33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो मेम बार बार टॉयलेट क्यू आती है बहार बोअक के लीय जाओ तो बहुत प्रॉब्लम होटी है थैंक यु माम

1 Answers
सवाल
Answer: हॅलो डियर, प्रेग्नंन्सी मी बार बार टॉयलेट आणा कॉमन हे ऐसा हर प्रेग्नन्ट लेडी को होता हे ऐसा इसलिये होता हे क्यू कि गर्भावस्था मी होणे वाले बहोत सारे hormonal changes और जैसे जैसे बेबी कि growth होती हे वैसे वैसे हमारा गर्भाशय बांधता हे तो उस वजह से bladder dabne लागत हे और bladder पे pressure कि वजह से उसकी युरीन को store करणे कि क्षमता काम होती है इसलिये हमे बार बार टॉयलेट जाना पडता है.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माम मुझे बार बार टॉयलेट लॅग राही है ऐसा क्यू????
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान ह्यूमन क्रोनिओनिक गोनैडोट्रोपिन हार्मोन के स्त्राव के कारण शरीर में ब्लड फ्लो काफी बढ़ जाता है। इसके कारण किडनी में भी ब्लड की मात्रा ज्यादा पहुंचती है जिसे किडनी प्यूरीफाई करता है और ख़राब टोक्सिन को बाहर निकालता है। इस वजह से भी ऐसा महसूस होता है जैसे तेज पेशाब लगी हो।जैसे-जैसे शिशु गर्भाशय में बड़ा होता जाता है वैसे ही ब्लैडर पर दवाब बढ़ता जाता है। जिस वजह से आपको बार बार ऐसा महसूस होता है कि आपको तेज पेशाब लगी है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे टॉयलेट बहुत कम आती है कोई प्रॉब्लम तो नही होती है ये प्र्ग्नसी के लिए plz बटाये
उत्तर: हेलो . डियर ... आप को टॉयलेट अच्छी तरह से और खुल के आएं इस के लिए आप लिक्विड चीज़ें जयदा ले ... जैसे . नारियल पानी .. फ्रेश फ्रूट ज्यूस .. वेजिटेबल सुप ... दही .. chanch .... लस्सी .. gloucose pani और sath mei khub पानी पिये .. इस्से आप को टॉयलेट खुल के आने लगेगें ... अगर आप को यूरिन पास करने मे दरद या जलन का एहसास हो तों .. एक बार डॉक्टर को ज़रूर दिखाये .. कोई इन्फेक्शन भी हो सकता है .. ओके
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 7 मंथ छाल रहा है लेकिन मुझे सोने मे बहुत प्रॉब्लम होटी है और करवट लेने मि बी बहुत प्रॉब्लम आती है ऐसा क्यू प्लीज़ बँटायें ??
उत्तर: हेलो प्रेग्नेसी में होर्मोन के चेंजेज और माँ और बेबी के बढ़ते वेट के कारण नीन्द ना आने की समस्या आने लगती है प्रेग्नेसी में पेट के बड़े आकार की वजह से सोने की किसी भी पोजीशन में आराम नहीं मिल पाता है। नींद आ भी जाए तो हल्का सा भी पोजीशन बदलने पर नींद में disturb ho ही जाती है। प्रेग्नेसी के दौरान आपको मुलायम गद्दे और तकिये का प्रयोग करना चाहिए जिससे आपके पेट को सहारा मिले। बाईं तरफ सोने की आदत डालें क्यों कि इसी तरफ से शिशु के लिए बेहतर तरीके से रक्त प्रवाह हो पाता है।आप सन्तुलित और हेल्थी खाना खायें दिन में ऍक्टिव रहें पानी दिन में जयाद और रात में कम पीये ,kai बार यूरिन जाने के लिए उठने के बाद नीन्द नही आती है lचाय कोफ़ी का सेवन band करेl सोने से पहले मोबाइल टी.वी. ना देखें l वॉक करे l सोने से पहले गुनगुन ढूध पीये और सोने से पहले कुछ सोचें ना lतनाव ना ले .
»सभी उत्तरों को पढ़ें