गर्भावस्था की तैयारी

Question: हेलो मम मेरी बहन पहली बार माँ बननी हें उस का तिसारा महीन पुराने वाला हि इस समय किस तरह का खाना पीना होना चाहिए

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर,प्रेगनेंसी में खान-पान का ध्यान देना बहुत ही जरूरी है प्रेगनेंसी में हमें ऐसा खाना खाना चाहिए जिसमें अधिक मात्रा में फोलिक एसिड विटामिन आयरन कैल्शियम सब कुछ हमें मिल जाए इसलिए हमें अपने खाने में दूध दही हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस अधिक से अधिक पानी इन सब का सेवन करना बहुत जरूरी है इसके साथ अगर आप nonवेजीटेरियन है तो आप अपने खाने में अंडा chiken शामिल कर सकते हैं बस आपको ध्यान रखना है कि अगर आप मांसाहार ले रहे हैं तो आपका चिकन मटन egg अच्छी तरह से पक्का हो , प्रेगनेंसी में बहुत जरूरी है कि जब भी हम दूध पिए तो वह अच्छी तरह से उबला हुआ हो आप अपनी डाइट में थोड़ी मात्रा ड्राई फ्रूट्स और सोयाबीन include करें चाय कॉफी थोड़ा कम piy, साथ ही मार्केट में मिलने वाले डब्बा बन चीजे, पैकेज फूड इन सब चीजों को अवॉइड करें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मेडम मेरी अभी 8 महीने पहले शादी हुयी एच और मेरी 7 वीक की प्रेगनेंसी है पर mujhe नहि pta की इस समय किस तरह का धयान रखना चाहिए खाने पीने से लेकर काम तक का pleace बताइए ।
उत्तर: हेलो एक हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए आप यह सारी चीजें ले सकती हैं दूध और दूध के सारे प्रोडक्ट इसमें प्रोटीन कैल्शियम विटामिन B12 होता है दाल चावल रोटी खाने से शरीर को कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन मिलता है। फल सलाद और सब्जियां खाएं इससे शरीर में फाइबर और विटामिन की कमी पूरी होती है केला और अनार खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन और ब्लड बढ़ता है। प्रेगनेंसी के दौरान 1 दिन में कम से कम 5 प्रकार के मौसमी फल खाने चाहिए। ध्यान रखें पपीता और करेला बिल्कुल ना खाएं प्रेगनेंसी में मछली खाना बहुत फायदेमंद होता है इससे शरीर को ओमेगा-3 प्रोटीन और फैट मिलता है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। रोज एक अंडा जरूर खाएं यह बच्चे के मानसिक औऱ शारीरिक विकास में मदद करता है नारियल पानी पिए यह एसिडिटी को कंट्रोल करके शरीर में पानी और मिनरल्स की कमी को पूरी करता है प्रेगनेंसी के दौरान फैट लेना भी जरूरी होता है। वेट के लिए आप बटर और घी खा सकती हैं घी खाने से नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं। यह सारी चीजें खाएं आपको फायदा जरूर मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 11 महीने की है उसके अभी दाँत निकलें हैं तो इज समय उसे किस तरह का खाना देना चाहिए ऑर उसने अभी छलना भी नही sikha
उत्तर: ।आप उनके लिए रोज़ नयी नयी चीजें बनाकर खिलाएं।बेबी को वेजिटेबखिचडी,उपमा,इडलि,डोसा,दलिया,फ्रुइट्स की प्यूरी ,पुड्डिंग्स ये सब बना कर दीजिए । दांत आने के समय बच्चों के मसूड़ों में थोड़ा गुदगुदी या फिर थोड़ी इचिंग की प्रॉब्लम रहती है जिससे खेलने और खाने मे चिड़चिड़ापन आ सकता है । और वह कुछ भी हाथ में आने से मुंह में डालते हैं और अपने चबा-चबाकर अपने masudo को आराम देते हैं इसलिए भी उन्हें थोड़ा चिड़चिड़ापन रहता है.. आप बच्चे के मसूड़ो को मलमल के कपडे से मसाज कर सकती हैं।।। उन्हें गाजर के लम्बे टुकड़े काटकर पकड़ा सकती हैं जिन्हे चबाकर व अपने मसूड़ो को आराम डग।।।लकिन बच्चे को चोकिंग होने का खास ध्यान राखियेगा।।। आप बाजार से तीथर ले कर भी बच्चे को दे सकती हैं।।ये नरम प्लास्टिक के की जेसे होते हैं जिसमे गरूवे बने होते है जो मसूड़ो को मसाज करने में सहायता करते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मम मेरा 8 मंथ chal रहा हें क्या आप बता सकती हें कि इस मंथ मे बेबी की पोजिशन क्या होती हें वो किस साइड को होना चाहिए
उत्तर: hello 8 th महीने में बेबी पूरी तरीके से डेवलप हो चुका होता है और उसके लिए पेट में जगह कम पड़ने लगती है बच्चे की साइज बड़ी होने के कारण शरीर के बाकी आंतरिक अंगों पर दबाव ज्यादा होता है स्टमक पर दबाव होने के कारण एसिडिटी और सीने में जलन की प्रॉब्लम होती है। बच्चे का सिर सेफेलिक पोजिशन पर आने के लिए धीरे-धीरे सिर नीचे होते जाता है। और जब सेफेलिक पोजिशन पर आ जाता है तो बेबी बेबी का मूवमेंट कम हो जाता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें