13 महीने का बच्चा

Question: हेलो फ्रेंड्स माय बेबी इज अई 13 मंथ ओल्ड बट हि एस नॉट वॉकिंग सो डब्ल्यू.एच.टी. आई हैव टु डू

1 Answers
सवाल
Answer: Helloकुछ बच्चे थोड़ा लेट चलते हैं चिन्ता नही करें आप डेली धीरे धीरे कोशिश करवायें पैरों की मालिश किया करो healthy डायट दीजिए जल्दी हाइ चलने तो क्या दौड़ने लगेगी चिंता नहीं करें बाकी बच्चे के लिए chu chu वाले शूज लेकर आए इससे भी बच्चे को चलने में प्रोत्साहन मिलेगा बच्चा चलने लगेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माय बेबी इज 6 मंथ ओल्ड ऐन्ड हि इज सफरिंग फ्रॉम कोल्ड व्हाट शूड आई डू ?
उत्तर: इतने छोटे बच्चों में यह समस्या आम बात है सर्दी खासी जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  12 माह तक बेबी का इम्यूनिटी बहुत कमज़ोर होती है , थोड़ा भी weather चेंज होने से कोल्ड और कफ aur jhukam की परेशानी होने लगती है ,इसलिए .कुछ चीज़ का ध्यान रखे जैसे 1)शाम होते ही बेबी को गरम कपड़े पहना का रखे 2)1कटोरी सरसों तेल मे अजवाइन और लहसन ki5-6 कली को पका ले फिर उसी तेल से दिन मे 3-4 बार मालिश करे . 3)लहसन और अजवाइन को तवे पर सेक कर muslin के कपड़े मे बाँध कर पोटली बना दे और बेबी के बेड के पास रख दे ,इससे भी बेबी का कोल्ड जल्दी ठीक होगा . 4.)2-3तेजपत्ता जला कर घर मे धुआँ करे ,इससे सारे बैक्टीरिया मर जाते है . 5) बाथरूम मे गरम पानी का स्ट्रीम भर दे और बेबी को लेकर thori देर बैठे ऐसा करने से उसका बन्द नाक खुल jayega और उसे राहत भी मिलेगी . 6)रात मे सोते समय पैर के तलवे मे विक्स से मालिश करकें सॉक्स पहना दे इससे भी शरीर गरम रहेगा और बेबी जल्दी ठीक हो jayega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आई हैव 5 मंथ ओल्ड बेबी आई फीड लिल बी.एम. ऐन्ड माय वेट इज इंक्रीस्ड .. सो व्हाट कैन आई डू
उत्तर: हेलो .. डियर ऐगर आप का दूध कम आ रहा है तों आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते है .. आप ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के लिए दलिया, गाजर , santra ,kaccha papita, meitthi , egg , पालक ऑर बादम का सेवन किसी भी रूप मे कर सकते है .. ऑर अपने बेबी को 6 मंथ तक केवल अपना hi दूध पिलाने की कोशिश करे .. आप प्रसव के बाद मॉसपेशियाँ ढीले पड़ जाते है। उनको वापस अपने पुराने आकार में आने में समय लगता है। इसके साथ ही महिलाओं को अपने नवजात शिशु को भी देखना पड़ता है। प्रसव के बाद बेल्ट पहनने से यह आसान हो जाता है। नवजात शिशु के साथ ही माँ के शरीर को भी स्वस्थ होने का मौका मिल जाता है। इन सबके बावजूद, यह मैटरनिटी बेल्ट आपकी समस्याओं के समाधान का मात्र एक बाहरी सहारा है। यह भी ज़रूरी है कि इसपर आवश्यकता से अधिक निर्भर ना हों। ज़रूरी है कि मांसपेशियों की बेहतरी हेतु व्यायाम और खान-पान का ख़ास ध्यान रखा जाए... आप अपना आहार नियमित रूप से लें खाना छोड़ना या उपवास करना आप के पेट कम करने के प्रयास में मदद नहीं करेगा तीन टाइम भर पेट खाना खाने की बजाये, आप इसे छह छोटे टुकड़ों में बाँट के दिन में छह अलग-अलग समय पे खाना खाएं  मिठाई, मीठे आहार और जंक फ़ूड से दूर रहें अपने आहार में फल और हरी सब्जिय को सम्मलित करें ज्यादा कैलोरी वाले आहार कम खाएं और उनके बदले ऐसे आहारों का चुनाव करें जिसमें कैलोरी कम हो आप के आहार ओमेगा 3 फैटी एसिड, कैल्शियम, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर हों प्रेगनेंसी के बाद भूख बहुत लगती है, इसीलिए उससे बचने के लिए भोजन से आधा घंटे पहले एक गिलास पानी पि लें..ओके
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: माय बेबी इज वन ईअर ओल्ड बट हि इज हैविंग कैल्सीअम देफ़सिओनसे . हि डज्न्ट सिट व्हाट वुड आई डू
उत्तर: हेलो डियर आपके बेबी को कैल्सीअम की कमी है अगर आप ब्रेस्ट फीड करवाती है तों आप खुद कैल्सीअम से भरपूर खाना खायें खुद कैल्सीअम सप्लीमेंट्स ले ताकि बच्चे को आपके फीड से कैल्सीअम मिलें बच्चे में कैल्सीअम की कमी माँ को कैल्सीअम में कमी के कारण हो सकती है आप बच्चे के लिए भी कैल्सीअम और विटामिन d3 सप्लीमेंट्स डॉक्टर से सलाह कर लें bacche ko कुछ देर धूप में लें के ज़रूर जायें ताकि आपके बच्चे को विटामिन D मिल पाये जो हड्डियों के विकास में सहायक होता है . aapka baby baith nahi paa rha hai बच्चा कितनी जल्दी बैठेगा ये उसके sharirik विकास पर निर्भर करता है बच्चा जितना ज़्यादा ऍक्टिव होगा जल्दी बैठेगा आप बच्चे की विटामिन ई ऑयल से मालिश करे साइकल वाली एक्सर्साइज करवायें कैल्सीअम से भरपूर खाना खिलायें जैसे दूध पनीर देही egg और कुछ देर धूप में लें के ज़रूर जायें ताकि आपके बच्चे को विटामिन D मिल पाये जो हड्डियों के विकास में सहायक होता है आपका बच्चा अगर बैठना चाहें तो उसकी हेल्प करे बच्चे को समय से प्रॉपर फीड करवाये ताकि बच्चे को पोषण की कमी ना हो .ho.एक बात का ध्यान रखें की अपने bacche को केवल थोड़े देर के लिए ही बैठाएं। ज्यादा देर तक बैठाने से बच्चे के कमर में खीचाव हो सकता है और बच्चे को तकलीफ़ हो सकती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें