33 weeks pregnant mother

Question: हेलो मेम मेरा 33 वीक चल रहा मुझे डायट प्लान के बारे में बताये जो बिना दावा खायें ही सारे वाइटमिन्स वगैरह मिल जायें अच्छे से ताकि बच्चे का phisicaly nd mindly ग्रोथ अच्छे से हो

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो एक हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए आप यह सारी चीजें ले सकती हैं दूध और दूध के सारे प्रोडक्ट इसमें प्रोटीन कैल्शियम विटामिन B12 होता है दाल चावल रोटी खाने से शरीर को कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन मिलता है। फल सलाद और सब्जियां खाएं इससे शरीर में फाइबर और विटामिन की कमी पूरी होती है केला और अनार खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन और ब्लड बढ़ता है। प्रेगनेंसी के दौरान 1 दिन में कम से कम 5 प्रकार के मौसमी फल खाने चाहिए। ध्यान रखें पपीता और करेला बिल्कुल ना खाएं प्रेगनेंसी में मछली खाना बहुत फायदेमंद होता है इससे शरीर को ओमेगा-3 प्रोटीन और फैट मिलता है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। रोज एक अंडा जरूर खाएं यह बच्चे के मानसिक औऱ शारीरिक विकास में मदद करता है नारियल पानी पिए यह एसिडिटी को कंट्रोल करके शरीर में पानी और मिनरल्स की कमी को पूरी करता है प्रेगनेंसी के दौरान फैट लेना भी जरूरी होता है। वेट के लिए आप बटर और घी खा सकती हैं घी खाने से नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं। यह सारी चीजें खाएं आपको फायदा जरूर मिलेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरा 5th month चल रहा है मुझे नभी के एकदम निचे हिस्से मे बुदबुदाहट feel hota है किसी ने मुझसे कहा के इतना निचे फील नही होता तुम्हारे बच्चे का ग्रोथ नही होरा है सायद तुम डॉक्टर से बात कारों मेम में तब से टेन्शन में हूँ बताये इस बारे मे कुछ
उत्तर: mera 7 month lg gya h or mujhe bht jada kaf sardi हो gai h डॉक्टर ne मेडिसिन diya h but fir बी thik nhi hua एच isse bacche ko koi problem to nhi hogi mujhe sardi h to kya use बी sardi हो sakti h ????
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मैम क्या आप मेरी मदद करेंगेमेरा 4 बार मिसकैरेज हो चुका है मैंने हर डॉक्टर को दिखाया लेकिन कोई सही नतीजा नहीं आयाजो जो डॉक्टर ने रिपोर्ट कर आने का बोला सब कराया अब डॉक्टर बोलते हैं कुछ समझ में नहीं आ रहाहर डॉक्टर यही बोलता है कि यह दवा करो फिर यह दवा करा तो भी यही होता रहता हैपहले दो मिसकैरेज जो हुए वह 2 महीने की थी उसके बाद 4 महीना पूरा हो गया पांचवा लगने वाला थातीसरा मिसकैरेज 4 महीने वाला भी हो गया तो हमने डॉ बदल दिया फिरफिर प्रेगनेंसी रखी तो डॉक्टर ने कहा आपको बेड रेस्ट करना पड़ेगा तो बेड रेस्ट भी किया तो 3 महीने तक चला फिर मिसकैरेज हो गयासब डॉक्टर ने जो दवा करने को कहा वह भी किया नारियल पानी पिया सब करके देखा कुछ नतीजा नहींमिलाप्लीज आप मेरी हेल्प करो कि मैंने इस ऐप के बारे में बहुत तारीफ सुनी है कि आपको जो सवाल परेशान करते हैं आप इन से पूछ सकते हैं आपकी मदद करेंगेप्लीज मेरी हेल्प करेंगे क्या करूं जो मैं स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकूंजिस डॉक्टर ने बेड ट्रेस करने का बोला था अब वह डॉक्टर बोल रहा है क्या आपको 8 दिन में एक दवा का जंक्शन लगाना पड़ेगातो उसके बाद भी यही यही होगा यह सोचकर हमने फिर डॉक्टर बदल दियाअभी अहमदाबाद की डॉक्टर की दवा चल रही है उस डॉक्टर ने हमेयह टेस्ट कराने का बोला है मैं यह जानना चाहती हूं कि यह टेस्ट क्या है ictऔर क्यों कराते हैं क्या ज्यादा जरूरी होता है यह टेस्ट करानाऔर प्रेग्नेंसी रखने का भी बोला है मुझे डर लग रहा है कि यह सब कराने के बाद इतना खर्चा करने के बाद भी अगर वैसा ही होगा तो मेरे साथप्लीज मेरे आंसर का जवाब दीजिए मेरी हेल्प करें कि मैं आगे क्या करूं किस डॉक्टर को बताऊं जो मुझे सही सलाह दे इस्ट
उत्तर: हेलो डियर मैं आपकी प्रॉब्लम समझ सकती हूं आप परेशान ना हो।जैसा की आपने बतया की आपका 4 बार मिस्कैरिय्ज हो चुका है तो मै आपको बता दू की मिस्कैरिय्ज होने के कई कारण हो सकते है - @ choromosome मे enquilty होने पर। @बहुत अधीक कमजोरी होने के कारण भी कभी कभी misscarriage हो जाता है। @ बहुत अधिक वजन बढ़ने के कारण भी कभी कभी misscarriage हो जाता है। @ अगर आपको pregnancy के दौरान किसी प्रकार का infection हो जाता है तो उस situtation मे भी आपका misscarriage हो सकता है। @pregnancy होने के बाद बहुत अधिक भारी काम करने से भी misscarriage हो जाता है । @अगर आप बहुत अधिक भाग दौद वाले या आपके द्वारा सीढ़ियां चढ़ने उतरने से भी misscarriage हो जाता है । @ प्रेग्नंसी के दौरान आपके द्वारा ज्यादा तनाव लेने से भी misscarriage होने का खतरा बढ़ जाता है । आप अपनी प्रेग्नेन्सी के टाइम सावधानी बरते।और किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाये और उनसे उचित सलाह लीजिए। और आपने ICT टेस्ट के बारे में पूछा है तो इसके बारे में मैं आपको बता दूं कि जब मां का ब्लड ग्रुप नेगेटिव होता है और पिता का पॉजिटिव होता है तब RH Factor का एक injection लगता है।तो उस समय बेबी का एक टेस्ट होता है ICT. इस टेस्ट मे बेबी का blood group नेगेटिव आता है तो RH factor injection दिया जाता है। जिससे फ्यूचर मे कोई प्रोब्लम नही होती है। यह टेस्ट इस लिए भी कराना जरूरी होता है कि अगर ऐसी कोई प्रॉब्लम होती है तो उस को सॉल्व कर दिया जाता और जिससे मिसकैरेज का खतरा कम हो जाता हैं ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें