प्रसव पीड़ा का संकेत भी हो सकता Take care dear
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam mujhe 4mounth chl rha hai or assid boht bnta hai kya kro help me please
उत्तर: hello dear प्रेग्नन्सी के दौरान यह काफी आम है एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है। acidity को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam mujhe 8 month chl rha h or mujhe nichle pet m drd hota h isse baby ko koi problem to nhi h na
उत्तर: Hi Dear! Neho nehi dear isse baby ko koi problem nehi hain, apka growing uterus niche k hisse mein aur baki internal organs ke upar bohot pressure dalta hain kyunki ab baby womb mein bara ho raha hain, isliye apko thoda dard aur pareshani lagi rehti hain, otherwise koi problem nehi hain. Hope this helps!
»सभी उत्तरों को पढ़ें