23 weeks pregnant mother

Question: हेलो khoojli bahut hoti h

सवाल
Answer: खुजली और जलन से बचने के लिए आप निम्न घरेलू उपाय अपना सकती है । आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा होता है क्योंकि बहुत सारे हारमोंस चेंज होते हैं और शरीर में जब पानी की कमी होने लगती है तब भी शुष्क त्वचा में खुजली हो जाती है। त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीएं।  अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए । और नारियल पानी का सेवन भी प्रतिदिन करना चाहिए अगर आपको खुजलाहट महसूस हो, तो हथेली या मुलायम कपड़े से हल्के से खुजली करें। नाखूनों से खुजली न करें, क्योंकि इससे खून आ सकता है और त्वचा में संक्रमण हो सकता है।  नारियल के तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर आप खुजली वाली जगह लगा सकते हैं इससे आपको आराम मिलेगा
Answer: खुजली और जलन से बचने के लिए आप निम्न घरेलू उपाय अपना सकती है । आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा होता है क्योंकि बहुत सारे हारमोंस चेंज होते हैं और शरीर में जब पानी की कमी होने लगती है तब भी शुष्क त्वचा में खुजली हो जाती है। त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीएं।  अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए । और नारियल पानी का सेवन भी प्रतिदिन करना चाहिए अगर आपको खुजलाहट महसूस हो, तो हथेली या मुलायम कपड़े से हल्के से खुजली करें। नाखूनों से खुजली न करें, क्योंकि इससे खून आ सकता है और त्वचा में संक्रमण हो सकता है।  नारियल के तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर आप खुजली वाली जगह लगा सकते हैं इससे आपको आराम मिलेगा
Answer: खुजली और जलन से बचने के लिए आप निम्न घरेलू उपाय अपना सकती है । आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा होता है क्योंकि बहुत सारे हारमोंस चेंज होते हैं और शरीर में जब पानी की कमी होने लगती है तब भी शुष्क त्वचा में खुजली हो जाती है। त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीएं।  अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए । और नारियल पानी का सेवन भी प्रतिदिन करना चाहिए अगर आपको खुजलाहट महसूस हो, तो हथेली या मुलायम कपड़े से हल्के से खुजली करें। नाखूनों से खुजली न करें, क्योंकि इससे खून आ सकता है और त्वचा में संक्रमण हो सकता है।  नारियल के तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर आप खुजली वाली जगह लगा सकते हैं इससे आपको आराम मिलेगा
Answer: khujli से बचने के लिए आप निम्न घरेलू उपाय अपना सकती है । आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है प्रेगनेंसी के दौरान ऐसा होता है क्योंकि बहुत सारे हारमोंस चेंज होते हैं और शरीर में जब पानी की कमी होने लगती है तब भी शुष्क त्वचा में खुजली हो जाती है। त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीएं।  अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए । और नारियल पानी का सेवन भी प्रतिदिन करना चाहिए अगर आपको खुजलाहट महसूस हो, तो हथेली या मुलायम कपड़े से हल्के से खुजली करें। नाखूनों से खुजली न करें, क्योंकि इससे खून आ सकता है और त्वचा में संक्रमण हो सकता है।  नारियल के तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर आप खुजली वाली जगह लगा सकते हैं इससे आपको आराम मिलेगा
Answer: प्रेग्नेंसी में खुजली होना नॉर्मल है क्योंकि त्वचा फैलती है और बेबी का भी आकार बढ़ता जाता है इसलिए नमी कम होते जाती है इस दौरान एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ा हुआ होता है इसलिए भी खुजली काफी ज्यादा होती है कोशिश करें कि आप ठंढे पानी से नहाये ना कि गर्म पानी से क्योंकि इससे त्वचा ज्यादा रुखी हो जाती है रुखी त्वचा की वजह से कभी कभी ये समस्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है,इसलिए कोशिश करें कि आपके त्वचा की नमी हमेशा रहे मॉस्चराइजर का इस्तेमाल करें नारियल के तेल का इस्तेमाल करें एलोवेरा जेल का इस्तेमाल करें गरम पानी से न नहाएं ज्यादा टाइट कपडे न पहने
Answer: प्रेग्नेंसी में खुजली होना नॉर्मल है क्योंकि त्वचा फैलती है और बेबी का भी आकार बढ़ता जाता है इसलिए नमी कम होते जाती है इस दौरान एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ा हुआ होता है इसलिए भी खुजली काफी ज्यादा होती है कोशिश करें कि आप ठंढे पानी से नहाये ना कि गर्म पानी से क्योंकि इससे त्वचा ज्यादा रुखी हो जाती है रुखी त्वचा की वजह से कभी कभी ये समस्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है,इसलिए कोशिश करें कि आपके त्वचा की नमी हमेशा रहे मॉस्चराइजर का इस्तेमाल करें नारियल के तेल का इस्तेमाल करें एलोवेरा जेल का इस्तेमाल करें गरम पानी से न नहाएं ज्यादा टाइट कपडे न पहने
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में जब बेबी का आकार बढ़ता है यो मास पेशियों में खिंचाव होने लगता है और ऐसे में हार्मोस चेंज होने लगता है जिसके कारण बॉडी में खुजली होने लगती है जो इस तरह से अपनी देख बाल कर सकते है आपके बॉडी में खुजली होने पर भी खुलाना नही चाहिए इससे रैशेस पड़ने का डर हो सकता है आप जब भी नहाने जाए पानी मे 4 से 5 बूंद डेटॉल डाल दे इससे आपको खुजली कम होगी आप हमेशा बॉडी में नमी बनाए रखे ताकि स्किन सुखी होने से भी खुजली होती है आपने पूरे बॉडी में नारियल के तेल में कपूर डाल कर लगाए इससे खुजली ज्यादा नही होती है ।
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में जब बेबी का आकार बढ़ता है यो मास पेशियों में खिंचाव होने लगता है और ऐसे में हार्मोस चेंज होने लगता है जिसके कारण बॉडी में खुजली होने लगती है जो इस तरह से अपनी देख बाल कर सकते है आपके बॉडी में खुजली होने पर भी खुलाना नही चाहिए इससे रैशेस पड़ने का डर हो सकता है आप जब भी नहाने जाए पानी मे 4 से 5 बूंद डेटॉल डाल दे इससे आपको खुजली कम होगी आप हमेशा बॉडी में नमी बनाए रखे ताकि स्किन सुखी होने से भी खुजली होती है आपने पूरे बॉडी में नारियल के तेल में कपूर डाल कर लगाए इससे खुजली ज्यादा नही होती है ।
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में जब बेबी का आकार बढ़ता है यो मास पेशियों में खिंचाव होने लगता है और ऐसे में हार्मोस चेंज होने लगता है जिसके कारण बॉडी में खुजली होने लगती है जो इस तरह से अपनी देख बाल कर सकते है आपके बॉडी में खुजली होने पर भी खुलाना नही चाहिए इससे रैशेस पड़ने का डर हो सकता है आप जब भी नहाने जाए पानी मे 4 से 5 बूंद डेटॉल डाल दे इससे आपको खुजली कम होगी आप हमेशा बॉडी में नमी बनाए रखे ताकि स्किन सुखी होने से भी खुजली होती है आपने पूरे बॉडी में नारियल के तेल में कपूर डाल कर लगाए इससे खुजली ज्यादा नही होती है ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam muje puri body mein khoojli hoti h plz kya kru koi solution btayen
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में इचिंग होना आम समस्या है चिंता की कोई बात नहीं है ऐसा होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा में बढ़ोतरी होने जाना फेस स्किन में खिंचाव होना आदि खुजली होने के साथ-साथ त्वचा में रूखापन भी आ जाता है प्रेगनेंसी के दौरान महिला के गर्भ में बच्चा पोषित होता है ऐसे में पैल्विक हिस्सा फैलता है और इस वजह से त्वचा में खुजली होती है खुजली से राहत पाने के लिए आप डॉक्टर से राय ले सकती हैं या कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं प्रेगनेंसी के दौरान गर्म पानी से स्नान ना करें गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें वह भी आवश्यकता पड़ने पर इससे त्वचा में नमी बनी रहेगी प्राकृतिक तेल भी बना रहेगा और खुजली नहीं होगी नारियल का तेल सुरक्षित रहता है हल्का गुनगुना करके लगाएं नहाते समय से साबुन का इस्तेमाल करें कि आपकी त्वचा में नमी बनी रहे माइल्ड सोप यूज़ करें ढीले कपड़े पहने नहाने के पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा को मिला लें या इस पेस्ट को पेट के निचले हिस्से में लगा ले इसे खुजली में राहत मिलती है गर्म पानी वाली बाल्टी में एक कप भिगोया हुआ दलिया मिला लें इस पानी से नहाने पर त्वचा पर होने वाली खुजली सही हो जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe itching bahut hoti h
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान बॉडी में इचिंग होना आम समस्या है चिंता की कोई बात नहीं है ऐसा होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की मात्रा में बढ़ोतरी होने जाना फेस स्किन में खिंचाव होना आदि खुजली होने के साथ-साथ त्वचा में रूखापन भी आ जाता है प्रेगनेंसी के दौरान महिला के गर्भ में बच्चा पोषित होता है ऐसे में पैल्विक हिस्सा चलता है और इस वजह से त्वचा में खुजली होती है खुजली से राहत पाने के लिए आप डॉक्टर से राय ले सकती हैं या कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं प्रेगनेंसी के दौरान गर्म पानी से स्नान ना करें गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें वह भी आवश्यकता पड़ने पर इससे त्वचा में नमी बनी रहेगी प्राकृतिक तेल भी बना रहेगा और खुजली नहीं होगी नारियल का तेल सुरक्षित रहता है हल्का गुनगुना करके लगाएं नहाते समय से साबुन का इस्तेमाल करें कि आपकी त्वचा में नमी बनी रहे माइल्ड सोप यूज़ करें ढीले कपड़े पहने नहाने के पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा को मिला लें या इस पेस्ट को पेट के निचले हिस्से में लगा ले इसे खुजली में राहत मिलती है गर्म पानी वाली बाल्टी में एक कप भिगोया हुआ दलिया मिला लें इस पानी से नहाने पर त्वचा पर होने वाली खुजली नहीं सही सही हो जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujey bahut थकान hoti h
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान वीकनेस और थकान होना एक आम समस्या होती है थकान को दूर करने के लिए आपको अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए 10 से 12 गिलास पानी प्रतिदिन पीना चाहिए और नारियल पानी का सेवन प्रतिदिन करना चाहिए इससे आपका शरीर हाइड्रेटेड बना रहेगा और आपको एनर्जी भी मिलती रहेगी जिससे आपको थकान नहीं होगी। प्रेगनेंसी के दौरान आप को विशेष पौष्टिक आहार प्रतिदिन लेना चाहिए जिससे आपका बच्चा हेल्दी हो .. दूध, दही, छाछ, पनीर। इन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी -12 की उच्च मात्रा होती है।   अतः इन सब का सेवन आपको करना चाहिए। अनाज, साबुत व पूर्ण अनाज, दाल और मेवे का सेवन करें। इससे आपको प्रचुर मात्रा में प्रोटीन मिलेगा। सब्जियां और फलों का सेवन करें  ये विटामिन, खनिज और फाइबर प्रदान करते हैं। खूब सारे पेय पदार्थों का सेवन करें, खासकर पानी और ताजा फलों के रस का। सुनिश्चित करें कि आप साफ उबला हुआ या फ़िल्टर किया पानी ही पीएं। डिब्बाबंद जूस का सेवन कम ही करें, क्योंकि इनमें बहुत अधिक चीनी होती है ।  अपने गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन शामिल करने की आवश्यकता है। आप को अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए तथा 10 से 12 गिलास पानी प्रतिदिन पीना चाहिए और नारियल पानी का सेवन प्रतिदिन करना चाहिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें