29 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो मेम मैरे कमर मे भोत दरद होरह और पेर मे और च कर अहर है

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसमें घबराने की कोई बात नहीं है या अब बहुत सी महिलाओं को होता है प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होने का एक कारण हो सकता है कैल्शियम की कमी और दूसरा कारण हो सकता है वजन बढ़ना हल्का चलना-फिरना आपके और आपके होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन होगा सुबह शाम थोड़ा थोड़ा वॉक करें वॉक अप उतना ही करें जिसमें जिसमें आपको थकान महसूस ना हो गर्म पानी में आप थोड़ी देर अपने पैर डालें उस गर्म पानी में पहले थोड़ा सा नमक डालें फिर उस पानी से अपने पैरों की सिकाई करें अपने खाने-पीने का भी ध्यान रखें ,कैल्शियम रिच डाइट लें दूध दही पनीर यह सब अपने आहार में लें. kamar के व्यायाम कर सकती हैं आप सरसों के तेल की मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है सही मुद्रा अगर आपकी आदत सही मुद्रा में बैठने की नहीं है तो भी आप kamar दर्द के शिकार हो सकते हैं गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं उचित जूते या सैंडल पहने कम ऊंचे और आरामदायक जूते पहने फिर भी आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मेम मेरे पेर मे और कमर मे बहुत दरद होता है
उत्तर: पैरों में दर्द होना काफी आम बात है वजन बढ जाने की वजह से खून का प्रवाह कम हो जाता है शरीर में कैल्‍श्यिम, मैगनीश्यिम और पोटैश्यिम की कमी हो जाना भी एक कारण है दर्द को कम करने के लिए सबसे बेहतरीन व्‍यायाम है स्‍ट्रेचिंग करना सुबह के समय और सोने से पहले अपने पैरों और पंजों को स्‍ट्रेच करना ना भूलें कोशिश करें कि अपने पैरों को ज्‍यादा देर तक कभी भी मोड़ कर ना बैठें। अगर दर्द महसूस होने लगे तो थोडी थोडी देर पर अपने बैठने का तरीका बदल लें हल्‍का चलना फिरना आपके और आपके होने वाले बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहतरीन होगा चलने से पैरों की मासपेशियां मजबूत होती हैं और साथ ही दर्द भी कम होता है। हर रोज़ हरी सब्जियों और ताज़े फलों का जूस पिएं इससे आपको पोषण मिलेगा और ताकत भी. एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें नीम के पत्ते डाल दें और तब तक उबालते रहें जब तक नीम के पत्ते अपना रंग ना छोड़ने लगें अब इस पानी से पत्तियां निकालकर इसमें थोड़ी फिटकरी मिला लें और इस पानी में कुछ देर तक अपने पैरों को डालकर रखें, नीम के अंदर बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है, और यह दर्द निवारक का कार्य भी करता है पेट का भार लगातार नीचे की ओर होता है, इसलिए इस समय मांसपेशियों का पर दबाव ज्‍यादा होता है महिला के अंदर हर समय हो रहे हार्मोन में बदलाव भी दर्द का कारण बनते हैं दर्द को अगर कम करना है तो रात को सोते समय पीठ के बजाय करवट लेकर ही सोएं कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इस समय हल्‍के तथा ढीले-ढाले कपड़े पहनने चाहिये, टाइट कपड़े पहनने से शरीर में खून का दौरा कम होने लगता है और इसी कारण मांसपेशियां दर्द होने लगती हैं, इसलिए सूती के आरामदायक कपड़े ही पहनने चाहिये, इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेम मेरे ब्रेस्ट मे भोत द्रद होरह है और मैरे पेर मे भोत द्रद होता है और मेरा बी.पी. 85 है काय नॉर्मल है
उत्तर: डियर ..अपने ब्रैस्ट क दर्द को कम करने क लिए आप ब्रैस्ट पर नारियल तेल से हल्के हाथों से massage कर सकते है...ओर टॉवेल को थोड़ा गर्म पानी में भिगा कर सीक भी कर सकती है..आप को आराम मिलेंगा..प्रेगनेंसी में bp की समस्य आती है पर ये टेम्परेरी होता है.. बीपी की सामान्य रेंज 90 से 120 मानी जाती है प्रेगनेंसी के दौरान आपका बीपी थोड़ा ज्यादा या कम हो सकता है इसमें चिंता करने की कोई भी बात नहीं है आप अपने पैरों का मालिश सरसों के तेल से करें तो ज्यादा बेहतर होगा सरसों का तेल शरीर को गर्म करता है जबकि जैतून का तेल शरीर ठंडा करता है सरसों के तेल को हल्का गुनगुना गर्म करके ही आप अच्छे से पैरों की मालिश कर सकते हैं यह प्रक्रिया आप दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं पैरों को ज्यादा देर लटका करना रखें पैरों को हमेशा उठाकर ही बैठे और जब भी सोए पैरों के नीचे तकिया लगा ले आप गर्म पानी गर्म पानी से पैरों की seak भी कर सकते हैं उससे आपको बहुत रिलीफ होगा..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेम मैरे हात पेर मे भोत दरद होरहा है
उत्तर: hello dear हाथों में दर्द के लिए जैसे ही आपको हाथ में दर्द महसूस हो तो आप हाथ में दबाव पड़े ऐसा कोई काम ना करें हाथों की अच्छे से मालिश करवा सकती हैं इससे आपको दर्द में कुछ आराम हो सकता हैहाथों को एक ही अवस्था में बहुत देर तक ना रखें सोते टाइम ध्यान दें कि आपका हाथ दबा ना हो एक ही हाथ से बार-बार काम ना करेंअपने हाथों की उंगलियों को खींचे इससे आपको उंगली फूटने पर आराम मिलेगी पेट में बेबी होने के वजह से पूरा भार पैर पे ही पड़ता है इसलिए पैर में दर्द होता है आप पैर में गुनगुने तेल से मलीस करें ऑर उनचि हिल के सेन्दिल ना पहनें सिम्पल फ्लैट्स स्लीपर पहनें इस्से आपके पैरों ऑर एड़ियों को आराम मिलेगा व्यायाम करें ऑर मॉर्निंग वाक करें सोते टाइम पैर में तकिया लगाकर सोएं इसे आपको दर्द में कुछ आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें