34 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो मम डेलिवरी के कितने डिन बाद तक पिरियड चलता हें .

1 Answers
सवाल
Answer: hello किसी किसी महिलाओं को डिलीवरी के बाद 1 महीने या 40 दिन तक पीरियड चलता है लेकिन अगर उसके बाद भी पीरियड बंद नहीं हो रहा है तो आप डॉक्टर से सलाह ले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मम पिरियड के कितने दीन बाद गरब रुकता ह
उत्तर: हेलो डियर अगर आप का पिरियड ओवुलेशन साइकिल 28 दिन का है तो आप पिरियड के 14 दिन बाद आप प्रेगनेट हो सकती है क्योकी इसी टाइम पे andhshy me anda banta है इसी टाइम प्रेग्नेन्ट होने के चान्सेस होते है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डिलिवरी के कितने डिन बाद पिरियड आँतें है
उत्तर: अक्सर डिलीवरी के बाद पीरियड आने में टाइम लगता है और किसी किसी को यह तुरंत भी स्टार्ट हो जाता है अगर आपको डिलीवरी के बाद पीरियड अभी तक नहीं आए हैं तो आपको इसमें घबराना नहीं चाहिए क्योंकि कई बार पीरियड 1 साल से 15 महीने तक नही आता है बस आपको इसमें कुछ सावधानियां रखनी है अगर आप पति साथ संबंध रखती हैं तो इसबीच आपको गर्भधारण ना हो इसकी सावधानी रखनी चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: पिरियड के कितने डिन बाद ऑर कितने डिन तक सेक्स करने से प्रेग्नेन्ट hogye
उत्तर: पीरियड खत्म होने के बाद 14 ve दिन से लेकर 20 ve दिन तक sambandh Banane par conceive karne ke chance badh Jaate hai . यदि आप जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो इसके लिए आपको अपनी लाइफ स्टाइल को अच्छा करना होगा . अपने सोने -जागने ,खाने-पीने और व्यायाम का समय निश्चित करना होगा ।अपने खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा।साथ ही अपनी लास्ट पिरियड डेट को याद रखना होगा क्युकि सामान्यतया 28 दिन की cycle में 14वें दिन ovulation शुरू हो जाता है | इसलिए जैसे ही आपका पीरियड बन्द हो वैसे ही alternate days में सेक्स करना शुरू कर दे | इस तरह से आप fertile दिनों को मिस नहीं करेगी | 12वें दिन के बाद तो रोजाना सेक्स करना ज्यादा उचित होगा | स्पर्म आपकी Uterus और Fallopian tubes में 2-3 दिनों तक चिपके हुए रह सकते हैं लेकिन आपके Egg निकलने के बाद केवल 12 se 24 घन्टे तक जिन्दा रहते हैं | इसलिए Egg निकलने से पहले सेक्स करने से आपके गर्भधारण के chance बढ़ सकते हैं क्योकि जैसी आपका Egg बाहर आयेगा उसके लिए Sperm पहले से वहाँ होगे | आपको अपने खानपान की तरफ भी काफी ध्यान देना चाहिए। संतुलित आहार करें जिसमें पर्याप्त मात्रा में iron ,प्रोटीन, मिनरल और अन्य पोषक पदार्थ हों ।जिससे कि गर्भधारण की प्रक्रिया में किसी प्रकार की समस्या ना आए। हमेशा postic भोजन करने की कोशिश करें, जिससे बिना किसी समस्या के आसानी से बच्चे को जन्म दिया जा सके।  अल्कोहल , निकोटिन और कैफीन का सेवन ना करें ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें