गर्भावस्था की तैयारी

Question: हेलो मुझे ये जान है की मेन 2 बार मेडिसिन अबॉर्शन करवाया क्युकी मेरा स्टड बेबी क्सेअकत

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hi मेरा बेबी 14 sep ko हुआ है मुझे ये जान ना है की छोटा बेबी दीन में कितनी बार पोटी जता hai
उत्तर: हेलो डियर छोटे बेबी का 5 से 6 बार पॉटी होना नॉरमल है बेबी को अकसर पोट्टि की प्रॉब्लम हो जाती है मगर आप बेबी को फीड करना बन्द ना करें ऑर आप कोई भि जादा ऑयली ऑर sapaycy खाना ना खाए इस्से बेबी को यह प्रॉब्लम होती है क्युकी जो आप खाती है वही बेबी को दूध के ज़री ए बेबी तक जता है ऑर उसे नुकसान करता है जिस वजह से भी बेबी को पोट्टि हो सकती है यदि बेबी 1 दिन में 8 से 10 बार पोट्टि करती है तो डॉक्टर के पास ले ज़ाए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो माम मुझे पाइल्ज़ की बहुत प्रॉब्लम हो गयी है क्या मेन डॉक्टर से मेडिसिन lu
उत्तर: अक्सर डिलवरी के बाद कब्ज कि परेशानी होती है जिस वजह से पाईल्स(बवासीर) हो सकती है पौटी में ब्लड आना और पौटी वाले जगह पर मसा जैसा होना ईसी कि निशानी है अगर पाइल्स हो जाए तो हमें अपने खानपान पर ध्यान देना चाहिए जितना हो सके सरल और सुपाच्य भोजन करना चाहिए खासकर फाइबर युक्त भोजन और फल ले जिससे आपको कब्ज की परेशानी ना हो क्योंकि पाइल्स का मेन कारण कब्ज है इसलिए आपको कब्ज ना हो इसका ध्यान देना चाहिए अगर पाइल्स हो गया है तो अधिक मात्रा में लिक्विड और पानी लें। छाछ बवासीर के इलाज का एक बेहतरीन उपाय है। एक चौथाई अजवाइन का पाउडर और 1 ग्राम काला नमक 1 गिलास छाछ में मिलाकर रोजाना दोपहर का खाना खाने के बाद एक गिलास छाछ लें। इससे आपको बवासीर की समस्या से काफी आराम मिलेगा। मल त्याग के बाद और पहले उस स्थान पर केस्टर आईल लगायें आराम मिलेगा। अगर घरेलु उपाय से राहत न हो तो डाक्टर से मिल लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें