25 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो, मै 5 मंथ्स प्रेगनेट हु मुझे वन मंथ से भी ज़्यादा टाइम सें खासी जुखाम है डॉक्टर को दिखाने के बाद भी कोई आराम नही है मै बहुत ही परेशान हु क्या करु

1 Answers
सवाल
Answer: अगर आपको बहुत जल्दी जल्दी जुकाम हो जाता है तो आप संक्रमित व्यक्ति से थोड़ा दूरी बना कर रही है। वैसे भी प्रेग्नेंसी में हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और नाजुक रहती है जिसके लिए हम जल्दी-जल्दी बीमार पड़ सकते हैं। आप अपना ध्यान रखें साफ एंटीबैक्टीरियल सोप में धुले हुए कपड़े धूप में सूखे हुए कपड़े यूज कीजिए और ठंड से दूर रहिए आप ठंडे पदार्थ भी भोजन में कम लीजिए फिर भी अगर आपको जुकाम हो जाता है तो आप कुछ घरेलू उपाय कर सकती हैं.. आप घबराय नहीं, १)आप जुकाम के लिए तुलसी अदरक का रस, अदरक का रस एवं शहद मिलकर उसका सेवन कर सकती है। २)आप भाप लीजिए उससे आपके सीने में कफ नहीं जामग। ३)आप सरसो के तेल में कुछ कलिया लहसुन की डालकर उसे गर्म करके फिर ठंडा करके गले एवं सीने में मालिश कर सकती है। इस तेल को आप अपने पैरो के तलवो में भी लगा सकती है। ४)आप नारयल तेल में एक टुकड़ा कपूर का डाल के उसे सीने में massage के लिए use कर सकती है। Agar ज्यादा परेशानी हो to डॉक्टर ko jarur दिखाए..
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो डॉक्टर मेरे बेबी को काफ़ी दिन सें खासी और सर्दी है दवाई से भी कोई अराम नही है kal से लूज मोशन भी हो रहा
उत्तर: अगर बच्चे को खासी सर्दि है टो।। उसे गरम तासिर वाला खाना डिजिये। १)ताज़ा बना गरम खाना द। २)ठंडी चीजे नहीं देण। ३)कुनकुना पानी पिलाये नार्मल या ठण्डा नाहि। ४)पानी की मात्रा बड़ा द।। ५)सरसो तेल में लहसून पका केर कुनकुना तेल साइन और पथ में लगये। ६)ड्राई जिंजर का पाउडर थोड़ा सा दुध में द। ७)अद्रक का रास निकल केर शहाद में दे । ८) रात में थोड़ा गरम दुध थोड़ी सी हल्दी मिलाकर शार के साथ्। ।। ओहो । आप परेशां मात हो। कभी कभी ऐसा होता है की खाने में या वेअथेर के चेंज से थोड़ा पेट अपसेट होजाता है । कुछ घरेलु उपाए है कीजिये आराम मिलगा। झयाड़ा होने पैर तुरनक डॉक्टर को दिखाए। बाबी देहयद्रात नहीं होनी चहिये। १) थोड़ी सी २ चुटकी हिंगी को पैन में थोड़ा भुन्ज्ल।२ मीण। फिर कुनकुने पानी १/२ कप में दाल के पिलदे। २) १ चमच सदू दाना भिगो द।१/२ घंटा १ गिलास पानी में थोड़ा जीरा दाल केर साबूदाना उबाले। उबला हुआ साबूदाने का पानी थोड़ा थोड़ा पिलाए। ३) लगा तार पानी में नीदू दाल केर शेकर नमक मिलाकर पिलाटे रह।बोबी देहयड्रेट नहीं होगी। ४) आप ब्रेस्टफीड भी देती रह। ५) ऊपर का खुछ भी नहीं डिजिये। ६) दाल का पानी या प्रोटीन वाला कुछ भी नहीं द।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सर्दी जुखाम से बहुत परेशान हु बार बार खासी ऑर कफ़ आ rha है
उत्तर: हेलो डियर मैं आपको खांसी jukhaam sardi ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय बताती हूं इसलिए आप कोई भी दवाई लेने से पहले इन उपायों को आजमाएं हो सकता है कि आप को isme में कुछ आराम मिलेअदरक का रस ऑर सहद मिलाकर दिन में 3 से 4 बार पीएं 1 1 चम्मच भाप लें किसी बडे़ बर्तन में पानी गर्म करें ऑर कोई तौलिया या तोवेल से खुद के सर को दहन्क कर 10 मिंट तक भाप लें जुस पानी ऑर सभी तरल वस्टुओ का सेवन जादा करें गर्म पानी में नमक मिलाकर गररा करें तुलसी अदरक या पुदीना डालकर चाय बनाकर पीए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को बहुत ही ज़्यादा खासी है जिसके वजह से उसे उलटी भी हो रही सर्दी बहुत ज़्यादा है और हलका बुखार भी है मैं क्या करु
उत्तर: सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये, अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये, यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे बेबी की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये. इससे सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये,इस तेल को बेबी की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से बेबी की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच नारियल का तेल ले लीजिये, नारियल के तेल को गरम कीजिये,अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर तेल में मिलाइये. इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा.नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा नरम कपडे या स्पंज का उपयोग कर बच्चे के कुछ भाग जैसे बगल, पैर और हाथो को भी पोछ सकते हो, इससे बच्चे ke शरीर का तापमान भी कम होगा यदि आप फैन चला रहे हो तो ध्यान रहे की इसे धीमी स्पीड पर ही चलाये, ध्यान रहे की आपका बच्चे सीधे पंखे के निचे ना सोया हो. नरम कपडे को पानी में भिगोकर ठंड़ी पट्टी बच्चे के सिर पर रख, पट्टी पूरी तरह से सुख जाये तब समझ जाये की पट्टी ने बुखार सोख लिया है और इससे शरीर का तापमान भी कम होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें